Wednesday, Sep 26 2018 | Time 16:16 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • न्यायालय के निर्णय से आधार की उपयोगिता हुई प्रमाणित: जेटली
  • गांधी जयंती पर वर्धा में होगी कांग्रेस कार्य समिति की बैठक
  • परिवार को खबर नहीं, यशपाल बन गया मिक्स्ड मार्शल का हीरो
  • चीनी मिलों को फिर मिला 5538 रुपये का पैकेज
  • भूमि विवाद में कमी लाने के लिए प्रयास की जरूरत :नीतीश
  • जीएसटीएन पूरी तरह से सरकारी कंपनी होगी
  • सायना और परूपल्ली करेंगे विवाह
  • चीनी मिलाें के लिए 5538 करोड़ रुपये के पैकेज को मंजूरी
  • आधार पर न्यायालय का फैसला हमारी जीत : कांग्रेस
  • मजदूरों की मदद वाला उपकरण बनाने वाले छात्र सम्मानित
  • बंगाल में भाजपा के बंद से जनजीवन प्रभावित
  • माडल टाउन मामले में नवाज शरीफ को तलब करने की याचिका खारिज
  • अफगानिस्तान से टाई हम नहीं भूल पाएंगे: राहुल
  • हाउसिंग सोसायटी घोटाला मामले में पाकिस्तान के पूर्व मुख्य न्यायाधीश का दामाद गिरफ्तार
राज्य Share

गरीबी के चलते की आत्महत्या

भिंड, 12 सितम्बर (वार्ता) मध्यप्रदेश के भिंड जिले में एक युवक ने कथित तौर पर गरीबी से परेशान होकर आत्महत्या कर ली।
परिजन का आरोप है कि युवक को शहर में पक्का मकान होने के कारण गरीबी रेखा से जुड़ी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा था। उसके पास आजीविका का कोई साधन भी नहीं हेाने से युवक आर्थिक तंगी से परेशान था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजन के सुपुर्द कर दिया है।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि अटेर के किशूपुरा गांव निवासी अनूप सिंह भदौरिया (33) का भिंड शहर के अटेर रोड पर पुश्तैनी मकान है। कल रात अनूप ने अपने ही घर के कमरे में पत्नी की साडी से पंखे से फंदा डालकर आत्महत्या कर ली।
परिजन के मुताबिक अनूप ने कल रात ही अपनी पत्नी नेहा से अपनी आर्थिक परेशानियों के बारे में बात करते समय अपनी हताशा जाहिर की थी। अनूप ने कई बार गरीबी रेखा का राशनकार्ड बनवाने के लिए आवेदन किए थे, लेकिन शहर में मकान होने की वजह से राशनकार्ड नहीं बन पा रहा था। उसके मकान पर बिजली का 80 हजार रुपए का बिल बकाया था। इसे माफ कराने के लिए उसने नगरपालिका असंगठित श्रमिक के रूप में अपना पंजीयन कराया। साथ ही बिजली कंपनी कार्यालय में बिल माफी के लिए आवेदन दिए, लेकिन पिछले दो महीने से उसे यह पता नहीं लग पाया कि उसका बिल माफ हुआ या नहीं। इसी चिंता के चलते उसने फांसी लगा ली।
परिजन का आरोप है कि बस पर क्लीनर की नौकरी करने वाले अनूप के पास ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की फीस नहीं थी और इसलिए उसे कहीं चालक की नौकरी भी नहीं मिल ही थी।
अनुविभागीय अधिकारी राजस्व (एसडीएम) एचबी शर्मा ने पूरे मामले पर कहा कि अनूप ने बीपीएल राशनकार्ड के लिए आवेदन किया था, यह क्यों निरस्त कर दिया गया, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि परिवार की हरसंभव मदद की जाएगी।
सं गरिमा
वार्ता
More News
भूमि विवाद में कमी लाने के लिए प्रयास की जरूरत :नीतीश

भूमि विवाद में कमी लाने के लिए प्रयास की जरूरत :नीतीश

26 Sep 2018 | 4:15 PM

पटना 26 सितम्बर (वार्ता) बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कहा कि भूमि संबंधी विवादों में कमी लाने के लिये अधिक प्रयास करने की आवश्यकता है।

 Sharesee more..
राष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिता गुरुवार से

राष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिता गुरुवार से

26 Sep 2018 | 4:06 PM

चितौड़गढ , 26 सितम्बर(वार्ता)राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में पहली बार आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिता (अंडर 23) का आगाज गुरूवार को भव्य समारोह में किया जाएगा। प्रतियोगिता में पुरूषों के साथ महिला पहलवानों की भी अलग अलग कुश्ती होगी।

 Sharesee more..
भाजपा का महाकुंभ फ्लॉप शो : कमलनाथ

भाजपा का महाकुंभ फ्लॉप शो : कमलनाथ

26 Sep 2018 | 4:05 PM

भोपाल, 26 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश भारतीय जनता पार्टी की ओर से राजधानी भोपाल में किए गए कार्यकर्ता महाकुंभ को कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने 'फ्लॉप शो' बताया है।

 Sharesee more..

26 Sep 2018 | 4:00 PM

 Sharesee more..
image