Thursday, Sep 20 2018 | Time 12:55 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • स्कूल बस और कार की टक्कर में दोनों चालक घायल
  • बंद रहे शेयर और मुद्रा बाजार
  • कांग्रेस का आचरण लोकतंत्र के लिए शुभ नहीं : शिवराज
  • गुलशन कुमार का किरदार निभायेंगे आमिर खान
  • गुलशन कुमार का किरदार निभायेंगे आमिर खान
  • बत्ती गुल मीटर चालू की स्क्रिप्ट से बेहद प्रभावित हुये शाहिद कपूर
  • पाकिस्तान के साथ संबंध प्रगाढ़ : जिनपिंग
  • बत्ती गुल मीटर चालू की स्क्रिप्ट से बेहद प्रभावित हुये शाहिद कपूर
  • शरद ने सफाई कर्मचारियों की मौत पर उठाये सवाल
  • भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष ताराचंद बड़जात्या
  • भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष ताराचंद बड़जात्या
  • लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी
  • लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी
  • गोंडा में दो वाहनों की टक्कर चार मरे 12 घायल
  • दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी करीना ने
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

उत्तर प्रदेश-योगी विकास दो मथुरा

मुख्यमंत्री ने कहा कि जन्माष्टमी के मौके पर यहां के प्रमुख प्रवेश मार्गो पर विशेष प्रकाश की जो व्यवस्था की गई है अब वह वर्ष पर्यन्त जारी रहेगी ,जिससे यहां आने वाले तीर्थयात्रियों को यह लगे कि वह किसी तीर्थस्थल पर आया है। उन्होंने कहा कि अगले चरण में अयोध्या , वाराणासी , और फिर कुभ में इलाहाबाद में भी इसी प्रकार की रोशनी की जाएगी।
उन्होंने कहा कि गायों को सड़क पर आवारा घूमने और प्लास्टिक खाने से रोकने के लिए राज्य के प्रत्येक नगर निगम में हर पशु पक्षी, गाय, कुत्तों एवं बंदर आदि के लिए विशेष व्यवस्था की जा रही है। उनका कहना था कि गायों , को सड़कों पर न छोंड़े तथा इस कार्य को मानव संवेदना से जोड़े।
यमुना शुद्धीकरण की दिशा में किये जा रहे प्रयासों का जिक्र करते हुए श्री योगी ने कहा कि ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि मथुरा में यमुना में एक भी नाला न गिरे। उनका कहना था कि भारत सरकार से दिल्ली में यमुना को शुद्ध करने के लिए प्रयास करने का अनुरोध किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद का गठन मथुरा के तीर्थस्थलों के विकास , 84 कोस की परिक्रमा के सुधार एवं तीर्थस्थलों में मांस एवं मंदिरा की बिक्री को रोकने आदि के लिए किया गया है। गोवर्धन के विकास के लिए प्रसाद योजना में भारत सरकार से 50 करोड़ की धनराशि मिली है । उन्होंने घोषणा की बरसाना में रोप वे का निर्माण अगले महीने से शुरू हो जाएगा। उन्होंने शरद उत्सव को एक माह तक चलाने और महारास करने के लिए भी निर्देश दिया। उनका कहना था कि दस एकड़ भूमि संतों की समाधि के लिए तथा दस एकड़ भूमि गायों की समाधि के लिए आवंटित की गई है।
सं त्यागी
जारी वार्ता
image