Friday, Jul 19 2019 | Time 18:44 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राधामोहन भाजपा के राष्ट्रीय चुनाव अधिकारी नियुक्त
  • टैंकर पलटा : इंडियन ऑयल के अधिकारियों की होशियारी से टली बड़ी दुर्घटना
  • सीतापुर प्राइमरी स्कूल की महिला सहायक शिक्षक समेत दो निलम्बित
  • पंजाब में वायुसेना की भर्ती रैली पांच अगस्त से
  • जालौन: पुलिस ने बरामद की 102 पेटी अवैध शराब
  • जालंधर में लिंग अनुपात में सुधार के लिए विशेष अभियान
  • प्रियंका की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने फूंका योगी का पुतला
  • भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा की अमृतसर जिला इकाई का विस्तार
  • लखनऊ में गिरफ्तार माओवादी से उत्तराखंड पुलिस भी करेगी पूछताछ
  • कर्नाटक में ‘खरीद-फरोख्त’ के पीछे अमित शाह का हाथ: गुंडू राव
  • औरंगाबाद-जालना के लिए विधान परिषद का चुनाव 19 अगस्त को
  • आत्महत्या का प्रयास करने वाली महिला के खिलाफ मामला दर्ज
  • डेहरी में अखिल भारतीय पुलिस शूटिंग प्रतियोगिता नवंबर में
  • उत्तराखंड में 12 पुलिस निरीक्षक का किया तबादला
  • बृहन्मुंबई महानगर पालिका ने बी वार्ड के सहायक आयुक्त निलंबित
राज्य


उच्च न्यायालय ने चीते एवं तेंदुओं की हिफाजत को लेकर सरकार को दिया नोटिस

उच्च न्यायालय ने चीते एवं तेंदुओं की हिफाजत को लेकर सरकार को दिया नोटिस

लखनऊ, 10 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ ने दुधवा नेशनल पार्क सहित अन्य टाइगर रिजर्व जंगलो में चीते और तेंदुओं जैसे दुर्लभ जंतुओं की हिफाजत के लिए चैन लिंक बाउंड्रीवाल बनाए जाने की मांग को लेकर दायर जनहित याचिका पर केंद्र सरकार व राज्य सरकार से जवाब तलब किया है।

यह आदेश न्यायमूर्ति विक्रमनाथ व न्यायमूर्ति राजेश सिंह चौहान की खंडपीठ ने कौशलेंद्र सिंह सहित अन्य की ओर से दायर जनहित याचिका पर दिए।

जनहित याचिका दायर कर मांग की गई हैं कि टाइगर रिजर्व जंगलो में चीतों और तेंदओ आदि की सुरक्षा के लिए व्यवस्था की जाए। यह भी कहा गया है कि देश मे चीते तेंदुओं की संख्या कम हो गई हैं। ऐसे जन्तुओ की वजह से जहां आम आदमी को जान का खतरा बना रहता है वही शिकारियों और लोगो के द्वारा इन जानवरों को मारने से इनकी संख्या भी कम हो रही हैं। इस लिए चैन लिंक बाउंड्रीवाल बना कर इनकी सुरक्षा की जाए। मामले की अगली सुनवाई 23 अक्टूबर को होगी।

सं तेज

वार्ता

image