Thursday, Dec 13 2018 | Time 13:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जोरमथांगा शनिवार को ले सकते हैं मुख्यमंत्री पद की शपथ
  • लगातार दूसरे भी नहीं हुआ संसद में कामकाज
  • राम मंदिर के लिए अध्यादेश की माँग
  • इम्फाल में बम धमाका
  • दिल्ली में नमी के साथ ठंड , हवा की गुणवत्ता खराब
  • एक करोड़ की अष्टधातु निर्मित राम-जानकी की मूर्तियां चोरी
  • जीवन के हर फलसफे पर गीत लिखने में माहिर थे शैलेन्द्र
  • जीवन के हर फलसफे पर गीत लिखने में माहिर थे शैलेन्द्र
  • रोहित, अश्विन के बिना बढ़त को उतरेगा भारत
  • रोहित, अश्विन के बिना बढ़त को उतरेगा भारत
  • लोकसभा ने संसद पर हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि दी
  • हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित
  • अश्विन, रोहित, कुलदीप पर्थ टेस्ट से बाहर
  • अश्विन, रोहित, कुलदीप पर्थ टेस्ट से बाहर
राज्य Share

श्री गडकरी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा गठित छत्तीसगढ़ सहित तीनो राज्यों का जिक्र करते हुए सभी तेजी से आगे बढ़ रहा है।उन्होने छत्तीसगढ़ की कृषि विकास दर की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह से कहा कि धान के उत्पादन को बढ़ाने की बजाय अब लाभकारी उत्पादों की तरफ ध्यान देने की जरूरत है।
उन्होने छत्तीसगढ़ के बायोफ्यूल हब बनाने पर जोर देते हुए कहा कि इससे जहां पेट्रोलियम पदार्थों पर विदेशी निर्भरता कम होगी वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में लोगो की आर्थिक स्थिति में भी बदलाव आयेगा।उन्होने मुख्यमंत्री को रायपुर या बिलासपुर में बायोफ्यूल रिसर्च संस्थान की स्थापना करने की सलाह देते हुए कहा कि इससे छत्तीसगढ़ के ग्रामीण अंचल की तस्वीर बदलेगी और लोग रोजगार के लिए शहरों की तरफ पलायन करने की बजाय गांव में रूकना पसन्द करेंगे।उन्होने हाल ही बायोफ्यूल से स्पाईजेट कम्पनी के विमान के देहरादून से नई दिल्ली की उड़ान का जिक्र करते हुए कहा कि 25 प्रतिशत बायोफ्यूल विमान के ईधन में मिलाया गया था।
श्री गडकरी ने इनेथाल से चलने वाले वाहनों को दी जाने वाली तमाम रियायतों का जिक्र करते हुए कहा कि उनके नगर नागपुर में इसका वाहनों खासकर कृषि क्षेत्र में काम करने वाले वाहनों में खूब किया जा रहा है। उन्होने कहा कि राज्य में जल्द से जल्द बायोफ्यूल नीति 2018 लागू की जानी चाहिए।
मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने इस मौके पर छत्तीसगढ़ के लिए सड़क,पुल आदि के निर्माण के लिए मांग की जाने वाली धनराशि का उदारतापूवर्क मंजूर किए जाने पर श्री गडकरी के प्रति आभार जताते हुए कहा कि वह पहले मंत्री है जो स्वयं पूछते है कि कोई काम छूट तो नही गया है। उन्होने कहा कि राज्य में 1947 से 2014 तक जितने राष्ट्रीय राजमार्ग बने थे,इसका चार गुना राष्ट्रीय राजमार्ग केवल चार वर्ष 2014 से 18 के बीच बने है।
उन्होने कहा कि पहले राज्य में चार मीटर चौड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग होता था और कई राष्ट्रीय राजमार्ग मिट्टी के थे। रायपुर से बिलासपुर के राष्ट्रीय राजमार्ग को स्वीकृत करवाने में उन्हे यूपीए सरकार में आठ वर्ष लग गए थे। उन्होने सड़को के कंक्रीट से बनने तथा निर्माण में अत्याधुनिक तकनीक इस्तेमाल किए जाने के लिए गडकरी की सराहना की।
साहू
वार्ता
image