Tuesday, Sep 18 2018 | Time 20:43 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • संविधान सर्वोच्च, ‘हिन्दू राष्ट्र’ में मुसलमानों की भी जगह : भागवत
  • पंजाब की 22 जिला परिषदों, 150 पंचायत समितियों के चुनाव कल
  • झारखंड की स्वास्थ्य परियोजनाओं को मिलेगा पूर्ण सहयोग : नड्डा
  • अवैध हथियार की आपूर्ति करने वाला सरगना गिरफ्तार
  • इंफोसिस को पूर्व सीएफओ को 12 करोड़ देने का निर्देश
  • पेंशनभोगियों की सहूलियत के लिए किये गये अनेक सुधार : जितेंद्र
  • मैडम तुसाद में सनी लियोन ने अपने पुतले का किया अनावरण
  • खालसा कालेज ने क्रास कंट्री में हासिल किया पहला स्थान
  • तारांकित प्रश्नों का निर्धारित अवधि से पहले ही उत्तर देकर फिर रचा इतिहास
  • आठ संसदीय समितियों का पुनर्गठन
  • राजस्थान में सरकारी निधि से हो रही हैं भाजपा के कार्यक्रम : गहलोत
  • किसी गैरकानूनी तौर तरीके में हमारा कोई विश्वास नहीं: डेरा सच्चा सौदा
  • राज्यसभा की आठ समितियों का पुनर्गठन
  • फोटो कैप्शन-पहला सेट
  • अवाना ने जूनियर चयनकर्ता पद छोड़ा, रणजी गेंदबाजी कोच बने
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

योगी के बयान से नाराज कांग्रेसियों ने दूसरे दिन भी सदन में बांधी काली पट्टी

लखनऊ, 31 अगस्त (वार्ता) उत्तर प्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बुधवार को दिये गये बयान को लेकर कांग्रेस के सदस्याें ने लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी सदन की कार्यवाही में काली पट्टी बांध कर विरोध जताया।
प्रश्नकाल के दौरान काली पट्टी बांधे कांग्रेस विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने कहा कि विपक्षी दलों के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की असंसदीय टिप्पणी को जब तक सदन की कार्यवाही से बाहर नही कर दिया जाता, उनकी पार्टी का विरोध जारी रहेगा। विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने इस मामले में अपना फैसला सुरक्षित रखा है।
इस बारे में संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा “ यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि सदन में सदस्य काली पट्टी बांध कर आ रहे हैं। पिछली सरकार के कार्यकाल के दौरान हमे ‘चिंपाजी’ और वनमानुष तक कहा गया था लेकिन हमने कभी इसका विरोध नही किया और ना ही हम सदन में काली पट्टी बांध कर आये। ”
विपक्ष के नेता रामगोविंद चौधरी ने कहा कि सदन के नेता का वक्तव्य असंसदीय था और इससे पहले कभी भी सदन में इस तरह की अभद्र भाषा का प्रयोग किसी नेता ने नही किया।
गौरतलब है कि बुधवार को अनुपूरक बजट को लेकर सरकार का पक्ष रखने के दौरान विपक्ष के वाकआउट से खफा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष को लेकर सांप और नेवला का उदाहरण दिया था जिसे लेकर गुरूवार को विपक्ष ने सदन में जमकर हंगामा किया था और मुख्यमंत्री के बयान को सदन की कार्यवाही से हटाने की मांग पर बांह पर काली पट्टी बांधी थी।
प्रदीप तेज
वार्ता
image