Monday, Nov 19 2018 | Time 15:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अमान्य प्रमाण पत्र पर बहाल पांच शिक्षक बर्खास्त
  • करोलबाग में गारमेंट फैक्ट्री में आग से चार मरे, एक घायल
  • संसद में फिर अविश्वास प्रस्ताव लायें: सिरीसेना
  • विधायक नैना चौटाला के जाने पर भी अभय चौटाला रहेंगे विधानसभा में विपक्ष के नेता
  • कांग्रेस ने पन्द्रह एवं भाजपा ने एक मुस्लिम प्रत्याशी को दिया मौका
  • कांग्रेस ने पन्द्रह एवं भाजपा ने एक मुस्लिम प्रत्याशी को दिया मौका
  • जम्मू-कश्मीर में टक्कर मारकर फरार होने मामले में चालक गिरफ्तार
  • रुपये की संदर्भ दर
  • एजियन सागर में तुर्की तट रक्षकों ने 40 अप्रवासी बचाये
  • इमरान ने बानी गाला संपत्तियों को नियमित कराने के लिए किया आवेदन
  • माकपा ने तमिलनाडु में तूफान प्रभावितों के लिए आर्थिक सहायता मांगी
  • पतंग के मांजे से गर्दन कटी छात्र की मृत्यु
  • विंडीज़ ने इंग्लैंड को हराया सेमी में आस्ट्रेलिया से मैच
  • विंडीज़ ने इंग्लैंड को हराया सेमी में आस्ट्रेलिया से मैच
  • पंढरपुर में चार लाख लोगों के लिए होगा शौचालय
राज्य Share

अदालत ने चार सितम्बर को पुणे स्थित कम्प्यूटर सेंटर के मालिक 36 वर्षीय अनीक शफीक सयीद अौर मोबाइल फोन रिपेयर करने वाले पुणे के ही 35 वर्षीय मोहम्मद अकबर इस्माइल चौधरी को दोषी ठहराया था। हैदराबाद के गोकुल चाट और लुम्बिनी पार्क में 25 अगस्त 2007 को विस्फोट की ये घटनायें हुई थीं।
अनीक को सचिवालय के सामने लुम्बिनी पार्क में बम रखने और अकबर काे दिलसुखनगर में बम रखने का दोषी ठहराया गया। तारिक को अभियुक्तों को दिल्ली में शरण देने का दोषी पाया गया।
इस मामले के दो अन्य आरोपी फारुक शरफुद्दीन और मोहम्मद सादिक इसरार शैक को साक्ष्यों के अभाव में अदालत ने बरी कर दिया। तीन अन्य आरोपी इंडियन मुजाहिदीन के संस्थापक रियाज भटकल, उसका भाई इकबाल भटकल और आमिर खान फरार हैं।
श्रवण.आशा
जारी.वार्ता
image