Sunday, Sep 23 2018 | Time 11:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पुलवामा में मुठभेड़, एक आतंकवादी ढेर
  • 76 साल की अमेरिकी ‘युवती’ ने लाइव फूड से उम्र के प्रभाव पर पायी जीत, अब मोदी से सीखना चाहती है योग
  • पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़
  • कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हसन इमाम का निधन
  • ईरान में हो सकती है क्रांति: गुलियानी
  • चीन ने अमेरिका के साथ सैन्य वार्ता रद्द की
  • सीरियाई विद्रोही इदलिब में तुर्की से करेंगे सहयोग
  • नाइजीरिया में नौका से चालक दल के 12 सदस्यों का अपहरण
  • उ कोरिया को ईंधन देने वालों पर प्रतिबंध लगाया जाएगा : अमेरिका
  • साेमालिया में दो कार बम विस्फोट, दो घायल
  • तंजानिया नौका हादसे में मृतकों की संख्या 218 हुई
  • नन से दुष्कर्म के आरोपी बिशप की जमानत याचिका खारिज
  • सैन्य परेड पर हमले में अमेरिकी सहयोगियों का हाथ : खोमैनी
  • अमेरिकी सेना का 18 आतंकवादियों को मारने का दावा
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

राष्ट्रीय मंदिर शंकराचार्य दो मथुरा

शंकराचार्य ने कहा कि कोई भी राजनैतिक पार्टी मंदिर बना ही नही सकती, क्योंकि वह बनाने की हैसियत में तब हाेगी जब वह सत्तारूढ हो जाएगी। सत्तारूढ होते ही मंत्रिमंडल संविधान की शपथ लेगा। संविधान धर्मनिरपेक्ष है। ऐसे में सरकार मंदिर , मस्जिद या गुरूद्वारा गिरजाघर में से कुछ भी नही बना सकती। इसलिए यह राजनीतिक दलों द्वारा नही बनाया जा सकता इसका तो निर्माण केवल संत या शंकराचार्य ही कर सकते हैं।
उन्होने कहा कि उसके लिए पहले से रामालय ट्रस्ट बना हुआ है जिसमें सभी शंकराचार्य हैं। वे जनता के सहयोग से राम मंदिर बनाएंगे और वहीं बनाएंगे और वहां पर रामलला का विगृह होगा।
धर्मगुरू ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक प्रमुख मोहन भागवत कहते हैं कि वे मंदिर तो बनाएंगे पर देवी देवता का नही बल्कि आदर्श राम का मंदिर बनाएंगे। राम आदर्श तब हुए जब उन्होंने विश्वामित्र के यज्ञ की रक्षा की। जब उन्होंने पिता की आज्ञा से वन गमन किया या वन से लौटकर अयोध्या आए और राज किया। बालक कहां आदर्श होता है। जो दशरथ जी के आंगन में खेल रहा है उसका मंदिर शंकराचार्य बनाना चाहते हैं।
सं प्रदीप
जारी वार्ता
image