Sunday, Dec 16 2018 | Time 05:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सोमालिया में अमेरिकी हमले में अल-शबाब के आठ आतंकवादी ढेर
  • ट्रक से कुचलकर सगे भाइयों की मौत
राज्य Share

नोटबंदी के समय किए गए दावे पूरे नहीं हुए:दिग्विजय

नोटबंदी के समय किए गए दावे पूरे नहीं हुए:दिग्विजय

मथुरा,12 सितंबर (वार्ता) मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि नोटबंदी के समय किये गए दावों में से एक भी दावा पूरा नही हुआ है।

श्री सिहं बुधवार को वृन्दावन में पत्रकारो से कहा कि नोटबंदी के समय यह दावा किया गया था कि इससे काला धन वापस आएगा तथा नकली नोट चलन से बाहर हो जाएंगे। यह भी दावा किया गया था कि इससे भ्रष्टाचार समाप्त हो जाएगा तथा आतंकवाद का खात्मा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इन दावों में से कोई दावा पूरा नही हुआ है उल्टे जनता को नोटबंदी से परेशानियों का सामना करना पड़ा है।

राफेल डील में किये गए घपले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों की परंपरा रही है कि रक्षा समझौते में लागत या कीमत का खुलासा किया जाता रहा है,लेकिन इस सरकार ने सुरक्षा का बहाना लेकर कीमतों का खुलासा नही किया है। उन्होंने कहा कि फ्रांस से हुई इस डील में उन नियमों का पालन नही किया गया जो रक्षा समझौते के लिए आवश्यक हैं। इस डील में वित मंत्रालय से रक्षा सौदे में राफेल फाइटर जेट की कीमत के बारे में हुए निगोशिएशन के बारे में स्वीकृति नहीं ली गई और ना ही इस करार पर हस्ताक्षर करने के पहले कैबिनेट कमेटी की स्वीकृति ही ली गई।

श्री सिहं ने कहा कि राफेल फाइटर जेट की कीमत के बारे जिस प्रकार मंत्रियों के अलग अलग बयान आए है उससे भी स्पष्ट होता है कि कहीं दाल में काला है। जहां मोदी सरकार का मंत्री संसद में इस सौदे की कीमत 670 करोड़ प्रति एयरक्राफ्ट बताता है वहीं डिफेन्स मिनिस्टर 36 फाइटर जेट 90 हजार करोड़ में खरीदे बताए और एविएशन की वार्षिक जनरल रिपोर्ट के अनुसार प्रति एयरक्राफ्ट की कीमत 1350 करोड़ है।

उन्होेंने कहा कि इस पर किसी प्रकार का स्पष्टीकरण प्रधानमंत्री या रक्षामंत्री की ओर से नही आया है उससे यह साबित होता है कि इसमें कहीं न कहीं घपला हुआ है तथा भारी भ्रष्टाचार हुआ है। उनका आरोप था कि इन्होंने एक एक हजार करोड़ की कमाई की है।

सं तेज

जारी वार्ता

image