Saturday, Apr 20 2019 | Time 18:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • काक का अर्धशतक, राजस्थान को 162 का लक्ष्य
  • तिवारी पुत्र रोहित की मौत पर लगे सवालिया निशान
  • प्रियंका चतुर्वेदी के प्रति नाइंसाफी ने खोली कांग्रेस के ‘न्याय‘ की पोलः जयराम
  • मालदा जिले के पुलिस अधीक्षक का तबादला
  • कोलाज ग्रुप ओम नाथ सूद क्रिकेट के सेमीफाइनल में
  • चीफ जस्टिस प्रताड़ना मामला दूसरी पीठ के सुपुर्द
  • तंवर समेत पांच ने सिरसा में दाखिल किया नामाकंन
  • फोटो कैप्शन- पहला सेट
  • फिरोजाबाद में कार की टक्कर से बाइक सवार दम्पति की मृत्यु,दो बच्चे घायल
  • पूर्वा एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटना में जाँच के आदेश
  • दुष्यंत चौटाला ने भरा नामांकन
  • भिलाई में राहुल की सभा से पहले आए आंधी-तूफान से उड़ा पंडाल
  • आश्रय शर्मा मंडी लोकसभा सीट से 25 अप्रैल को करेंगे नामांकन, वीरभद्र रहेगें उपस्थित
  • न्याय से नौकरियाें का सृजन हाेगा: मनमोहन
  • अयोध्या की विश्व प्रशिद्ध चौरासी कोसी परिक्रमा मखौड़ा धाम से शुरू
राज्य


हरियाणा में बंद का मिला जुला असर

हिसार, 10 सितबर (वार्ता) देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बेतहाशा बढ़ोत्तरी के खिलाफ कांग्रेस पार्टी, वामपंथी दलों समेत विपक्षी दलों के बंद का हरियाणा में मिला जुला असर रहा जबकि हिसार, फतेहाबाद और हांसी में कोई असर दिखाई नहीं दिया ।
इन शहरों में बाजार और सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान पूर्ण रूप से खुले रहे। हिसार में कांग्रेस के कुछ गिने चुने नेताओं व कार्यकर्ताओं ने बाजारों में पहुंचकर दुकानदारों से हाथ जोड़कर दुकानें बंद करने का अनुरोध किया जिसका दुकानदारों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा और दुकानें खुली रही। जिला हिसार के शहर बरवाला में केवल आधे घंटे के लिए 10 प्रतिशत दुकानें ही बंद रही।
हांसी में भी कुछ गिने चुने कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आटो मार्केट में जमा होकर प्रदर्शन किया गया, लेकिन यहां भी सभी दुकानें और बाजार खुले रहे। फतेहाबाद में भी जहां बाजार और दुकानें खुले रहे, वहीं कांग्रेस की गुटबाजी एक बार फिर खुलकर सामने आ गई। फतेहाबाद जिले के कस्बा भट्टू में बंद का अच्छा खासा असर जरूर देखने को मिला।
कांग्रेसियों के आने पर दुकानदार दुकानों के शटर गिरा लेते, लेकिन उनके चंद कदम आगे जाते ही दुकानें फिर खुल जाती। कांग्रेस के इस देशव्यापी बंद में भी नेताओं की गुटबाजी सरेआम नजर आई। फतेहाबाद में प्रदर्शन के दौरान दुड़ाराम, प्रहलाद सिंह गुट ने दूरी बनाए रखी तो टोहाना में हुड्डा गुट का कोई बड़ा नेता इस आन्दोलन में नजर नहीं आया। वहीं रतिया में भी केवल प्रदेश कांग्रेसध्यक्ष अशोक तंवर समर्थक ही बंद करवाते नजर आए और पूर्व विधायक जरनैल सिंह ने इस बंद से दूरी बनाए रखी। टोहाना में कांग्रेस व वामपंथी नेताओं की बंद की अपील का असर भी केवल एक घंटे तक ही रहा और उसके बाद सभी दुकानें खुल गई।
फतेहाबाद जिले के भट्टू मंडी में पहली बार कांग्रेस की एकजुटता तथा भाकपा के जोश के आगे बंद का यहां पूरा असर रहा। सुबह ही कांग्रेस के तीनों गुटों के कार्यकर्ता आपसी गुटबाजी को छोड़कर एक मंच पर आ गए। मार्केट कमेटी के सामने पहले माकपा तथा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने धरना देकर बढ़ती महंगाई सहित अनेक मुद्दों को लोगों के सामने रखा। कांग्रेस के अनेक नेताओं ने दुकान- दुकान जाकर बंद का आह्वान किया। दुकानदारों ने भी इस बंद में अपना समर्थन देते हुए दुकानों के शटर डाउन कर दिए।
सं शर्मा विक्रम
वार्ता
More News
सपा-बसपा की दोस्ती का अंत 23 मई को : मोदी

सपा-बसपा की दोस्ती का अंत 23 मई को : मोदी

20 Apr 2019 | 6:12 PM

एटा 20 अप्रैल (वार्ता) बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती के मैनपुरी में दिये गये ‘कठिन फैसला’ वाले बयान पर कटाक्ष करते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि स्वार्थ की खातिर समाजवादी पार्टी (सपा) और बसपा की दोस्ती का अंत 23 मई होना निश्चित है जब देश की सुरक्षा और स्वाभिमान के लिये मतदाता भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीति राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की पूर्ण बहुमत की सरकार के पक्ष में फैसला सुनायेंगे।

see more..

साध्वी प्रज्ञा ने शहीदों का अपमान किया : आशा कुमारी

20 Apr 2019 | 5:54 PM

कांगड़ा, 20 अप्रैल (वार्ता) कांग्रेस नेता आशा कुमारी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मध्य प्रदेश की भोपाल संसदीय सीट से प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के शहीद पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे के बयान को लेकर आज निंदा की और बयान को शर्मनाक व देश के शहीदों का अपमान करने वाला बयान करार दिया।

see more..
image