Wednesday, Sep 26 2018 | Time 20:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चार दिन के अभियान में गिर में दिखे 460 शेर, मृत शावकों में सीडी विषाणु नहीं
  • ओलम्पिक मेजबानी के लिए तैयार हो रही है अमरावती स्पोटर्स सिटी
  • राजीव रौतला ने जी बी पंत विश्वविद्यालय के कुलपति का कार्यभार संभाला
  • त्रिपुुुरा के धलाई जिले में मलेरिया का प्रकोप बढ़ा
  • आधार पर शीर्ष न्यायालय का फैसला आम लोगाें के लिए बड़ी राहत :ममता
  • आभूषण, रिफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन, फुटवेयर होंगे महँगे
  • ---
  • धार्मिक मेले के दौरान जहरीला दाना खाने से 30 मोर मरे
  • खेल उपकरणों की खरीद के लिये 50 करोड़ रूपये मंजूर
  • आतंकी फंडिंग मामला: दिल्ली से तीन गिरफ्तार, डेढ करोड रूपये बरामद-एनआईए
  • दूरबीन लेकर ढूंढने जैसी कांग्रेस की स्थिति-शाह
  • हरियाणा में खेल उपकरणों की खरीद के लिये 50 करोड़ मंजूर
  • झारखंड सरकार का पर्यावरण अनुकूल विकास पर जोर : रघुवर
  • हाईकोर्ट ने स्टेशनों पर भीख मांगने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने को कहा
राज्य » उत्तर प्रदेश Share

वाराणसी में “भारत बंद” समर्थकों ने फूंके मोदी के पुतले

वाराणसी, 06 सितंबर (वार्ता) अनुसूचित जाति एवं जनजाति (संशोधन) विधेयक के खिलाफ गुरुवार को आयोजित ‘भारत बंद’ के समर्थकों ने उत्तर प्रदेश के वाराणसी में जगह-जगह प्रदर्शन किया तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुतले फूंके।
जिला मुख्यालय, काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू), राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-दो, भोजूबीर, पहड़िया, अर्दली बाजार समेत अनेक स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किये गए। अखिल भारतीय हिंदू ब्रह्मन सभा, हिंदू युवा शक्ति, अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा, हिंदू युवा संगठन, हिंदू महासभा समेत अनेक संगठनों के बैनर तले लोग सड़कों पर उतरे।
प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-दो और शहरी क्षेत्र को जोड़ने वाले मुख्य मार्ग को बीएचयू परिसर के हैदराबाद गेट के सामने घंटों जाम रखा। वे विधेयक वापस लेने तथा नौकरियों में आर्थिक आधार पर आरक्षण की व्यवस्था के समर्थन में नारे लगाते रहे। उन्होंने श्री मोदी पर वोट की राजनीति के लिए स्वर्णों के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाते हुए उनका पुतला फूंका। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने सुसुवाहीं एवं आसपास की दुकानें बंद करायीं और राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-2 को जामकर सरकार विरोधी नारे लगाये।
हिंदू युवा शक्ति के बैनर तले बड़ी संख्या में आंदोलनकारियों ने शास्त्री घाट से जिला मुख्यालय तक प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी जिलाधिकारी कार्यालय तक पहुंच गए तथा पुलिस मुकदर्शक बनी रही। पहड़िया इलाके में हिंदू महासभा के बैनर तले प्रदर्शन किया गया। कुछ लोगों ने श्री मोदी का पुतला फूंका।
युवा शक्ति के राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्भय सिंह समेत कई नेताओं ने अनुसूचित जाति एवं जनजाति संशोधन विधेयक को “काला कानून” करार देते हुए चेतावनी दी कि उच्चतम न्यायालय के फैसले को पलटने वाले इस विधेयक के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा।
गोदौलिया, चौक, दालमंडी जैसे मुख्य बाजारों में अधिकांश दुकानें खुली रहीं लेकिन खरीदारों की संख्या सामान्य से कम नजर आयी। इन क्षेत्रों की सड़कों पर लोगों की आवाजाही आम दिनों की अपेक्षा बेहद कम रही।
बीरेंद्र तेज
वार्ता
वार्
image