Sunday, Nov 18 2018 | Time 15:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इंग्लैंड ने श्रीलंका से कब्जाई सीरीज़
  • स्वतन्त्रता सेनानियों की मदद के लिए मोदी को लिखा भाकपा ने पत्र
  • तमिलनाडु में ‘गाजा’ से मरने वालों की संख्या 45 हुयी
  • एसजीपीसी के कार्यक्रम में शामिल होंगे बदनौर
  • लघु बचत एजेंटाें की समस्याओं को अमरिंदर के समक्ष रखा जाएगा: सोनी
  • नक्सल समस्या को खत्म करना भाजपा सरकार के बूते में नही – शेरगिल
  • इराक में हवाई हमले में दस आतंकवादियों की मौत
  • नक्सल समस्या को खत्म करना भाजपा सरकार के बूते में नही – शेरगिल
  • जयपुर के रामगंज में झगड़े से तनाव
  • पंजाब-बम हमला-वेरका
  • निरंकारी समारोह पर बम हमले में तीन लाेगों की मौत, दस घायल
  • कांग्रेस राजस्थान सूची दो अंतिम नयी दिल्ली
  • कैलिफोर्निया में आग से मरने वालों की संख्या 76 हुई
  • उत्तराखंड निकाय चुनाव में दोपहर तक धीमी गति से मतदान
  • राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी की अंतिम सूची
राज्य Share

सीएसआर कोष के जरिये राज्य के विकास में योगदान करें उद्योग:योगी

सीएसआर कोष के जरिये राज्य के विकास में योगदान करें उद्योग:योगी

लखनऊ, 11 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औद्योगिक घरानो से अपील की कि कारपाेरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (सीएसआर) कोष के जरिये वे राज्य के चर्तुमुखी विकास में योगदान दें।

उन्हाेने दावा किया कि शौचालयों के निर्माण में रिकार्ड बनाने के अलावा प्रधानमंत्री आवास के निर्माण में उपलब्धि हासिल करने में सीएसआर की भी महत्वपूर्ण भूमिका है।

मुख्यमंत्री ने कहा “ खुले में शौच मुक्त और स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने में सीएसआर कोष ने अहम भूमिका निभायी है। इसके अलावा स्वास्थ्य चिकित्सा,पर्यटन और शिक्षा के क्षेत्र में भी सीएसआर सहायक रहा है। देश का एक बड़ा राज्य होने के नाते उत्तर प्रदेश में जनसुविधाओं की जरूरत भी बडी है। इसलिये उद्योगों को सीएसआर कोष के जरिये राज्य की प्रगति में अपना योगदान देना चाहिये। ”

उन्होने कहा कि पिछले 16 महीनों के दौरान राज्य में एक करोेड़ 35 लाख शौचालयों का निर्माण किया गया है जिनमे से 90 लाख शौचालय इसी साल बनाये गये। राज्य के शहरी और ग्रामीण इलाकों में 15 लाख प्रधानमंत्री आवास निर्माणाधीन है।

विभिन्न उद्योग संघों द्वारा लोकभवन में आयोजित सीएसआर कान्क्लेव का उदघाटन करते हुये श्री योगी ने साफ किया कि राज्य को खुले में शौच मुक्त निर्धारित समयावधि में करने के लिये सरकार कटिबद्ध है। सरकार ने 59 हजार गांवों में शौचालयों के निर्माण के लिये ढाई लाख राजमिस्त्रियों को प्रशिक्षित किया है। शौचालयों के निर्माण कार्यों की देखरेख के लिये स्वयंसेवकों की नियुक्ति की गयी है।

image