Saturday, Sep 22 2018 | Time 18:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कांग्रेस ने किसानों के साथ वादे क्यों नहीं निभाए : मोदी
  • शहीद विकास गुरुंग की स्मृति में द्वार का शिलान्यास
  • सवर्णों पर लाठीचार्ज करने वालों पर हो कार्रवाई : प्रेमचंद्र
  • ओलांद के बयान पर बेवजह विवाद पैदा किया जा रहा है: रक्षा मंत्रालय
  • जेमिमा का अर्धशतक, भारत को 2-0 की बढ़त
  • खाद्य तेल, दालें स्थिर, चीनी में नरमी
  • मोदी को काले झंडे दिखाने जा रहे कांग्रेस अध्यक्ष एवं अन्य नेता गिरफ्तार
  • शहीदों के कार्यक्रम को पैसों की बर्बादी बताने पर गहलोत मांगे माफी-वसुंधरा
  • बसपा से गठबंधन पर बातचीत जारी - कमलनाथ
  • बारिश से किसानों के माथे पर खिंची चिंता की लकीरें
  • खेलों के जरिये मानवीय मूल्य का विकास जरूरी : लालजी
  • उच्च शिक्षा सामग्री भारतीय भाषाओं में हो उपलब्ध: कोविंद
  • मोदी ने किया बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी रेल लाइन, बिलासपुर-पथरापाली फोरलेन सड़क का शिलान्यास
  • मोदी ने किया बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी रेल लाइन, बिलासपुर-पथरापाली 4-लेन सड़क का शिलान्यास
  • राहुल ने मोदी काे बताया ‘चोर’ और ‘भ्रष्ट’
राज्य Share

गीतकार अंजान को इसके बाद कई अच्छी फिल्मों के प्रस्ताव मिलने शुरू हो गये , जिनमें बहारे फिर भी आयेगी.बंधन.कब क्यों और कहां.उमंग.रिवाज.एक नारी एक बह्चारी. हंगामा.जैसी कई फिल्में शामिल है । साठ के दशक में अंजान ने संगीतकार श्याम सागर के संगीत निर्देशन में कई गैर फिल्मी गीत भी लिखे । अंजान द्वारा रचित इन गीतो को बाद में मोहम्मद रफी.मन्ना डे और सुमन कल्याणपुरी जैसे गायको ने अपना स्वर दिया , जिनमें मोहम्मद रफी द्वारा गाया गीत ..मै कब गाता ..काफी लोकप्रिय भी हुआ था । अंजान ने कई भोजपुरी फिल्मो के लिये भी गीत लिखे । सत्तर के दशक में बलम परदेसिया का..गोरकी पतरकी के मारे गुलेलवा ..गाना आज भी लोगो के जुबान पर चढ़ा हुआ है ।
अंजान के सिने कैरियर पर यदि नजर डाले तो सुपरस्टार अमिताभ बच्चन पर फिल्माये उनके रचित गीत कापी लोकप्रिय हुआ करते थे । वर्ष 1976 में प्रदर्शित फिल्म दो अंजाने के.. लुक छिप लुक छिप जाओ ना ..गीत की कामयाबी के बाद अंजान ने अमिताभ बच्चन के लिये कई सफल गीत लिखे जिनमें ..बरसो पुराना ये याराना.खून पसीने की मिलेगी तो खायेंगे.रोते हुये आते है सब.ओ साथी रे तेरे बिना भी क्या जीना.खइके पान बनारस वाला जैसे कई सदाबहार गीत
शामिल है ।
अमिताभ बच्चन के अलावे मिथुन चक्रवर्ती की फिल्मो के लिये भी अंजान ने सुपरहिट गीत लिखकर उनकी फिल्मों को सफल बनाया है । इन फिल्मों में डिस्को डांसर.डांस डांस.कसम पैदा करने वाले.करिश्मा कुदरत का.कमांडो .हम इंतजार करेंगे.दाता और दलाल आदि फिल्में शामिल है । जाने माने निर्माता-निर्देशक प्रकाश मेहरा की फिल्मों के लिये अंजान ने गीत लिखकर उनकी फिल्मो को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। उनकी सदाबहार गीतों के कारण ही प्रकाश मेहरा की ज्यादातार फिल्मे अपने गीत-संगीत के कारण ही आज भी याद की जाती है । अंजान के पसंदीदा संगीतकार के तौर पर कल्याण जी आनंद जी का नाम सबसे उपर आता है ।
अंजान ने अपने तीन दशक से भी ज्यादा लंबे सिने कैरियर में लगभग 200 फिल्मो के लिये गीत लिखे । लगभग तीन दशकों तक हिन्दी सिनेमा को अपने गीतों से संवारने वाले अंजान 67 वर्ष की आयु मे 13 सितम्बर 1997 को सबको अलविदा कह गये । अंजान के पुत्र समीर ने बतौर गीतकार फिल्म इंडस्ट्री ने अपनी खास पहचान बनायी है।
प्रेम टंडन
वार्ता
More News
शहीदों के कार्यक्रम को पैसों की बर्बादी बताने पर गहलोत मांगे माफी-वसुंधरा

शहीदों के कार्यक्रम को पैसों की बर्बादी बताने पर गहलोत मांगे माफी-वसुंधरा

22 Sep 2018 | 6:08 PM

अलवर, 22 सितम्बर (वार्ता) राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि सीमावर्ती जिलों में शहादत को सलाम कार्यक्रम को पैसों की बर्बादी बताना शहीदों का अपमान हैं और इसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को जनता से माफी मांगनी चाहिए।

 Sharesee more..

22 Sep 2018 | 6:06 PM

 Sharesee more..

बजरी माफियाओं ने पुलिस पर की फायरिंग

22 Sep 2018 | 6:05 PM

 Sharesee more..
image