Wednesday, Sep 26 2018 | Time 19:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हाईकोर्ट ने स्टेशनों पर भीख मांगने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने को कहा
  • व्यापमं मामले में कलमनाथ, दिग्विजय, सिंधिया पर प्रकरण दर्ज करने के निर्देश
  • प्रभु ने बंगलादेश के सामने उठाया पाम तेल का मुद्दा
  • मोगा में कूरियर कम्पनी में बिस्फोट, दो लोग घायल
  • श्रीलंका की पुष्टि मैथ्यूज को वनडे टीम से हटाया गया
  • प्रभु ने बंगलादेश के सामने उठाया पाम तेल का मुद्दा
  • लोकसभा चुनाव में वीवीपैट मशीनें उपलब्ध होंगी: चुनाव आयोग
  • मोदी ने की दूरसंचार क्षेत्र में शिकायत निवारण की समीक्षा
  • नर्मदा नहरों की पानी की चोरी पर रोक के लिए कदम उठाने के निर्देश, छह और तालुका सूखाग्रस्त घोषित
  • भाजपा सांसद हुकुमदेव नारायण को मिली जमानत
  • ‘नागराज’ फैसले की समीक्षा की आवश्यकता नहीं : सुप्रीम कोर्ट
  • गांधी जयंती पर जिला प्रशासन करेगा साइकिल रैली और पैदल मार्च का आयोजन
  • जम्मू कश्मीर सरकार के अधिकारी को रिश्वत मामले में कैद की सजा
  • फसलों और पशुधन के नुकसान का दिया जाएगा उचित मुआवजा-कैप्टन अमरिन्दर
  • तेरह वैज्ञानिकों को मिलेगा शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

राष्ट्रीय योगी क्रूज दो अन्तिम वाराणसी

श्री मोदी के संसदीय क्षेत्र में विशेष प्रकार की “धार्मिक जल यात्रा” सेवा शुरु करने वाली निजी कंपनी “कूनॉर्डिक क्रूज़लाइन” (वाराणसी) के प्रबंधक विवेक मालवीय ने ‘यूनीवार्ता’ को बताया कि क्रूज में 125 लोग एक साथ सवार हो सकते हैं। दो मंजीला इस क्रूज में 60 वातानुकूलित समेत 90 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। इसमें बायोटॉयलेट एवं रसोई घर भी मौजूद है। खास बात यह कि क्रूज सेवा बारिश के मौसम में गंगा में बाढ़ जैसे हालात या गर्मी में जलस्तर गिरने से प्रभावित नहीं होगी।
श्री मालवीय ने बताया कि फिलहाल यह सेवा ऐतिहासिक असि घाट से पंचगंगा घाट (दशाश्वमेध घट के पास) तक करीब 12 किलोमीटर के दायरे में ही उपलब्ध होगी और दो घंटे के लिए प्रति व्यक्ति 750 रुपये के अलावा जीएसटी देना होगा। पूरी क्रूज आरक्षित करावाने के लिए 75 हजार रुपये का भुगतान करना होगा। उन्होने बताया कि इस सेवा को आने वाले समय में कैंथी के मार्कंडेय महादेव एवं मिजार्पुर के चुनार तक विस्तार किया जाएगा जिससे पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं को और अधिक देखने-समझने का मौका मिलेगा।
उन्होंने बताया कि ऐतिहासिक दशाश्वमेध सहित अन्य घाटों पर शाम को होने वाली नियमित गंगा आरती और सुबह में असि घाट पर ‘सुबह-ए-बनारस’ में आने वाल हजारों श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को ध्यान में रखते हुए क्रूज सेवा शुरु की गई है। क्रूज में पार्टी, सेमिनार एवं अन्य कार्यक्रम आयोजित करने की व्यवस्था है, जिसके लिए अलग से भुगतान करना होगा। उन्होंने बताया कि जगह आरक्षित करने के लिए ऑन लाइन एवं नकद व्यवस्था की गई है।
श्री मानवीय ने बताया कि श्री मोदी की पहल पर शुरु की गई “प्रधानमंत्री स्टार्ट-अप-इंडिया” के तहत क्रूज को कोलकता में तैयार किया गया तथा गंगा के जल मार्ग से यहां मंगवाया गया है।
बीरेंद्र भंडारी
वार्ता
image