Friday, Jul 19 2019 | Time 22:36 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पीडीपी नेता के पीएसओ की गोली मारकर हत्या
  • एटा में पूर्व विधायक के आवास पर फायरिंग, मामला दर्ज
  • भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने जीते राष्ट्रमंडल टेटे खिताब
  • भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने जीते राष्ट्रमंडल टेटे खिताब
  • विश्वास मत पर आज भी नहीं हुआ मतदान, कार्यवाही सोमवार तक स्थगित
  • एसटीएफ ने दो लाख 42 हजार के जाली नोट पकड़े, पांच गिरफ्तार
  • बिहार में विश्वविद्यालयों के शैक्षणिक वातावरण में हो रहा सुधार : लालजी
  • नवादा में वज्रपात की घटना में आठ बच्चे समेत नौ की मौत, आठ घायल
  • मवेशी चोरी के आरोप में तीन लोगों के हत्या मामले में सात गिरफ्तार
  • डॉल्फिन मारने वाला गिरफ्तार
  • वज्रपात से आठ बच्चों की मौत से लालजी टंडन मर्माहत
  • अरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके
  • छात्रों और शिक्षकों पर लाठियां बरसाने से बेहतर नहीं होगी शिक्षा : उपेंद्र
  • नीतीश ने वज्रपात से आठ बच्चों की मौत पर जताया शोक, मुआवजे की घोषणा
  • प्रियंका को सोनभद्र जाने से रोकने के खिलाफ वाराणसी में कांग्रेस का प्रदर्शन
राज्य


नेशनल कांफ्रेंस के बाद पीडीपी भी स्थानीय निकाय अौर पंचायत चुनावाें का बहिष्कार करेगी

श्रीनगर 10 सितंबर (वार्ता) नेशनल कांफ्रेंस के बाद अब पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) ने भी स्थानीय निकाय अौर पंचायत चुनावों का बहिष्कार करने को फैसला किया है।
नेशनल कांफ्रेंस ने पिछले हफ्ते कहा था कि जब तक अनुच्छेद 35 ए और 370 पर केन्द्र सरकार का कोई रूख स्पष्ट नहीं हो जाता तब तक वह किसी भी चुनाव में हिस्सा नहीं लेगी।
यहां पार्टी कार्यालय में बैठक के बाद पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने पत्रकारों से कहा,“ राज्य में माैजूदा स्थितियां ऐसी हैं जिनमें चुनाव नहीं कराए जा सकते हैं और इसे देखते हुए हम इन चुनावों में हिस्सा नहीं लेंगे। केन्द्र और राज्य सरकार संविधान के अनुच्छेद 35 को बचाने में उत्सुक नहीं है आैर इसकी वजह से लोगों में असुरक्षा की भावना है।”
उन्होंने राज्यपाल प्रशासन से स्थानीय निकाय अौर पंचायत चुनावों को कराए जाने के अपने फैसले की समीक्षा करने का आग्रह किया है।
गाैरतलब है कि राज्यपाल सत्य पाल मलिक की अध्यक्षता में राज्य प्रशासनिक परिषद (एसएसी) की 30 अगस्त को एक बैठक हुई थी जिसमें स्थानीय निकाय और पंचायत चुनावों को अक्टूबर के पहले हफ्ते में कराए जाने का निर्णय लिया गया था। इससे पहले नेशनल कांफ्रेंस ने चुनाव कराए जाने के फैसले का स्वागत किया था।
नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष डॉ फारूक अब्दुलल्ला ने कहा था कि जब तक केन्द्र और राज्य सरकार इन दोनों अनुच्छदों पर अपना रूख स्पष्ट नहीं करती तब तक उनकी पार्टी किसी भी तरह के चुनावों में हिस्सा नहीं लेंगी।
जितेन्द्र.श्रवण
वार्ता
More News
शिक्षा की गुणवत्ता छोड़ राजनीतिकरण पर उतरी सरकार - देवनानी

शिक्षा की गुणवत्ता छोड़ राजनीतिकरण पर उतरी सरकार - देवनानी

19 Jul 2019 | 10:32 PM

जयपुर, 19 जुलाई (वार्ता) राजस्थान के पूर्व शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने आज राजस्थान विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार शिक्षा की गुणवत्ता को छोड़कर इसका राजनीतिकरण कर रही है।

see more..
image