Tuesday, Sep 25 2018 | Time 12:27 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जेल सुधारों के लिए तीन-सदस्यीय समिति गठित
  • सीरिया में एस-300 मिसाइल प्रणाली की तैनाती रूस की ‘भारी भूल’: अमेरिका
  • ‘माननीयों को वकालत करने से नहीं रोका जा सकता’
  • कार से भारी मात्रा में शराब बरामद
  • मिलावटी राज के दिखावटी मुखिया हैं नीतीश : तेजस्वी
  • समय पर उड़ान भरने में स्पाइसजेट अव्वल
  • समय पर उड़ान भरने में स्पाइसजेट अव्वल
  • जीप पलटने से चार श्रद्धालुओं की मौत
  • शाहजहांपुर:मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति ने की पत्नी की हत्या
  • फिजाओं में आज भी गूंजती है हेमंत कुमार के संगीत की खूशबू
  • फिजाओं में आज भी गूंजती है हेमंत कुमार के संगीत की खूशबू
  • ‘महज आरोप पत्र के आधार पर चुनाव लड़ने से नहीं रोका जा सकता’
  • देवानंद को भी करना पड़ा था संघर्ष
  • देवानंद को भी करना पड़ा था संघर्ष
  • स्वर्ण व्यवसायी से लाखों की लूट
राज्य Share

सीएसआर कोष के जरिये राज्य के विकास में योगदान करें उद्योग:योगी

सीएसआर कोष के जरिये राज्य के विकास में योगदान करें उद्योग:योगी

लखनऊ, 11 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औद्योगिक घरानो से अपील की कि कारपाेरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (सीएसआर) कोष के जरिये वे राज्य के चर्तुमुखी विकास में योगदान दें।

उन्हाेने दावा किया कि शौचालयों के निर्माण में रिकार्ड बनाने के अलावा प्रधानमंत्री आवास के निर्माण में उपलब्धि हासिल करने में सीएसआर की भी महत्वपूर्ण भूमिका है।

मुख्यमंत्री ने कहा “ खुले में शौच मुक्त और स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने में सीएसआर कोष ने अहम भूमिका निभायी है। इसके अलावा स्वास्थ्य चिकित्सा,पर्यटन और शिक्षा के क्षेत्र में भी सीएसआर सहायक रहा है। देश का एक बड़ा राज्य होने के नाते उत्तर प्रदेश में जनसुविधाओं की जरूरत भी बडी है। इसलिये उद्योगों को सीएसआर कोष के जरिये राज्य की प्रगति में अपना योगदान देना चाहिये। ”

उन्होने कहा कि पिछले 16 महीनों के दौरान राज्य में एक करोेड़ 35 लाख शौचालयों का निर्माण किया गया है जिनमे से 90 लाख शौचालय इसी साल बनाये गये। राज्य के शहरी और ग्रामीण इलाकों में 15 लाख प्रधानमंत्री आवास निर्माणाधीन है।

विभिन्न उद्योग संघों द्वारा लोकभवन में आयोजित सीएसआर कान्क्लेव का उदघाटन करते हुये श्री योगी ने साफ किया कि राज्य को खुले में शौच मुक्त निर्धारित समयावधि में करने के लिये सरकार कटिबद्ध है। सरकार ने 59 हजार गांवों में शौचालयों के निर्माण के लिये ढाई लाख राजमिस्त्रियों को प्रशिक्षित किया है। शौचालयों के निर्माण कार्यों की देखरेख के लिये स्वयंसेवकों की नियुक्ति की गयी है।

More News

कार से भारी मात्रा में शराब बरामद

25 Sep 2018 | 11:57 AM

 Sharesee more..

जीप पलटने से चार श्रद्धालुओं की मौत

25 Sep 2018 | 11:30 AM

 Sharesee more..
image