Saturday, Sep 22 2018 | Time 15:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • किसी का दबाव नहीं, खुद चुना रिलायंस को : डसाल्ट
  • डोडा में सड़क हादसे में चार मरे, नौ घायल
  • मकान की छत ठहने से दो लोगों की मौत, चार घायल
  • हिमाचल में टैक्सी खाई में गिरी, सभी 13 लोगों की मौत
  • श्रीनगर के कुछ हिस्सों में लगे प्रतिबंध हटे
  • सर्जिकल स्ट्राइक दिवस से संबंधित परिपत्र वापस हो: माकपा
  • पश्चिमी तट पर बनेगा दूसरा उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र
  • ईरान में सैन्य परेड के दौरान आतंकवादी हमले नौ मरे
  • मोदी ने सेनाओं पर की सर्जिकल स्ट्राइक : राहुल
  • बिंदास अदाओं से दीवाना बनाया तनुजा ने
  • रणवीर सिंह होंगे सबसे बड़े सुपरस्टार : रोहित शेट्टी
  • मोदी ने तलचर उर्वरक संयंत्र की नींव रखी
  • अभिनेत्रियों की फिल्में 500 करोड़ नहीं कमा सकतीं : काजोल
  • रणबीर को बेस्ट एक्टर मानती हैं करीना
  • छत्रपति शिवाजी महाराज पर फिल्म बनायेंगे रोहित शेट्टी
राज्य Share

नोटबंदी के समय किए गए दावे पूरे नहीं हुए:दिग्विजय

नोटबंदी के समय किए गए दावे पूरे नहीं हुए:दिग्विजय

मथुरा,12 सितंबर (वार्ता) मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि नोटबंदी के समय किये गए दावों में से एक भी दावा पूरा नही हुआ है।

श्री सिहं बुधवार को वृन्दावन में पत्रकारो से कहा कि नोटबंदी के समय यह दावा किया गया था कि इससे काला धन वापस आएगा तथा नकली नोट चलन से बाहर हो जाएंगे। यह भी दावा किया गया था कि इससे भ्रष्टाचार समाप्त हो जाएगा तथा आतंकवाद का खात्मा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इन दावों में से कोई दावा पूरा नही हुआ है उल्टे जनता को नोटबंदी से परेशानियों का सामना करना पड़ा है।

राफेल डील में किये गए घपले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों की परंपरा रही है कि रक्षा समझौते में लागत या कीमत का खुलासा किया जाता रहा है,लेकिन इस सरकार ने सुरक्षा का बहाना लेकर कीमतों का खुलासा नही किया है। उन्होंने कहा कि फ्रांस से हुई इस डील में उन नियमों का पालन नही किया गया जो रक्षा समझौते के लिए आवश्यक हैं। इस डील में वित मंत्रालय से रक्षा सौदे में राफेल फाइटर जेट की कीमत के बारे में हुए निगोशिएशन के बारे में स्वीकृति नहीं ली गई और ना ही इस करार पर हस्ताक्षर करने के पहले कैबिनेट कमेटी की स्वीकृति ही ली गई।

श्री सिहं ने कहा कि राफेल फाइटर जेट की कीमत के बारे जिस प्रकार मंत्रियों के अलग अलग बयान आए है उससे भी स्पष्ट होता है कि कहीं दाल में काला है। जहां मोदी सरकार का मंत्री संसद में इस सौदे की कीमत 670 करोड़ प्रति एयरक्राफ्ट बताता है वहीं डिफेन्स मिनिस्टर 36 फाइटर जेट 90 हजार करोड़ में खरीदे बताए और एविएशन की वार्षिक जनरल रिपोर्ट के अनुसार प्रति एयरक्राफ्ट की कीमत 1350 करोड़ है।

उन्होेंने कहा कि इस पर किसी प्रकार का स्पष्टीकरण प्रधानमंत्री या रक्षामंत्री की ओर से नही आया है उससे यह साबित होता है कि इसमें कहीं न कहीं घपला हुआ है तथा भारी भ्रष्टाचार हुआ है। उनका आरोप था कि इन्होंने एक एक हजार करोड़ की कमाई की है।

सं तेज

जारी वार्ता

More News
26 करोड की परियोजना से होगा कबरई में पेयजल का समाधान

26 करोड की परियोजना से होगा कबरई में पेयजल का समाधान

22 Sep 2018 | 3:19 PM

महोबा 22 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश में महोबा के कबरई में पेयजल समस्या के समाधान के लिए सरकार ने 26 करोड़ की पेयजल परियोजना को स्वीकृति प्रदान की है।

 Sharesee more..

डोडा में सड़क हादसे में चार मरे, नौ घायल

22 Sep 2018 | 3:09 PM

 Sharesee more..

मकान की छत ठहने से दो लोगों की मौत, चार घायल

22 Sep 2018 | 3:06 PM

 Sharesee more..
image