Wednesday, Sep 26 2018 | Time 16:39 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विकासशील देशों की मांग से वैश्विक स्तर पर कीमतों में मजबूती
  • महिलाओं के स्वामित्व वाली संपत्तियों पर स्टाम्प ड्यूटी हटाना उत्साहजनक: महबूबा
  • एशियन चैंपिंयस ट्रॉफी में मनप्रीत को कप्तानी
  • राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति 2018 मंजूर
  • सावधान, कांटेक्ट लेंस लगाने से जा सकती है रोशनी
  • निजी फायनांस कंपनी से सात लाख की लूट
  • न्यायालय के निर्णय से आधार की उपयोगिता हुई प्रमाणित: जेटली
  • गांधी जयंती पर वर्धा में होगी कांग्रेस कार्य समिति की बैठक
  • परिवार को खबर नहीं, यशपाल बन गया मिक्स्ड मार्शल का हीरो
  • चीनी मिलों को फिर मिला 5538 रुपये का पैकेज
  • भूमि विवाद में कमी लाने के लिए प्रयास की जरूरत :नीतीश
  • जीएसटीएन पूरी तरह से सरकारी कंपनी होगी
  • सायना और परूपल्ली करेंगे विवाह
  • चीनी मिलाें के लिए 5538 करोड़ रुपये के पैकेज को मंजूरी
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

उत्तर प्रदेश-योगी विकास तीन अंतिम मथुरा

इस मौके पर प्रदेश की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि यह कार्यक्रम पर्यटन विभाग एवं ब्रज तीर्थ विकास के सहयोग से उत्तर प्रदेश को पर्यटन के क्षेत्र में प्रथम स्थान दिलाने के लिए आयोजित किया गया है । उनका कहना था कि वृन्दावन की माटी माथे पर लगाकर व्यक्ति तर जाता है। ब्रजभूमि राधाकृष्ण की लीलाओं के कारण आस्था का केन्द्र बनी हैं।
उन्होंने कहा कि ब्रज क्षेत्र की संस्कृति के संरक्षण और संवर्धन का कार्य संत हरिदास, चैतन्य महाप्रभु, बल्लभाचार्य आदि ने किया । आज भी संत इस कार्य को कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने तीर्थस्थलों के विकास की जो योजना शुरू की उसका असर तीन साल में दिखाई पड़ेगा।
इस अवसर पर पदेश के डेयरी, अल्पसंख्यक कल्याण, संस्कृति मंत्री लक्ष्मीनारायण चौधरी एवं प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने मुख्यमंत्री द्वारा ब्रज के विकास के लिए प्रारंभ की गई योजनाओं के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते हुए कहा कि जो कार्य इस दिशा में योगी ने किया है उसे आजादी के बाद किसी ने नहीं किया।
उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्र ने प्रथम चरण में ली गई योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी और जनता से अनुरोध किया कि जहां पर भी उन्हें लगे कि काम गड़बड़ हो रहा है वहां पर वे उन्हें अवश्य बताएं ,क्योंकि उनका संकल्प है कि विकास के लिए आया एक एक रूपया सही तरीके से लगना चाहिए।
इसके पहले श्री योगी ने वृन्दावन में बने 1000 बस्तरों की क्षमता के आश्रय सदन कृष्ण कुटीर का जहां लोकार्पण किया वहीं उन्हें आश्रय सदन में रह रही विधवाओं ने ब्रज तत्व के पंच तत्वों से बनी ब्रजगंधा अगरबत्ती बनाकर भेंट किया।
सं त्यागी
वार्ता
image