Sunday, Feb 17 2019 | Time 17:15 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विधानसभा का चार दिवसीय सत्र सोमवार से, अध्यक्ष ने लिया तैयारियों का जायजा
  • पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे भारत : बादल
  • मादक पदार्थ विरोधी दस्ते ने पकड़ी लाखों की अफीम
  • तुर्की ने चार विदेशी संदिग्धों को हिरासत में लिया
  • मुरादाबाद- कश्मीरी छात्रों के बारे में छानबीन जारी
  • सरकारी चिकित्सा महाविद्यालयों में शिक्षकों के 153 पद भरने के लिए मंत्रिमंडल की स्वीकृति
  • शाह सोमवार को जयपुर आयेंगे
  • संजय तोमर और श्री सीमा बने ‘मैक्स लाइफ इंश्योरेंस - द रन’ के चैंपियन
  • पुल की रेलिंग तोड़ गहरे नाले में गिरी बस, तीन की मौत पचास घायल
  • पुलवामा हमले के दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा: नकवी
  • सुरक्षा हमारे लिए कोई मसला नहीं : मीरवाइज
  • पंजाब कांग्रेस भवन में पुलवामा के शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि
  • विश्वेन्द्र ने शहीद के परिजनों को बंधाया ढांढस
  • नारायणस्वामी का धरना पांचवे दिन भी जारी रहा
  • देवरिया में शहीद विजय के घर कल जायेंगे योगी
राज्य Share

मुख्यमंत्री का जनता को तोहफा, बिजली दरों में बड़ी कटौती

चंडीगढ़, 11 सितम्बर(वार्ता) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राज्य के बिजली उपभोक्ताओं को बड़ा तोहफा देते हुए 200 यूनिट प्रतिमाह की खपत पर बिजली दर 4.50 रुपये से घटा कर 2.50 रुपये प्रति यूनिट करने की आज घोषणा की।
श्री खट्टर ने राज्य विधानसभा के मौनसून सत्र में अपनी घोषणा में आगे कहा कि यदि परिवार की बिजली खपत मासिक 50 यूनिट तक रहती है तो उसके लिये यह दर दो रुपए प्रति यूनिट होगी। उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले से 200 यूनिट खपत पर उपभोक्ताओं को प्रतिमाह लगभग 437 रुपए का लाभ होगा जोकि अब तक की दरों के मुकाबले 46.6 प्रतिशत कम है। उन्होंने कहा कि इस घोषणा से 500 यूनिट तक खपत करने वाले उपभोक्ताओं को भी लाभ होगा तथा बिजली बिल मासिक आधार पर भरे जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस घोषणा से राज्य के लगभग 41.53 लाख घरेलू उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि सरकार ने बिजली की दरे कम करने का वादा किया था जिसे आज पूरा कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने अपने गत चार सालों में अनेक अभूतपूर्व और आमूलचूल परिवर्तन वाले कार्य किए हैं। सरकार ने राज्य को केरोसिन मुक्त बनाया है। राज्य में देश का पहला कौशल विकास विश्वविद्यालय स्थापित किया गया है। सरकार ने पंचायतीराज संस्थाओं के प्रतिनिधियों की योग्यता निर्धारित की है जिससे राज्य में पढ़ी लिखी पंचायतें बनी हैं। सरकार ने अधिकारों का विकेंद्रीकरण कर अंतर राज्य परिषद की तर्ज पर अंतर जिला परिषद का गठन किया है जो दस करोड़ तक नहीं बल्कि अब 25 करोड़ रूपये तक के विकास कार्य कराने के फैसले खुद ले सकेंगी। इसके अलावा सरकार ने पेंशन वितरण में पारदर्शिता सुनिश्चत करने के लिये इसे ऑन लाईन कर दिया है।
रमेश1957
वार्ता
More News
इंदिरा गांधी नहर में मिला भाजपा नेता का शव

इंदिरा गांधी नहर में मिला भाजपा नेता का शव

17 Feb 2019 | 5:10 PM

श्रीगंगानगर,17 फरवरी (वार्ता) राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में इंदिरा गांधी नहर में गिरे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता मदनलाल कस्वां (50) का आज आठ दिन बाद शव बरामद हो गया।

 Sharesee more..
नारायणस्वामी का धरना पांचवे दिन भी जारी रहा

नारायणस्वामी का धरना पांचवे दिन भी जारी रहा

17 Feb 2019 | 5:07 PM

पुडुचेरी, 17 फरवरी (वार्ता) पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणस्वामी, उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी और सरकार में गठबंधन के राजनीतिक दलों के नेताओं का रविवार को पांचवे दिन भी राज निवास के सामने अनिश्चितकालीन धरना जारी रहा।

 Sharesee more..
image