Wednesday, Sep 19 2018 | Time 16:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सबसे तेज 50 विकेटों में दूसरे नंबर पर पहुंचे कुलदीप
  • सबसे तेज 50 विकेटों में दूसरे नंबर पर पहुंचे कुलदीप
  • नवाज, बेटी मरियम और दामाद की सजा स्थगित
  • तीन तलाक को ‘राजनीतिक फुटलबाल’ बना रही है मोदी सरकार : कांग्रेस
  • सोना ढाई महीने के उच्चतम स्तर पर, चाँदी 300 रुपये चमकी
  • इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, उनकी बेटी मरियम और दामाद की सजा स्थगित की।
  • शिखर ने गेंदबाजों को दिया जीत का श्रेय
  • शिखर ने गेंदबाजों को दिया जीत का श्रेय
  • रुपए की चढ़ती कीमतों का असर स्थानीय स्वर्ण बाजार पर नहीं
  • हरियाणा में 194 सरकारी और निजी अस्पताल आयुष्मान योजना के पैनल पर
  • गुजरात में अंबाजी का विख्यात भादरवि पूनम मेला शुरू
  • सड़क हादसे में प्रखंड कर्मचारी की मौत
  • रुपये की संदर्भ दर
  • मोदी द्वारका में विश्व स्तरीय सम्मेलन केन्द्र की अाधारशिला रखेंगे
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

मौसम बारिश झांसी दो अंतिम झांसी

झांसी जिले में लगातार बारिश होने से शहरी और ग्रामीण इलाके जलमग्न होने लगे हैं। चारों ओर बस पानी-पानी ही नजर आने लगा है। शनिवार की सुबह जैसे ही लोगों ने अपनी आंख खोली तो बारिश नजर आई। लगातार बारिश होने सेे स्कूल और घरों में पानी भरने लगा है। निचले इलाकों का बुरा हाल हो गया है यहां रहने वाले लोग पानी में घुसकर निकलकर काम पर पहुंचे।
झांसी के निकट मऊरानीपुर की सुखनई नदी जो विगत कई वर्षों से सूखी पड़ी थी। शनिवार की सुबह उसमे पानी का तेज वहाब देखने को मिला साथ ही मऊरानीपुर झांसी मार्ग को जोड़ने वाले पुरानी मऊ के पुल के ऊपर से पानी बहने लगा , जिससे लोगो का पुल से निकलना भी मुश्किल हो गया। परवारीपुरा स्थित जहूर बक्स पुत्र मुन्ना खा ,मुन्नी देवी पत्नी मुरली मनोहर ,चम्पा श्रीवास पत्नी जुगल किशोर,कल्लू यादव पुत्र गोरेलाल के मकानों में नाले का पानी भर जाने से घर गृहस्थी का सामान खराब हो गया तो दूसरे ओर कई कच्चे मकान धरासायी भी हो गए। लगातार बरसात में अधिकतर लोगों ने जागते हुए रात बिताई। ग्रामीण क्षेत्रो में भी पानी की समस्या से ग्रामीणों व स्कूली बच्चों का जन जीवन अस्त व्यस्त रहा।
मऊरानीपुर के खरकासानी ,धवाकर, खकौरा, रूपा घमना,सहित अन्य सरकारी विद्यालयों में पानी के भराव के कारण बच्चो को स्कूल जाने में काफी परेशानी झेलनी पड़ी। रेवन, ककवारा,बुढाई, बचेरा,टपरियन आदि गांवों में जल भराव के कारण लोगो के कच्चे मकान धराशायी हो गए।
उक्त सम्बन्ध में उपजिलाधाकारी सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि प्रशासन बारिश से हुई समस्याओ से निपटने का प्रयास कर रहा है। जिन लोगो के मकान गिर गए है उनका स्थलीय निरीक्षण करवाया जायेगा उन्हें मदद दिलाई जाएगी।
झांसी की गरौठा और टहरौली तहसीलों में भी बारिश के कारण हालात बेहद खराब हो गये हैं। गरौठा तहसील के बामौर में कई घरों में घुटने तक पानी भर गया। बामौर-खडैनी-गढवई मार्ग बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो जाने से यातायात पूरी तरह बंद हो गया। स्कलों और कॉलेज में पानी भर गया। बस स्टैंड जलाश्य बन गये । बिजली घर में भी पानी घुस जाने से क्षेत्र की बिजली आपूर्ति बाधित हो गयी। यहां देवरा बुजुर्ग गांव में ससोर नाले मे बाढ ने गांव को एक टापू में बदल दिया। ्गोती में भी हालात बेहद खराब हैं और कई कच्चे मकान गिर गये हैं।
सोनिया भंडारी
वार्ता
image