Sunday, Nov 18 2018 | Time 19:33 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मुख्य न्यायाधीश ने किए भगवान वेंकटेश्वर के दर्शन
  • विराट को सीओए के मेमो का बीसीसीआई ने किया खंडन
  • अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में झारखंड होगा फोकस राज्य
  • पिथौरागढ़ में वाहन गहरी खाई में गिरा, तीन मरे, दो घायल
  • राव और केसरी के साथ कांग्रेस का रहा अशोभनीय बर्ताव: शाह
  • अमृतसर की घटना के बाद उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने दिए सतर्कता बरतने के निर्देंश
  • मैरीकॉम जीतीं, सरिता बाहर, मनीषा क्वार्टरफाइनल में
  • सड़क दुर्घटना में युवक की मौत
  • गंगा नदी में डूबने से दो युवकों की मौत की आशंका
  • दरभंगा में बस से कुचलकर तीन की मौत, 12 घायल
  • सीटों के बंटवारे पर रालोसपा की ओर से तय समय सीमा की जानकारी नहीं:भाजपा
  • चुनावों में उपेक्षा के कारण दिव्यांग मतदाता निर्वाचन आयोग से नाराज
  • वाल्मीकि नगर में ईको टूरिज्म का हाे रहा विस्तार : नीतीश
  • दक्षिणी हिस्से को छोड़ कश्मीर में जन-जीवन सामान्य
राज्य Share

गोटमार मेले में पत्थर लगने से युवक की मौत

छिंदवाड़ा, 10 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले के पांढुर्णा तहसील मुख्यालय के प्रसिद्ध गोटमार मेले में शामिल एक युवक की आज पेट में पत्थर लगने से मृत्यु हो गई।
पुलिस के अनुसार मृतक की पहचान नहीं हो सकी है। गोटमार मेले के दौरान वर्ष 2011 के बाद यह पहली मौत है। शाम चार बजे तक दो सौ से अधिक घायलों का इलाज चिकित्सा शिविर में किया जा चुका है।
पांढुर्णा गोटमार मेले का इतिहास वर्षों पुराना है। मान्यता है कि पांढुर्णा के युवक का पड़ोसी गांव सांवरगांव की युवती से प्रेम था। युवती को उसके गांव से भगाकर लाने के दौरान पांढुर्णा के पास बहने वाली जाम नदी को पार करते समय दोनों ओर के ग्रामीणों ने एक-दूसरे पर पत्थरबाजी की थी। उसी की याद में पांढुर्णा व सांवरगांव के लोग एक-दूसरे पर पत्थरबाजी करते हैं।
गोटमार मेला हर साल पोला के दूसरे दिन अर्थात सोमवार को शुरू होता है। नदी के बीचोबीच झंडा लगाया जाता है। इस झंडे को पांढुर्णा का पक्ष जब तक तोड़ नहीं लेता, तब तक पत्थरबाजी चलती रहती है। सूर्यास्त के समय तक झंडा न टूटने पर पुलिस समझौता करवाकर मेले का समापन करवाती है।
गोटमार मेले में हर साल सैकड़ों लोग घायल होते हैं, लेकिन आस्था के नाम पर यह परंपरा अाज तक जारी है।
सं सुधीर
वार्ता
More News
टिकट के लिए धर्म के नाम पर कोई कोटा नहीं होना चाहिए-राठौड़

टिकट के लिए धर्म के नाम पर कोई कोटा नहीं होना चाहिए-राठौड़

18 Nov 2018 | 7:32 PM

जयपुर 18 नवंबर (वार्ता) केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा है कि चुनाव में टिकट वितरण के दौरान धर्म के नाम पर कोई कोटा नहीं होना चाहिए।

 Sharesee more..
image