Wednesday, Sep 26 2018 | Time 08:22 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • फिनलैंड में परमाणु ऊर्जा संयंत्र बनाने के लिए शीघ्र मिलेगा लाइसेंस
  • चुनाव कराना राष्ट्रीय हित में नहीं: थेरेसा मे
  • तेलंगाना में रिश्वत लेने के मामले अधिकारी समेत दो गिरफ्तार
  • टाई रहा भारत और अफगानिस्तान का रोमांचक मुकाबला
  • टाई रहा भारत और अफगानिस्तान का रोमांचक मुकाबला
  • जम्मू निकाय चुनाव के लिए 815 उम्मीदवारों ने भरे पर्चे
  • पश्चिमी पाकिस्तान का शरणार्थी एक प्रतिनिधि मंडल जितेंद्र सिंह से मिला
राज्य Share

हैदराबाद में सचिवालय से कुछ मीटर दूर लुम्बिनी पार्क में लेजर शो सभागार और गोकुल चाट केन्द्र में 25 अगस्त 2007 को एकसाथ विस्फोट किये गये थे।
चेरापल्ली केन्द्रीय कारागार में स्थापित विशेष अदालत में दोनों पक्षों की ओर से इस मामले की सात अगस्त को जिरह पूरी हुई थी। कारागार के अंदर एक कक्ष में स्थापित की गयी यह विशेष अदालत नामपल्ली अदालत से जून में हस्तांतरित की गयी थी। तेलंगाना पुलिस की खुफिया शाखा ने इस मामले में आरोपियों के विरुद्ध अदालत में तीन आरोप पत्र दाखिल किये थे।
मेट्रोपॉलिटन सत्र न्यायाधीश (द्वितीय) की अदालत ने अगस्त 2013 को चार आरोपियों के विरुद्ध आरोप तय किये थे।
आरोपियों के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 302 और अन्य धाराओं के तहत मामले दर्ज किये गये थे। दिलसुखनगर में पैदल पुल के नीचे एक बम पाया गया था जिसमें विस्फोट नहीं हुआ था।
आरोपियों को महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते ने अक्टूबर 2008 में गिरफ्तार किया था। बाद में उन्हें गुजरात पुलिस के हवाले किया गया। आरोपियों को यहां चेरापल्ली केन्द्रीय कारागार में रखा गया।
आरोपियों के विरुद्ध मुकदमे की सुनवाई के दौरान 170 गवाहों से जिरह की गयी। इस मामले में अदालत के अाज आने वाले फैसले के मद्देनजर हैदराबाद के सभी संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये थे।
श्रवण.संजय
वार्ता
More News
निजी स्कूल वाहनों में लगे जीपीएस व सीसीटीवी कैमरे: उच्च न्यायालय

निजी स्कूल वाहनों में लगे जीपीएस व सीसीटीवी कैमरे: उच्च न्यायालय

25 Sep 2018 | 11:52 PM

नैनीताल 25 सितम्बर (वार्ता) उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने हल्द्वानी के काठगोदाम में स्कूल वैन में एक मासूम के साथ हुए यौन उत्पीड़न के मामले को गंभीरता से लेते हुए मासूमों की सुरक्षा के लिये कुछ महत्वपूर्ण निर्देश जारी किये हैं।

 Sharesee more..
कृषि हमारी मूल संस्‍कृति है : उप राष्‍ट्रपति

कृषि हमारी मूल संस्‍कृति है : उप राष्‍ट्रपति

25 Sep 2018 | 11:33 PM

तिरूपति, 25 सितंबर (वार्ता) उप राष्‍ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने कहा है कि कृषि हमारी मूल संस्‍कृति है अौर हमें इसे समर्थन कर किसानों के लिए उपयोगी बनाना है।

 Sharesee more..
image