Wednesday, Sep 26 2018 | Time 13:56 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उत्तरी दिल्ली में इमारत गिरी, दो बच्चों की मौत
  • ताइ‌वान को हथियार ना बेचे अमेरिका: चीन
  • ईरान पर अमेरिका नीत पाबंदियां ‘आर्थिक आतंकवाद’: रूहानी
  • रुपये की संदर्भ दर
  • दिल्ली में सुबह का मौसम खुशनुमा
  • अंपायरिंग से नाराज़ धोनी ने किया कटाक्ष
  • अंपायरिंग से नाराज़ धोनी ने किया कटाक्ष
  • अमेरिकी वैज्ञानिकों की जासूसी के आरोप में चीनी नागरिक गिरफ्तार
  • भाजपा के बंगाल बंद का मिलाजुला असर
  • कुछ शर्तों के साथ आधार कार्ड की संवैधानिक वैधता बरकरार
  • केजरीवाल ने मनमोहन को जन्मदिन की बधाई दी
  • उत्तरी दिल्ली में इमारत गिरी, मलबे में दबे लोग
  • ‘नागराज’ फैसले की समीक्षा की आवश्यकता नहीं : सुप्रीम कोर्ट
  • चेन्नई सर्राफा के शुरुआती भाव
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

लोकरूचि जन्माष्टमी मथुरा दो मथुरा

प्राचीन द्वारकाधीश मंदिर के जनसपर्क अधिकारी राकेश तिवारी के अनुसार मंदिर में तीन सितम्बर को प्रातः सवा छह बजे ठाकुर जी का अभिषेक होगा तथा इसके बाद 11 बजे तक चार झांकियां होगी। शाम साढे़ सात बजे से पुनः दर्शन खुलेंगे तो जो रात नौ बजे बंद हो जाएंगे। इसके बाद रात दस बजे दर्शन खुलेंगे और रात 11 बजकर 45 मिनट पर जन्म के दर्शन के बाद प्रसाद वितरण होगा।
वृन्दावन के तीन मंदिरों राधारमण, राधा दामोदर एवं टेढ़े खम्भेवाले यानी शाह जी मंदिर में जन्माष्टमी दिन मे ही मनाने के कारण तीन सितम्बर को दिन में वृन्दावन तीर्थयात्रियों का कुंभ बन जाएगा। राधा दामोदर मंदिर में तो अभिषेक के बाद हल्दी मिश्रित दही से होली सी खेली जाती है। श्रीकृष्ण जन्म की खुशी में लोग इस मिश्रण को एक दूसरे पर डालते हैं ।
राधारमण मंदिर में 27 मन दूध ,दही, बूरा, शहद, घी, औषधियों का प्रयोग अभिषेक में होता है। मंदिर के सेवायत दिनेश चन्द्र गोस्वामी के अनुसार यह अभिषेक लगभग तीन घंटे तक चलता है। इस मंदिर में बालस्वरूप में सेवा होती है इसलिए अभिषेक और फिर शुद्ध जल से अभिषेक के बाद मंदिर के सेवायत आचार्य बालकृष्ण को दीर्घायु का आशीर्वाद देते है। इसी प्रकार का अभिषेक टेढ़े खंभेवाले मंदिर में होता है। तीनो मंदिरों में अभिषेक के बाद तीर्थयात्रियों में अभिषेक का चरणामृत वितरित किया जाता है।
सं भंडारी
जारी वार्ता
image