Monday, Jun 24 2019 | Time 19:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मध्यप्रदेश में दो दर्जन आईएएस अधिकारियों के तबादले
  • शामली में तस्कर गिरफ्तार, 20 लाख की शराब बरामद
  • झारखंड निगम विकास परियोजना के लिए 14 7 करोड़ डॉलर का ऋण
  • उत्तराखंड के सात जिलों में भारी वर्षा हाई अलर्ट
  • गुजरात ने जीता व्हीलचेयर प्रीमियर लीग का खिताब
  • क्या भाजपा शासित राज्य में मुस्लिम को पीटा जाना भाजपा का नया भारत है: मुफ्ती
  • विधानसभा चुनाव के मद्देनजर काम कर रहे हैं केजरीवाल: मनोज तिवारी
  • किसान हमारे अन्नदाता और जीवनदाता : बाउरी
  • ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजद विधायक सरोज गये जेल
  • कांग्रेस और राकांपा के उम्मीदवार उप चुनाव में जीते
  • प्राथमिक जांच के बाद मुलायम को अस्पताल से छुट्टी
  • बस्ती के बंजरिया फार्म पर करंट लगने से दो मालियों की मृत्यु
  • परिवहन मंत्री इस्तीफा दें : कुलदीप राठौर
  • खाद्य तेल, दालों, गेहूँ में नरमी
  • बंगलादेश और अफगानिस्तान मैच का स्कोरबोर्ड
राज्य


श्री यादव ने आरोप लगाया कि राशन कार्ड होने के बावजूद दस माह से पीड़ित परिवार को राशन नहीं मिल रहा था। बक्सर जिला प्रशासन के अधिकारियों ने जबरन बच्चियों के माँ से अनाज दिये जाने के पेपर पर अगूंठा का निशान ले लिया । उन्होंने कहा कि इसके जरिये यह दिखाने की कोशिश की गयी कि दस महीने से महिला को राशन मिल रहा था ।
प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि बक्सर जिले में एक वर्ष में केवल 26 परिवार को रोजगार गारंटी योजना के तहत काम मिल सका है । रोजगार गारंटी योजना के तहत बिहार में 3173 लोगों को मात्र काम मिला है । उन्होंने कहा कि मुख्यमत्री श्री कुमार समीक्षा बैठक तो करते हैं लेकिन आज तक यह जानने की कोशिश नहीं की कि भूख से बच्चियों की मौत कैसे हुयी । मुख्यमंत्री की कुर्सी पाने के चक्कर में श्री कुमार ने बिहार को बर्बाद कर दिया है ।
श्री यादव ने कहा कि भूख से मौत की जानकारी मिलने के बाद राज्य सरकार ने अब तक मामले की जांच के लिये न तो कमिटी बनायी और न ही दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की । सही मायने में श्री कुमार की चिंता होने वाले लोकसभा के चुनाव में सीट बटंवारे पर लगी है और वह सीटों की सौदेबाजी में लगे हुए हैं । उन्होंने कहा कि सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइेटड के नेता प्रदेश में अपराध बढ़ा रहे हैं और उन्हें मुख्यमंत्री का संरक्षण प्राप्त है । ऐसे में बिहार पुलिस कैसे कार्रवाई कर सकती है । उन्होंने कहा कि मधुबनी और मुजफ्फरपुर जिले के अल्पावास गृह मामले में सरकार ने अब तक कौन सी कार्रवाई की है उसे यह बताना चाहिए।
उपाध्याय शिवा रमेश
वार्ता
More News
मन, बुद्धि एवं संस्कारों को सात्विक बनाने के लिए सत्संग जरूरी-निर्मला

मन, बुद्धि एवं संस्कारों को सात्विक बनाने के लिए सत्संग जरूरी-निर्मला

24 Jun 2019 | 7:50 PM

माउंटआबू 24 जून (वार्ता) प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की निदेशिका राजयोगिनी डॉ. निर्मला ने कहा हैं कि मन, बुद्धि एवं संस्कारों को सात्विक बनाने के लिए सत्संग जरूरी है।

see more..
केंद्र और नीतीश सरकार एईएस से बच्चों की मौत रोकने में विफल - भाकपा

केंद्र और नीतीश सरकार एईएस से बच्चों की मौत रोकने में विफल - भाकपा

24 Jun 2019 | 7:50 PM

पटना 24 जून(वार्ता) भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) ने मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से बच्चों की हो रही मौत को रोकने में केन्द्र तथा राज्य सरकार को पूरी तरह से विफल बताया और दोनों सरकारों से पीड़ित बच्चो के पुनर्वास की व्यापक योजना बनाने की मांग की।

see more..
image