Friday, Sep 21 2018 | Time 18:59 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तेलंगाना में आप सभी 119 सीटों पर लड़ेगी चुनाव: भारती
  • अब जियो टीवी पर देख सकेंगे क्रिकेट मैच
  • हुड्डा ने की बीएसएफ जवान के परिवार को सहायता देने की मांग
  • दीपावली पर दस हजार परिवारों के घर का सपना होगा पूरा
  • भारत-श्रीलंका महिला टीमों का दूसरा मैच धुला
  • बिहार के किसानों को अब फीडर से मिलेगी बिजली
  • जीप एवं मिनी ट्रक टकराने से सात लोगों की मौत-आठ घायल
  • निलम्बन के खिलाफ दलाल जाएंगे अदालत, राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग
  • एनएसई का लंदन स्टाॅक एक्सचेंज से करार
  • नहीं किया ट्रंप के साथ बैठक का आग्रह: ईरान
  • केजरीवाल ने शहीद के परिजनों को आर्थिक सहायता देने का दिया आश्वासन
  • सचिन ने दी लिट लेने से किया इंकार
  • सचिन ने दी लिट लेने से किया इंकार
  • तमाम उपलब्धियों के साथ तीन देशों की यात्रा से लौटे वेंकैया
  • भारत-पाकिस्तान वार्ता का कोई मतलब नहीं : कांग्रेस
राज्य Share

गंगा जी ने अन्तत: किया हनुमान जी का जलाभिषेक

गंगा जी ने अन्तत: किया हनुमान जी का जलाभिषेक

इलाहाबाद,09 सितम्बर (वार्ता)उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में प्रयाग के कोतवाल कहे जाने वाले बड़े हनुमान जी का अन्तत: गंगा जी ने देर शाम जलाभिषेक किया।

सुबह आठ बजे गंगा और यमुना के जलस्तर में 21, 35, और 63 सेंटीमीटर वृद्धि दर्ज की गई और दोनो नदियां चार सेंटीमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से बढ़ रही थी जिससे यह अन्दाजा लग गया था कि देर शाम तक पतित पावनी गंगा संगम तट पर बंधवा के पास लेटे हनुमान जी को स्नान करायेंगी।

उत्तराखण्ड और मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बरसात के कारण वहां के बांधो से पानी छोडे जाने से गंगा और यमुना का जलस्तर बढ़ने लगा। उत्तराखण्ड में बारिश से टिहरी और नरौरा से पानी छोड़े जाने पर गंगा और मध्य प्रदेश में बरसात से केन और बेतवा नदी का पानी यमुना में पहुंचने लगा जबकि झांसी स्थित माताटीला से पानी छोड़े जाने पर यमुना के जलस्तर में एक बार फिर उफान शुरू हो गया।

गंगा का जल जैसे ही मंन्दिर की ड्योढी पर पहुंचा और नीचे लेटे हनुमान जी को स्पर्श किया तो मंहत नरेन्द्र गिरी समेत पुजारियों ने मंदिर में शंख, घंट और घडियालों के बीच “हनुमान जी की आरती” शुरू कर दी। मंदिर में श्रद्धालुओं की अपार भीड लगी हुई है। इससे पहले वर्ष 2016 में गंगा जी ने हनुमान जी का जलाभिषेक किया था।

बाढ़ नियंत्रण कक्ष द्वारा प्राप्त शाम चार बजे तक आंकडाें के अनुसार गंगा और यमुना के जलस्तर में सुबह आठ बजे की तुलना में चार बजे और 28, 27, और 33 सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज की गयी। लगातार बढ़ रहे जलस्तर के कारण गंगा ने अन्तत: हनुमान जी को स्नान करा ही दिया।

फाफामऊ में गंगा का जलस्तर शाम चार बजे 81.72, छतनाग में 80.74 और नैनी में यमुना का जलस्तर 81.46 मीटर दर्ज किया गया जबकि सुबह आठ बजे जलस्तर क्रमश: 81.44 मीटर, छतनाग में 80.44 और नैनी में यमुना का जलस्तर 81.13 मीटर दर्ज किया गया था।

दिनेश तेज

वार्ता

image