Tuesday, Sep 25 2018 | Time 15:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • class="x_MsoNormal" style="text-align: justify; line-height: normal; margin: 0in 0in 8pt; font-family: Chanakya, serif, "EmojiFont";">हरियाणा के कर्मचारियों को दो प्रतिशत मंहगाई भत्ता
  • पाकिस्तान की आड़ में छिपने की बजाय राफेल पर जवाब दे सरकार : कांग्रेस
  • नवीकरणीय ऊर्जा में जारी रहेगी रिवर्स बिडिंग प्रक्रिया
  • सुप्रीम कोर्ट से अनुमति लें भाजपा के नामित सदस्य: वैथीलिंगम
  • इमरान भारत के साथ बातचीत कैसे कर सकते हैं: विपक्षी दल
  • सुप्रीम कोर्ट ने जरदारी की संपत्तियों का ब्यौरा मंगाया
  • भागलपुर से कुख्यात गिरफ्तार
  • भारत की मदद से अफगानिस्तान से ईरान तक रेललाइन बिछाने का इच्छुक उज़्बेकिस्‍तान
  • नवीकरणीय ऊर्जा में जारी रहेगी रिवर्स बिडिंग प्रक्रिया
  • सोना 175 रुपये मजबूत;चांदी 190 रुपये महंगी
  • सारण में लूटपाट करने वाले उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार
  • गोइतवा नदी में डूबने से चार किशोर की मौत
  • जम्मू-कश्मीर में सशस्त्र बलों की 400 अतिरिक्त टुकड़ियां
  • शिवराज ने राहुल गांधी पर किया जमकर हमला
  • रुपये की संदर्भ दर
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

देवरिया बालिका गृह कांड मामले में 35 थानाध्यक्षों को नोटिस

देवरिया, 03 सितम्बर(वार्ता) उत्तर प्रदेश में देवरिया के चर्चित बालिका गृह कांड मामले में 35 वर्तमान व पूर्व थानाध्यक्षों को नोटिस जारी किया गया है।
पुलिस प्रवक्ता ने सोमवार को यहां बताया कि बालिका गृह कांड मामले में पुलिस अधीक्षक एन कोलंची ने रविवार को 35 वर्तमान तथा पूर्व थानाध्यक्षों को नोटिस जारी किया है। पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) गोरखपुर जोन उनका बयान दर्ज करेंगे। इन लोगों पर आरोप है कि संस्था की मान्यता स्थगित किये जाने के बाद भी ये लोग बालिकाओं और बच्चों को इस संस्था में भेजते थे।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि देवरिया के स्टेशन रोड स्थित बाल गृह बालिका संस्था की सीबीआई की जांच में संदिग्ध मिलने के बाद शासन ने जून 2017 में इस संस्था की मान्यता रद्द कर दी थी। साथ ही पुलिस अधिकारियों को निर्देश दे दिया गया था कि इस बाल गृह में बालिकाओं और बच्चों को न भेजा जाय। इसके बाद भी पुलिस बालिका गृह में बालिकाओं तथा बच्चों को भेजती रही।
गौरतलब है कि गत पांच अगस्त को बालिका गृह से 23 लड़कियों तथा बच्चों को बरामद करने के बाद पुलिस ने सेक्स रैकेट का संचालन किये जाने का खुलासा किया था। इस मामले में शासन ने जिलाधिकारी रहे सुजीत कुमार, तत्कालीन पुलिस अधीक्षक रोहन पी कनय, पुलिस उप महानिरीक्षक बस्ती क्षेत्र राकेश शंकर का तबादला कर दिया था। इसके अलावा सदर कोतवाल समेत चौकी इंचार्ज को निलम्बित किया गया था।
पुलिस अधीक्षक एन कोलांची ने यहां जून 2017 से विभिन्न थानों पर तैनात रहे 35 थानाध्यक्षों को नोटिस जारी करते हुए पुलिस महानिरीक्षक गोरखपुर जोन को अवगत करा दिया है।
सं भंडारी
वार्ता
More News
बीएचयू में हिंसा, आगजनी एवं तोड़फोड़ के बाद तनाव

बीएचयू में हिंसा, आगजनी एवं तोड़फोड़ के बाद तनाव

25 Sep 2018 | 12:24 PM

वाराणसी 25 सितंबर (वार्ता) काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में जूनियर डॉक्टरों एवं छात्रों के बीच इलाज कराने को लेकर हुए विवाद के बाद यहां घंटों पथराव, तोड़फोड़ एवं आगजनी जैसी हिंसक घटनाएं हुईं।

 Sharesee more..
image