Tuesday, Sep 25 2018 | Time 20:10 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आगे आगे देखिये कैसे खुलती है भाजपा के भ्रष्टाचार की पोल:राहुल
  • विश्वास मत साबित नहीं कर पाए स्वीडन के प्रधानमंत्री
  • धोनी का कप्तानी में 200 वां मैच
  • उच्च न्यायालय ने किन्नरों के पुनर्वास के संबंध में सरकार से मांगा जवाब
  • जापान ने बुलेट ट्रेन के लिए दिये 10 अरब येन -रेलवे
  • राजस्थान की पहली पुष्प मंडी का लोकार्पण
  • भूपेश का जेल में सत्याग्रह नहीं,बल्कि ‘सत्ताग्रह’ - भाजपा
  • पेट्रोल-डीज़ल कीमतों में समानता पर उत्तरी राज्य सहमत
  • स्वार्थी राजनीतिग्य फैला रहे हैं सांप्रदायिकता का जहर: मनमोहन
  • जेटली ने लांच किया जनधन दर्शक ऐप
  • जर्मनी ने ईयू और भारत के बीच एफटीए पर दिया जोर
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

राजनीति शर्मा राफेल तीन अंतिम लखनऊ

कांग्रेसी नेता ने कहा कि इसी साल 12 फरवरी को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि कोई भी आफसेट कांट्रेक्ट नही दिया गया है। रक्षा मंत्री का यह बयान रिलायंस की प्रेस विज्ञप्ति और इंवेस्टर प्रेजेंटेशन के अलावा डसाल्ट एवियेशन की वार्षिक रिपोर्ट से झूठा साबित होता है।
उन्होने कहा कि फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोरेंस पार्ले ने 27 अक्टूबर 2017 को दिल्ली में श्रीमती सीतारमण से मुलाकात की और उसी रोज दोपहर में नागपुर में आफसेट के क्रियान्वयन के लिये रिलायंस फैक्ट्री की नींव रखी। इस मौके पर श्री नितिन गडकरी और श्री देवेन्द्र फडनवीस के अलावा श्री अनिल अंबानी मौजूद थे।
श्री शर्मा ने कहा कि देश हित से जुडे इस मामले की जांच संयुक्त ससंदीय समिति से करायी जानी चाहिये ताकि जनता को इस सौदे का सच पता चल सके। उन्होने कहा कि यदि सरकार विपक्ष की इस मांग को ठुकराती है तो अगले साल चुनाव के दौरान यह मामला जनता की अदालत में ले जाया जायेगा जो भाजपा को उसकी असली जगह दिखाने को तैयार है।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मानसरोवर यात्रा के सवाल पर श्री शर्मा ने कहा कि श्री गांधी मानसरोवर किस मार्ग से जाते है, उसके लिये सरकार से निर्देश लेने की जरूरत नही है। हर श्रद्धालु यह फैसला लेने के लिये स्वतंत्र है। अपने निजी जीवन में अाम भारतीय की तरह कांग्रेसी भी अपने धर्म का अनुसरण करते है लेकिन राजनीतिक जीवन में हर कांग्रेसी का धर्म सिर्फ और सिर्फ संविधान होता है।
प्रदीप तेज
वार्ता
image