Wednesday, Jun 26 2019 | Time 19:44 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • स्वाधीनता सेनानी का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार
  • डिश टीवी इंडिया ने लॉन्‍च किया क्रिकेट वर्ल्‍ड कप एंथम
  • भाजयुमो ने नशा विरोधी दिवस पर जिला उपायुक्तों को सौंपा मांगपत्र
  • बिहार के पांच शहरों में छत पर बागवानी के लिए सरकार देगी अनुदान
  • आकाश विजयवर्गीय को अदालत ने जेल भेजने के आदेश दिए
  • स्टर्लिंग बॉयोटेक मामले में 9778 करोड़ की विदेशी संपत्ति जब्त
  • हरवीन सराओ ने जीता 10 मीटर एयर पिस्टल का स्वर्ण
  • हरवीन सराओ ने जीता 10 मीटर एयर पिस्टल का स्वर्ण
  • सैप्टिक टैंक की सफाई करने उतरे चार लोगों की दम घुटने से मौत
  • मथुरा में युवक का अपहरण,20 लाख फिरौती की मांग
  • त्रिपुरा के प्रमुख सचिव और शिक्षा निदेशक को न्यायालय का नोटिस
  • शिकायत निवारण नियमावली से सरकारी सेवकों को काफी फायदा होगा: नीतीश
  • बिट्टू की हत्या के पीछे गहरी साजिश : बादल
  • गर्मी-उमस के कारण पंजाब-हरियाणा में बिजली मांग में रिकार्ड तोड़ वृद्धि
  • सशक्त टीम के रुप में उभर रही है महिला फुटबॉल टीम : एंब्रोस
राज्य


हरियाणा. सभा-निलम्बित दो अंतिम चंडीगढ़

सदन की कार्यवाही शुरू होने पर सत्तापक्ष की आेर से श्री दलाल के खिलाफ सदन में प्रस्ताव लाने की प्रक्रिया शुरू हुई। इस दौरान कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि सरकार अगर श्री दलाल के खिलाफ प्रस्ताव ला रही है तो इस पर सदन में चर्चा कराये और श्री दलाल का भी पक्ष सुने। बाकी सरकार बहुमत में है ऐसे में वह सभी को सदन से निकाल दे। कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी समेत पार्टी के सभी सदस्याें ने प्रस्ताव का विरोध किया। कांग्रेस के रघुबीर सिंह कादियान और कुलदीप शर्मा ने प्रस्ताव को एकतरफा कार्रवाई बताया।
इस दौरान श्री धनकड़ ने कहा कि श्री दलाल ने भाजपा और उसक कार्यकर्ताओं को सदन में बुरा भला कहा लेकिन वे चुप्प बैठे रहे लेकिन हरियाणा को गाली देने वाले बर्दाश्त नहीं किये जाएंगे। इस बीच कैप्टन अभिमन्यु द्वारा श्री दलाल को विधानसभा की बैठकों से एक साल के लिये निलम्बित करने को लाये गये प्रस्ताव को सदन में ध्वनिमत से पारित कर दिया। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर ने सदन की कार्यवाही तीन बजे शुरू होने वाली सदन की दूसरी बैठक तक स्थगित कर दी।
दिन की दूसरी बैठक शुरू होने पर शून्यकाल में कांग्रेस सदस्यों ने सरकार की इस कार्रवाई को गलत और एकतरफा बताते हुये इसका विरोध किया। श्री कादियान और श्री शर्मा ने कहा कि सदन निर्धारित नियम कानून से चलता है। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से जानना चाहा कि श्री दलाल को किस नियम के तहत निलम्बित किया गया है। कांग्रेस सदस्यों ने अध्यक्ष को चेतावनी दी कि इस मामले में उन्हें उच्च न्यायालय में जबाव देना होगा। इस दौरान कांग्रेस सदस्य अध्यक्ष के आसन में समक्ष आकर उन्हें कानून पढ़ाते देखे गये। हालांकि मसले पर पुनर्विचार करने के अध्यक्ष के आश्वासन पर वे अपनी सीटों पर आकर बैठ गये लेकिन अपनी मांग पर अड़े रहने पर अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही आधे घंटे के लिये स्थगित कर दी जिसे बाद में दस मिनट और बढ़ाया गया।
कार्यवाही पुन: शुरू होने पर श्री गुर्जर ने कहा कि श्री दलाल को निलम्बित करने का फैसला उनका नहीं बल्कि सदन ने सर्वसम्मति से लिया है और यह अंतिम है। श्री हुड्डा ने उनसे पूछा कि उनके प्रस्ताव का क्या हुआ तो विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि इसे अस्वीकृत कर दिया गया है। इस पर कांग्रेस सदस्य सदन से बहिर्गमन कर गये। बाद में निर्दलीय विधायक जयप्रकाश ने भी इस कार्रवाई के विरोध में सदन से बहिर्गमन किया।
रमेश1938
वार्ता

श्री चौटाला के इस दौरान किसी अन्य मुद्दे पर चर्चा शुरू करने पर कांग्रेस सदस्यों ने सदन में हंगामा शुरू कर दिया और श्री दलाल के मुद्दे को पहले सुलझाने और श्री चौटाला के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की। इस दौरान कैप्टन अभिमन्यु ने श्री दलाल और श्री चौटाला द्वारा सदन में किये गये अशोभनीय और मर्यादित व्यवहार को लेकर निंदा प्रस्ताव पेश किया जिसे ध्वनिमत से पारित कर दिया गया। लेकिन कांग्रेस सदस्य इससे संतुष्ट नहीं हुये और उन्होंने श्री दलाल को निलम्बित करने के फैसले के खिलाफ सदन में प्रस्ताव पेश किया तथा इस पर चर्चा और मतदान कराने की मांग की। कांग्रेस सदस्यों की मांग पर सदन की कार्यवाही आधे घंटे के लिये स्थगित कर दी गई।
सदन की कार्यवाही शुरू होने पर
image