Friday, Nov 16 2018 | Time 19:20 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • किरण बेदी ने पत्रकारों के साथ मनाया ‘राष्ट्रीय प्रेस दिवस’
  • फुटसल अंडर 20 चैंपियनशिप के लिए भारतीय टीम घोषित
  • भारत का एडीबी के साथ 57 4 करोड़ डॉलर के तीन ऋण करार
  • सड़क हादसे में उपाधीक्षक सहित सात पुलिसकर्मी घायल
  • इंद्र-2018 सैन्य अभ्यास के लिए 250 रूसी सैनिक भारत रवाना
  • भाजपा और कांग्रेस से त्रस्त है जनता: रजनी
  • तृणमूल कांग्रेस अन्य राज्यों में भी लड़ेगी लोकसभा चुनाव : ममता
  • 16 मोटरसाइकिल सहित दो वाहन चोर गिरफ्तार
  • भारत की गन्ना किसानों को सब्सिडी योजना के खिलाफ डब्ल्यूटीओ गया ऑस्ट्रेलिया
  • झांसी को स्वच्छता सर्वेक्षण में पहले स्थान पर लाने को और प्रयास जरूरी: सुरेश खन्ना
  • न्यायालय ने दिए अवन्तिका आवास योजना में सीवर प्लान तैयार करने का निर्देश
  • बागेश्वर में तेंदुए के बच्चे की मौत
  • राजधानी एक्सप्रेस में जवान ने साथी जवान को मारी गोली
  • इटावा पुलिस ने मुठभेड़ में किया चार हाइवे लुटेरो को गिरफतार
  • गरीबों के लिए सरकार ने शुरू की है कई योजनाएं: हैनरी
राज्य Share

राष्ट्रीय-गंगा बाढ़ दो अंतिम इलाहाबाद

मध्यप्रदेश और उत्तराखण्ड में लगातार हो रही बारिश और वहां के बांधो से छोड़े गये पानी के कारण स्थिति भयावह होती जा रही है। मध्य प्रदेश की केन और बेतवा नदियों का पानी तेजी से यमुना में पहुंचने से यमुना में उफान बढ़ता जा रहा है। नाविकों ने अपने नावों को किला तरफ किनारे लगा लिया है।
सिंचाई विभाग बाढ़ खण्ड के अधिशाषी अभियंता मनोज सिंह का कहना है कि उत्तराखंड में बरसात हो रही है और टिहरी तथा नरौरा बांधों से पानी छोड़े जाने के कारण एक बार फिर नदियों का जलस्तर के साथ मध्य प्रदेश की केन एवं बेतवा नदियों का पानी यमुना में आने से उफान शुरू हो गया। गंगा का जलस्तर दो सेंटीमीटर और यमुना का एक सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रही हैं।
बाढ़ नियंत्रण कक्ष द्वारा प्राप्त आंकडों के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान गंगा का जलस्तर फाफामऊ में 60 सेंटीमीटर, छतनाग में 45 और नैनी में यमुना 72 सेंटीमीटर अधिक दर्ज किया गया है।
उन्होंने बताया कि गंगा और यमुना नदी का खतरे का निशान 84.740 है। दोनो नदियों का जलस्तर खतरे के निशान को छूने से मात्र 1.86 मीटर और 1.96 मीटर नीचे रह गया है।
गंगा का जलस्तर सुबह आठ बजे फाफामऊ में 82.88 मीटर, छतनाग में 82.08 तथा नैनी में यमुना 82.78 मीटर दर्ज किया गया है जबकि इसी समय सोमवार को गंगा का जलस्तर फाफामऊ में 82.28, छतनाग 81.35 और नैनी में (यमुना) 82.06 मीटर दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि दोनो नदियों का जलस्तर यदि इसी क्रम में बढ़ता रहा तो आगामी दो-तीन दिनों में खतरे के निशान को छू लेंगी।
जल पुलिस प्रभारी कड़ेदीन यादव ने बताया कि जल पुलिस, सिविल पुलिस, पीएसी, एनडीआरएफ के साथ जलपुलिस के गोताखोर और निजी गोताखोर घाटों पर मुस्तैद है। जल पुलिस लगातार बोट से चक्रमण कर रही है।
दिनेश प्रदीप
चौरसिया
वार्ता
More News

दुर्घटना में वृद्ध की मौत , सड़क जाम

16 Nov 2018 | 7:17 PM

 Sharesee more..

दो युवतियों ने की आत्महत्या

16 Nov 2018 | 7:15 PM

 Sharesee more..
सौंदर्यीकरण के नाम पर विस्थापन ठीक नहींः तिवारी

सौंदर्यीकरण के नाम पर विस्थापन ठीक नहींः तिवारी

16 Nov 2018 | 7:12 PM

देवरिया,16 नवम्बर (वार्ता) काशी के बाबा विश्वनाथ मंदिर के महंत कुलपति तिवारी ने शुक्रवार को कहा कि अति प्राचीन मंदिर के सौंदर्यीकरण के नाम पर वहां के निवासियों को विस्थापित करना उचित नहीं है।

 Sharesee more..
अयोध्या में शीघ्र राम मंदिर निर्माण के लिए कानून या अध्यादेश लाये सरकार: रामदेव

अयोध्या में शीघ्र राम मंदिर निर्माण के लिए कानून या अध्यादेश लाये सरकार: रामदेव

16 Nov 2018 | 7:12 PM

वाराणसी,16 नवंबर (वार्ता) योग गुरु स्वामी रामदेव ने अयोध्या में भगवान श्री राम का मंदिर शीघ्र बनाने की वकालत करते हुए निर्माण की बाधाएं दूर करने वाले कानून बनाने या अध्यादेश लाने की अपील शुक्रवार को यहां केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से की है।

 Sharesee more..
image