Saturday, Jul 20 2019 | Time 09:20 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रूस सुनिश्चित करे कि ईरान इसके नागरिकों के अधिकारों का सम्मान करे: कोसाचेव
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 21 जुलाई)
  • विदेश सचिव ने टैंकर जब्त करने को लेकर आपात बैठक बुलाई
  • चीन के गैस फैक्ट्री में विस्फोट,10 की मौत,19 घायल
  • अमेरिकी सेना की मेजबानी करने को तैयार सऊदी किंग
  • हंट ने ईरान को टैंकर मामले पर चेताया
  • आतंकवादी ने किया पुलिस टीम पर हमला, एक की मौत
  • अदालत से सम्मन मिलने के बाद कोसोवो के प्रधानमंत्री ने इस्तीफा दिया
  • बिना शर्त ईरान से बातचीत को तैयार : पोंपियो
  • चुनाव से पहले विपक्ष के कई नेता भाजपा में आएंगे : पाटिल
राज्य


डॉक्टर की हत्या में आरोपी बेटी को मिली जमानत

जबलपुर, 12 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के जबलपुर के ओमती थानान्तर्गत कृतिका अपार्टमेंट निवासी डॉ सफातउल्लाह बहुचर्चित हत्याकांड में आरोपी बनाई गई बेटी को आज जमानत मिल गई है। ओमती पुलिस ने बेटी को घटना के 75 दिन बाद आरोपी बनाया था और उसे न्यायालय से आठ दिनों में जमानत का लाभ मिल गया।
डॉ सफातउल्लाह खान की 12 जून 2018 की शाम घर में घुसकर बेरहमी से हत्या कर दी गयी थी। पुलिस ने विवेचना के बाद डॉक्टर की पत्नी आयशा खान, उसकी भतीजी नंदनी उर्फ जन्नत, भतीजी के प्रेमी धीरज और राजेन्द्र को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद आयशा ने अपने पति को अय्याश बताते हुए उसके द्वारा कई महिलाओं की जिन्दगी बर्बाद करने की बात कही थी। आयशा ने यह भी बताया था कि पति ने उसकी भतीजी नंदनी का 10 वर्ष की आयु में दैहिक शोषण किया था और अपनी ही बेटी पर भी गलत नजर रखता था। बेटी को बचाने के लिए उसने अपने पति के हत्या का षड्यंत्र रचा था।
ओमती पुलिस ने इस हत्याकांड के 75 दिन बाद 4 सितंबर को उसकी बेटी शैफिजा को आरोपी बनाया था। जेल में निरुद्ध शैफिजा की तरफ से जिला न्यायालय में जमानत आवेदन दायर किया गया। याचिकाकर्ता की तरफ से पैरवी करते हुए अधिवक्ता घनश्याम पांडे ने न्यायालय को बताया कि पुलिस ने सिर्फ इस आधार पर शैफिजा को आरोपी बनाया है कि वह नंदिनी उर्फ जन्नत से बात करती थी और घटना के समय दूसरे कमरे में होने के कारण उसने आरोपियों की बात सुनी थी। हत्या के अन्य अभियुक्त ने अपने मैमोरेण्डम में याचिकाकर्ता की संलिप्तता का उल्लेख नहीं किया है।
प्रकरण की सुनवाई के बाद अतिरिक्त जिला एव सत्र न्यायाधिश अखिलेश शुक्ला ने याचिकाकर्ता को जमानत का लाभ प्रदान किया।
सं सुधीर
वार्ता
image