Friday, Sep 21 2018 | Time 15:44 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मणिपुर विवि से पांच प्रोफेसर और 100 से अधिक छात्र गिरफ्तार
  • पुलिसकर्मियों की हत्या आतंकवादियों की हताशा का नतीजा: मलिक
  • विश्व में सभी के लिए मानवाधिकारों को बढ़ावा देने की जरुरत: गुटेरेस
  • छोटे प्रक्षेपण यान बनाने के लिए सामने आये निजी क्षेत्र : एंट्रिक्स अधिकारी
  • गडकरी करेंगे पूर्वाेत्तर में राजमार्ग परियोजाओं की समीक्षा
  • सेंसेक्स ने लगाया 1128 अंकों का गोता;निफ्टी 368 अंक टूटा
  • सोमेंद्रनाथ मित्र बने पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष
  • एनटीपीसी कर्मियों ने महाप्रबंधक को किया घेराव
  • सर्जिकल स्ट्राइक दिवस मनाना राजनीतिकरण करना नहीं: जावड़ेकर
  • रामकृष्णा इलेक्ट्रो ने पेश किया नाविक आधारित मॉड्यूल ‘यूट्रैक’
  • तंजानिया नौका हादसे में मृतकों की संख्या 86 हुई
  • सोना तीन माह के उच्चतम स्तर पर ;चांदी 20 रुपये सस्ती
  • पाकिस्तान ही नहीं अफगानिस्तान पर भी नजर रखिये: द्रविड़
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

उत्तर प्रदेश-किसान यात्रा दाो अंतिम लखनऊ

श्री टिकैत ने किसानों एवं युवाओं से आह्वान किया है कि अधिक से अधिक संख्या में यात्रा में शामिल होकर समस्याओं के समाधान तक दिल्ली में तब तक डंटें रहें जब तक सरकार आपकी समस्याओं का समाधान नहीं कर देती।
उन्होंने बताया कि किसान क्रान्ति यात्रा का आयोजन दस मुद्दों को लेकर किया जा रहा है। प्रमुख मुद्दों में
किसानों की सभी फसलों का (फल, सब्जियां और दूध) वैधानिक उचित और लाभकारी न्यूनतम समर्थन मूल्य डा. स्वामीनाथन द्वारा सुझाये गये फार्मूले के अनुसार, कृषि विश्वविद्यालय की वास्तविक लागत के आधार पर तय किया जाए और उस पर कम से कम 50 प्रतिशम लाभ जोड़कर समर्थन मूल्य घोषित किया जाए । साथ ही साथ यह भी सुनिश्चित किया जाए कि मंडी में गुणवत्ता मापदंड के उत्पादन का भाव किसी भी कीमत पर समर्थन मूल्य से कम न हो। ऐसा न होने पर दंड का प्रावधान किया जाए। सभी फसलों की शत-प्रतिशत सरकारी खरीद की गारंटी दी जाए।
श्री टिकैत ने कहा कि इसके अलावा किसानों के सभी तरह के कर्ज माफ किये जाएं। देश के किसानों पर लगभग 80 प्रतिशत कर्ज राष्ट्रीयकृत बैंकों का है। पिछले 10 वर्षों में खेती में हो रहे नुकसान के कारण सरकारी रिकार्ड के अनुसार तीन लाख से अधिक किसानों ने आत्महत्या की है। आत्महत्या करने वाले किसानों के परिवार का पुनर्वास करते हुए परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए।
उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में बदलाव मांग करते हुए प्रत्येक किसान को ईकाई मानकर सभी फसलों में स्वैच्छिक रूप से लागू किया जाए। इसके साथ किसानों की न्यूनतम आमदनी सुनिश्चित की जाए। लघु एवं सीमान्त किसानों को 60 वर्ष की आयु के बाद कम से कम 5000 रुपये मासिक पेंशन दी जाए। देश में आवारा पशुओं जैसे नीलगाय , जंगली सुअर आदि जानवरों से सुरक्षा के लिए क्षेत्रीय स्तर पर कार्य योजना बनाई जाए। उत्तर प्रदेश के बुन्देलखण्ड में अन्ना प्रथा पर रोक लगाई जाए।
श्री टिकैत ने कहा कि किसानों का बकाया गन्ना भुगतान ब्याज सहित अविलम्ब कराया जाए। साथ सिंचाई के लिए नलकूप की बिजली निःशुल्क उपलब्ध कराई जाए। राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण द्वारा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 10 वर्ष से अधिक डीजल वाहनों के संचालन पर लगाई गई रोक से किसानों के ट्रैक्टर, पम्पिंग सैट, कृषि कार्य में प्रयोग होने वाले डीजल इंजन को टैक्स के दायरे से मुक्त किया जाए। मनरेगा को खेती से लिंक किया जाए।
इस मौके पर भाकियू के प्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन, प्रदेश प्रवक्ता अवधेश वर्मा, लखनऊ मण्डल अध्यक्ष हरिनाम सिंह वर्मा, लखनऊ के जिलाध्यक्ष सरदार गुरमीत सिंह मौजूद रहे।
त्यागी तेज
वार्ता
More News
अपने गढ़ में पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोलेगी सपा

अपने गढ़ में पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोलेगी सपा

21 Sep 2018 | 3:12 PM

इटावा, 21 सितम्बर (वार्ता) ‘यादव परिवार’ के गृहनगर इटावा मे समाजवादी पार्टी (सपा) 24 सितम्बर को पुलिस की कथित वसूली प्रक्रिया के खिलाफ आंदोलन करेगी ।

 Sharesee more..
महराजगंज में दंपत्ति पर जानलेवा हमला, विवाहिता की मृत्यु

महराजगंज में दंपत्ति पर जानलेवा हमला, विवाहिता की मृत्यु

21 Sep 2018 | 3:12 PM

महराजगंज 21 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश में महराजगंज जिले के घुघली क्षेत्र में विवाह संबंधी विवाद को लेकर एक दंपत्ति और मासूम पर हुये जानलेवा हमले में विवाहिता की मृत्यु हो गयी जबकि दो अन्य गंभीर रूप से घायल हो गये।

 Sharesee more..

हरदोई में युवती की हत्या

21 Sep 2018 | 3:12 PM

 Sharesee more..
image