Thursday, Feb 21 2019 | Time 13:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गोरखपुर को 24 फरवरी को 9000 करोड़ की सौगात देंगे मोदी
  • जाने-माने फिल्मकार राजकुमार बड़जात्या का निधन
  • फिल्मकार राजकुमार बड़जात्या का निधन
  • दक्षिण कोरिया भारत के लिए एक रोल मॉडल: मोदी
  • एक परिवार के चार सदस्य जिंदा जले
  • अल अजीजिया मामले में नवाज की सजा पर फैसला सुरक्षित
  • वेनेजुएला ने पड़ोसी द्वीपों के साथ सीमाएं बंद की
  • कश्मीरियों के खिलाफ हमले पर रोक संबंधी याचिका की सुनवाई शुक्रवार को
  • लश्कर ए तैयबा का स्लीपर सेल का सदस्य था पाकिस्तानी कैदी
  • राष्ट्रीय राजधानी में हल्की बारिश के बाद धूप खिली
  • कश्मीर राजमार्ग बंद होने से सैकड़ों वाहन फंसे
  • अभ्रक खदान में चाल धंसने से मजदूर की मौत
  • पारिवारिक फिल्मों से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया सूरज बड़जात्या ने
  • ऋतिक के अलावा किसी से कंपटीशन नहीं: टाइगर
  • दीपिका के साथ काम करना हमेशा खास रहा : रणवीर
राज्य Share

उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल फैसले दो अंतिम लखनऊ

श्री सिंह ने बताया कि एक जनपद एक उत्पाद (ओडीओपी) के लिए अनुदान और प्रोत्साहन की प्रक्रिया को मंत्रिमंडल की बैठक में मंजूरी प्रदान की गयी। भूमि अर्जन पुनर्वासन और पुनर्व्यव्सथापन प्राधिकरण में पीठासीन अधिकारी के रुप में उप्र उच्चतर न्यायिक सेवा के सुपर टाइम स्केल पद के स्थान पर उप्र उच्चतर न्यायिक सेवा के सुपर टाइम स्केल प्राप्त जिला जज पद के पीठासीन अधिकारी के रुप में संशोधन को मंजूरी दी गयी।
श्री सिंह ने बताया कि प्रदेश में भूगर्भ जल के स्तर में सुधार के लिए वित्तीय वर्ष 2018-19 में वर्षा जल संचयन एवं भूजल संवर्धन योजना शुरु करने को कैबिनेट ने मंजूरी दी। योजना में लघु सिंचाई विभाग एक से पांच हेक्टेयर के परंपरागत रुप से निर्मित सामुदायिक तालाबों का पुनर्विकास और प्रबंधन करेगा।
उन्होने बताया कि प्रदेश के सात नए एवं पांच निर्माणाधीन सरकारी मेडिकल कॉलेजों में वरिष्ठ शिक्षकों की कमी दूर करने के लिए सरकारी मेडिकल कॉलेजों,मेडिकल संस्थानों और विश्वविद्यालयों के सेवानिवृत्त प्रोफेसर को कंसल्टेंट के रुप में संविदा पर नियुक्ति को मंजूरी प्रदान की गयी।
गोरखपुर, झांसी, मेरठ और इलाहाबाद के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में निर्माणाधीन सुपर स्पेशएलिटी ब्लॉक, गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में निर्माणाधीन बाल चिकित्सालय और सुपर स्पेशएलिटी कैंसर संस्थान और लखनऊ के सीजी सिटी में संविदा पर सेवानिवृत्त प्रोफेसर की नियुक्ति को मंजूरी मिली है।
श्री सिंह ने बताया कि प्रदेश के स्थानीय निकायों और शासन से अनुदानित संस्थाओं को स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग द्वारा संपादित वित्तीय वर्ष 2015-16 के वार्षिक लेखा परीक्षा प्रतिवेदन को विधानमंडल के पटल पर रखे जाने को स्वीकृति प्रदान की गयी।
प्रदीप तेज
वार्ता
image