Wednesday, Sep 26 2018 | Time 12:28 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भाजपा के बंगाल बंद का मिलाजुला असर
  • कुछ शर्तों के साथ आधार कार्ड की संवैधानिक वैधता बरकरार
  • केजरीवाल ने मनमोहन को जन्मदिन की बधाई दी
  • उत्तरी दिल्ली में इमारत गिरी, मलबे में दबे लोग
  • ‘नागराज’ फैसले की समीक्षा की आवश्यकता नहीं : सुप्रीम कोर्ट
  • चेन्नई सर्राफा के शुरुआती भाव
  • मोदी ने एचएएल के 30 हजार करोड़ चुराया: राहुल
  • आभूषण व्यवसायी की गोली मारकर हत्या
  • अमेरिका दे दी ईरान को ‘गंभीर परिणाम’ भुगतने की चेतावनी
  • राहुल ने दी मनमोहन को जन्मदिन की बधाई
  • मोदी ने कोहली, चानू को खेल रत्न की बधाई दी
  • मोदी ने मनमोहन को दी जन्मदिन की बधाई
  • सुषमा ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा सुधार पर की चर्चा
  • पुलिस ने मुठभेड़ के बाद तीन बदमाशों को किया गिरफ्तार
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 27 सितंबर)
राज्य Share

जनसभा में आ रहे पूर्व सांसद सुभाषिनी अली को हिरासत में लिया

जनसभा में आ रहे पूर्व सांसद सुभाषिनी अली को हिरासत में लिया

सुल्तानपुर, 11 सितंबर (वार्ता) उतर प्रदेश के सुल्तानपुर में बिना अनुमति के जनसभा करने आ रही पूर्व सांसद व माकपा पोलिट ब्यूरो सदस्य सुभाषिनी अली को हिरासत में लिया गया और पांच घंटे बाद उन्हें रिहा कर दिया गया।

अधिकारिक सूत्रों के अनुसार सुल्तानपुर जिले के अखण्डनगर ब्लॉक के राहुल नगर में माकपा व डीवाईवाई एफआई की ओर से आयोजित शहीद मेले में सभा का आयोजन किया गया था, जिसमें बिना अनुमति के सभा करने जा रही पूर्व सांसद व माकपा पोलिट ब्यूरो सदस्य सुभाषिनी अली को मंगलवार को पुलिस ने समर्थकों समेत यहां हिरासत में ले लिया। करीब पांच घंटे तक बिजली विभाग के गेस्ट हाउस में रखने के बाद छोड़ा गया।

सूत्रों ने बताया कि हिरासत में लेने से पहले पार्टी आफिस में एडीएम ई हर्षदेव पांडेय व एएसपी मीनाक्षी कात्यायन ने सुभाषिनी को जिले में धारा 144 लागू होने के कारण सभा के लिए अनुमति नहीं होने की जानकारी दी। वहां न जाने का अनुरोध किया,लेकिन सुभाषिनी अली और उनके साथी राजी नही हुए। नियमों को तोड़ते हुए अपराह्न पौने दो बजे रोडवेज के पास स्थित पार्टी आफिस से राहुल नगर जाने के लिए निकली। पुलिस ने उन्हें और उनके समर्थकों को घेरे में ले लिया। एसपी सिटी ने अपने सरकारी वाहन में सुभाषिनी को ले गईं। समर्थकों समेत उन्हें बिजली विभाग के गेस्ट हाउस में रखने के बाद शाम को सभी को रिहा कर दिया गया।

उनके साथ पार्टी के राज्य सचिव हीरालाल, जिला सचिव नरोत्तम शुक्ल डीवाईएफआई के जिला सचिव शशांक पाण्डेय एसएफआई के प्रदेश अध्यक्ष विवेक विक्रम सिंह, महेश तिवारी भी थे। उधर पूर्व विधायक दीनानाथ सिंह ने आरोप लगाया कि राहुल नगर में सभा के साथ मेले को भी पुलिस ने रोक दिया है।

सं तेज

वार्ता

image