Sunday, Jul 21 2019 | Time 14:24 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • केजरीवाल ने मांगे राम के निधन पर शोक व्यक्त किया
  • सात वर्षीय बालिका को हैबिटेट फॉर ह्यूमैनिटी इंडिया इन्नोवेशन पुरस्कार
  • लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का निधन
  • पाकिस्तान में आतंकवादी हमलों में छह पुलिसकर्मियों की मौत
  • सेमीफाइनल में हारे पेस और डेनियल
  • गुटेरस ने विश्व के नेताओं का किया आह्रान
  • राजस्थान में एक दर्जन जिलोंं में बारिश की कमी, सिरोही में सूखे के हालात
  • लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का निधन
  • दीक्षित का पार्थिव शरीर कांग्रेस मुख्यालय ले जाया गया
  • बेंगलुरु ने पटना पाइरेट्स को 34-32 से हरा दिया
  • डी राजा बने भाकपा के महासचिव
  • तिमाही परिणामों और वैश्विक संकेतों से तय होगी बाजार की चाल
  • डी राजा भाकपा के महासचिव बने
  • जब्त ब्रिटीश तेल टैंकर चालक दल के सभी सदस्य सुरक्षित
राज्य » उत्तर प्रदेश


ना होते एलबीएच कोच तो हादसे में जाती कई जाने

कानपुर, 20 अप्रैल (वार्ता) रेलवे अधिकारियों का दावा है कि दिल्ली हावड़ा रेलमार्ग पर स्थित कानपुर के रूमा में शनिवार को दुर्घटनाग्रस्त हुयी पूर्वा एक्सप्रेस में अगर एलबीएच कोच ना होते तो हादसे में हताहतों की तादाद में खासी बढ़ोत्तरी हो सकती थी।
हावड़ा से नई दिल्ली जा रही 12303 पूर्वा एक्सप्रेस के 11 डिब्बे देर रात 1254 बजे पटरी से उतर गये थे। इस हादसे में किसी भी यात्री की मौत नहीं हुई जिसके पीछे ट्रेन में लगे लिंके हॉफमैन बुश (एलबीएच) कोच थे। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि एलबीएच कोच की वजह से हादसा खतरनाक नहीं हुआ अगर साधारण कोच होते तो वर्ष 2016 में कानपुर देहात के पुखरायां में हुये रेल हादसा जैसा नजारा देखने को मिल सकता था।
गौरतलब है कि 19 नवम्बर 2016 की रात कानपुर देहात के पुखरायां के पास इन्दौर पटना एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी जिसमें करीब 150 यात्री मौत के गाल में समा गये थे और करीब 250 यात्री घायल हुए थे।
उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने पत्रकारों से कहा कि पूर्वा एक्सप्रेस में लिंके हॉफमैन बुश (एलबीएच) कोच लगे हुए थे। इसीलिए हादसे में करीब 24 यात्री मामूली रुप से घायल जरुर हुए लेकिन जनहानि नहीं हुई। उन्होने बताया कि पिछले रेल हादसों से सबक लेते हुये रेलवे ने अब पुराने आईसीएफ डिजाइन कोच के उत्पादन पर रोक लगा दी है। इसकी जगह रेल यात्रा सुरक्षा मानकों को बेहतर बनाने के लिए एलबीएच डिजाइन के कोच का उपयोग किया जा रहा है। यह कोच ना सिर्फ वजन में हल्का होता है बल्कि इसके पास बेहतर ढुलाई के साथ-साथ हाई स्पीड क्षमता भी है।
सं प्रदीप
जारी वार्ता
More News
उत्तर प्रदेश-योगी गर्ग शोक

उत्तर प्रदेश-योगी गर्ग शोक

21 Jul 2019 | 2:21 PM

लखनऊ, 21 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष मांगेराम गर्ग के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है।

see more..
प्रयाग में गंगा किनारे नंगे पांव खिंचे आ रहे कांवडिये

प्रयाग में गंगा किनारे नंगे पांव खिंचे आ रहे कांवडिये

21 Jul 2019 | 2:22 PM

प्रयागराज,21 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश के प्रयाग में बड़ी संख्या में शिवभक्त सावन माह में देवाधिदेव महादेव का जलाभिषेक के लिए वाराणसी के काशी विश्वनाथ और देवधर स्थित बाबा वैद्यनाथ धाम के लिए बरबस नंगे पांव गंगा किनारे खींचे चले आ रहे हैं।

see more..
सार्वजनिक स्थल पर ध्रूमपान करने वाला दरोगा निलंबित

सार्वजनिक स्थल पर ध्रूमपान करने वाला दरोगा निलंबित

21 Jul 2019 | 12:08 PM

प्रतापगढ़ 21 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में सार्वजनिक स्थल पर सिगरेट का कस लेते हुये धुंआ उड़ाने के आरोप में थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया है।

see more..
इटावा नीलगाय के तीन शिकारी गिरफ्तार

इटावा नीलगाय के तीन शिकारी गिरफ्तार

21 Jul 2019 | 11:43 AM

इटावा, 21 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश मे इटावा जिले की यमुना पटटी मे पुलिस ने नीलगाय का शिकार करने के मामले मे तीन शिकारियो को गिरफ्तार किया है ।

see more..
image