Tuesday, Feb 19 2019 | Time 16:27 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पाकिस्तान जैश पर संयुक्त राष्ट्र की कार्रवाई का विरोध नहीं करे: अमेरिका
  • स्पाइसजेट शुरू करेगी 12 नयी उड़ानें
  • उ न्या ने पूर्व मुख्यमंत्रियों को आजीवन बंगले की सुविधा की समाप्त
  • यूईएम इंडिया बनी तोशिबा वाटर सॉल्यूशंस
  • धोनी-विराट की भिड़ंत से होगी आईपीएल की शुरुआत
  • मुजफ्फरनगर मंडी में गुड़ और चीनी के भाव
  • पेटीएम पेमेंट्स बैंक उपभोक्ता कर सकते हैं म्युचुअल फंड्स में निवेश
  • सिख युवकों की हत्या के जिम्मेवार पुलिस अधिकारियों पर मामला दर्ज किया जाये: बलदेव सिंह
  • झाविमो को सम्मान नहीं मिला तो गठबंधन की होगी हार : बाबूलाल
  • रोजगार को प्राथमिकता देने वाले निवेश को देंगे प्रोत्साहन : कमलनाथ
  • राष्ट्र ध्वज के प्रति प्रतिज्ञा न लेने वाला छात्र गिरफ्तार
  • ए320 विमान पर सफल रहा टैक्सीबोट का परीक्षण
  • चार साल में बदली रेलवे की सूरत और सीरत : मोदी
  • कंफर्मटिकट ऐप अब गूगल प्ले स्टोर इंस्टेंट ऐप के रूप में
राज्य Share

गरीबी के चलते की आत्महत्या

भिंड, 12 सितम्बर (वार्ता) मध्यप्रदेश के भिंड जिले में एक युवक ने कथित तौर पर गरीबी से परेशान होकर आत्महत्या कर ली।
परिजन का आरोप है कि युवक को शहर में पक्का मकान होने के कारण गरीबी रेखा से जुड़ी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा था। उसके पास आजीविका का कोई साधन भी नहीं हेाने से युवक आर्थिक तंगी से परेशान था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजन के सुपुर्द कर दिया है।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि अटेर के किशूपुरा गांव निवासी अनूप सिंह भदौरिया (33) का भिंड शहर के अटेर रोड पर पुश्तैनी मकान है। कल रात अनूप ने अपने ही घर के कमरे में पत्नी की साडी से पंखे से फंदा डालकर आत्महत्या कर ली।
परिजन के मुताबिक अनूप ने कल रात ही अपनी पत्नी नेहा से अपनी आर्थिक परेशानियों के बारे में बात करते समय अपनी हताशा जाहिर की थी। अनूप ने कई बार गरीबी रेखा का राशनकार्ड बनवाने के लिए आवेदन किए थे, लेकिन शहर में मकान होने की वजह से राशनकार्ड नहीं बन पा रहा था। उसके मकान पर बिजली का 80 हजार रुपए का बिल बकाया था। इसे माफ कराने के लिए उसने नगरपालिका असंगठित श्रमिक के रूप में अपना पंजीयन कराया। साथ ही बिजली कंपनी कार्यालय में बिल माफी के लिए आवेदन दिए, लेकिन पिछले दो महीने से उसे यह पता नहीं लग पाया कि उसका बिल माफ हुआ या नहीं। इसी चिंता के चलते उसने फांसी लगा ली।
परिजन का आरोप है कि बस पर क्लीनर की नौकरी करने वाले अनूप के पास ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की फीस नहीं थी और इसलिए उसे कहीं चालक की नौकरी भी नहीं मिल ही थी।
अनुविभागीय अधिकारी राजस्व (एसडीएम) एचबी शर्मा ने पूरे मामले पर कहा कि अनूप ने बीपीएल राशनकार्ड के लिए आवेदन किया था, यह क्यों निरस्त कर दिया गया, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि परिवार की हरसंभव मदद की जाएगी।
सं गरिमा
वार्ता
More News
बेरोजगारी भत्ते को लेकर भाजपा एलं सत्ता पक्ष के सदस्यों में नोकझोंक

बेरोजगारी भत्ते को लेकर भाजपा एलं सत्ता पक्ष के सदस्यों में नोकझोंक

19 Feb 2019 | 4:25 PM

रायपुर 19 फरवरी(वार्ता)छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज भाजपा सदस्यों ने बेरोजगारी भत्ते के चुनावी वादा नही पूरा करने जबकि सत्ता पक्ष के सदस्यों ने मोदी सरकार के दो करोड़ बेरोजगारों को प्रति वर्ष रोजगार देने के वादे को लेकर एक दूसरे पर आरोप लगाए।दोनो के बीच इसे लेकर नोकझोंक भी हुई।

 Sharesee more..
तेलंगाना में मंत्रिमंडल विस्तार, 10 नये मंत्री शामिल

तेलंगाना में मंत्रिमंडल विस्तार, 10 नये मंत्री शामिल

19 Feb 2019 | 4:09 PM

हैदराबाद, 19 फरवरी (वार्ता) तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने दो महीने से अधिक समय से जारी अटकलों पर विराम लगाते हुए मंगलवार को 10 नये मंत्रियों को शामिल कर अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया।

 Sharesee more..

मुजफ्फरनगर मंडी में गुड़ और चीनी के भाव

19 Feb 2019 | 4:08 PM

 Sharesee more..
image