Wednesday, Nov 13 2019 | Time 03:02 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • संयुक्त राष्ट्र ने गाजा पट्टी की स्थिति पर जतायी चिंता
  • इजरायल ने दक्षिणी गाजा में घोषित की 48 घंटे की आपातकाल
  • ट्रम्प- मैक्रों ने सीरिया के मुद्दे पर समन्वय को जारी रखने पर जतायी सहमति
  • डोडा में दर्दनाक सड़क दुर्घटना, 16 लोगों की मौत
राज्य


“पूनम नी प्यारी-प्यारी रात” रास-गरबा की धूम गुजरात में

अहमदाबाद, 13 अक्टूबर (वार्ता) शरद पूर्णिमा के अवसर पर गुजरात में रविवार को “पूनम नी प्यारी-प्यारी रात, मारी प्रीतम साथे छे मुलाकात, आज तू ना जाती” की धूम के साथ रास-गरबा का उल्लास जोरों पर है।
राज्य के अहमदाबाद, राजकोट, जामनगर, सूरत सहित सभी शहरों में शरद पूर्णिमा पर मंदिरों में दिनभर भजन कीर्तन, सुंदरकांड और हनुमान चालिसा के पाठ और रात को रास गरबा, रासोत्सव के आयोजन भी किए गए हैं।
प्राचीन लोककथा के अनुसार श्रीकृष्ण राधा रानी और अन्य सखियों के साथ आज की रात महारास रचाते हैं। तब चंद्रमा आसमान से रास देखकर भाव-विभोर हो जाता है और अपनी शीतलता के साथ पृथ्वी पर अमृत की वर्षा शुरू कर देता है। इसीलिए राज्यभर में भक्तगण शरद पूर्णिमा की शीतल चांदनी में दूध-पौंआ, दूध-चावल, बादाम से बनी खीर और घी में काली मिर्च मिलाकर खुले आसमान के नीचे रातभर रखकर उसमें ओंस की बूंदों को अमृत के रूप में बटोरेंगे और सुबह प्रसाद के रूप में इस खीर का वितरण करेंगे। माना जाता है कि अगले दिन सुबह खाली पेट यह खीर खाने से सभी रोग दूर होते हैं, शरीर निरोगी होता है। ज्येष्ठ, आषाढ़, सावन और भाद्रपद मास में शरीर में पित्त का जो संचय हो जाता है। शरद पूर्णिमा की शीतल चांदनी में रखी खीर खाने से पित्त बाहर निकलता है।
अनिल, टंडन
वार्ता
More News
सरकारी दबाव के जरिए निकायों पर कब्जा करना चाहती है कांग्रेस-चतुर्वेदी

सरकारी दबाव के जरिए निकायों पर कब्जा करना चाहती है कांग्रेस-चतुर्वेदी

12 Nov 2019 | 11:15 PM

जयपुर, 12 नवम्बर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. अरूण चतुर्वेदी ने कहा है कि कांग्रेस लोकतांत्रिक तरीके से नहीं बल्कि सरकारी दबाव के जरिए निकायों पर कब्जा करना चाहती है।

see more..
महाराष्ट्र में न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाकर बनेगी सरकार

महाराष्ट्र में न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाकर बनेगी सरकार

12 Nov 2019 | 10:54 PM

जयपुर 12 नवंबर (वार्ता) महाराष्ट्र में कांग्रेस, शिव सेना और राष्ट्रवादी कांग्रेेस पार्टी (राकांपा) तीनों मिलकर सरकार बनायेंगे और न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाकर सरकार का गठन किया जायेगा।

see more..
image