Friday, Sep 20 2019 | Time 17:45 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पीड़िता की आत्मदाह की धमकी के बाद हुई चिन्मयानंद की गिरफ्तारी: प्रियंका
  • कश्मीर की प्रगति इमरान को हजम नहीं: भारतीय राजनयिक
  • आर्थिक मंदी को लेकर वाम दल करेंगे जनांदोलन
  • वीवो का डुअल पॉपअप सेल्फी कैमरा स्मार्टफोन वी 17 प्रो लाँच
  • राष्ट्रीय रोप स्किपिंग प्रतियोगिता में भाग लेने दिल्ली टीम रवाना
  • योगी पहुंचे वाराणसी, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का लेंगे जायजा
  • बजरंग की सेमीफाइनल हार पर कोच कृपाशंकर ने उठाये सवाल
  • इंडिया सीएसआर सम्मेलन एवं प्रदर्शनी राजधानी में
  • दुबई से 20 लाख का अवैध सोना लाते, पांच बदमाश गिरफ्तार
  • जेल में बंद सजायाफ्ता कैदी की मौत
  • मैक्स बूपा और इंडियन बैंक की साझेदारी
  • श्रीलंका का पाकिस्तान दौरा तय कार्यक्रम से होगा
  • श्रीलंका का पाकिस्तान दौरा तय कार्यक्रम से होगा
  • सीआईआई ने कार्पोरेट टैक्स दरों में कटौती का किया स्वागत, अर्थव्यवस्था को मिलेगी रफ्तार
  • अंतर्राष्ट्रीय क्रेता-विक्रेता सम्मेलन में 08 एम ओ यू पर हस्ताक्षर हुए
राज्य » उत्तर प्रदेश


देश की ढाई लाख पंचायतों पर वक्रांगी खोलेगी सेंटर

लखनऊ, 25 अप्रैल (वार्ता) ईगवर्नेन्स के क्षेत्र में अग्रणी कंपनी वक्रांगी अगले साल के अंत तक देश भर में दो लाख 65 हजार ग्राम पंचायतों में अपने केन्द्रों की स्थापना करेगी।
कंपनी के कार्यकारी अध्यक्ष दिनेश नंदवाणा ने गुरूवार को पत्रकारों से कहा ढाई दशकों से ईगवर्नेन्स के क्षेत्र में कार्यरत वक्रांगी की योजना देश के ग्रामीण अंचलों में आउटलेट खोलने की है जिसके जरिये लोगों को एक छत के नीचे बैंकिंग, एटीएम, एसिस्टेड ईकॉमर्स यानी आनलाइन शापिंग, ईगवर्नेन्स, वित्तीय सेवाएं और यात्रा सेवाये की सुविधा उपलब्ध रहेगी।
उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश में ऐसे 762 नेक्स्टजेन वक्रांगी केंद्रों ने काम करना शुरू कर दिया है और इसके अनुकूल परिणाम सामने आने लगे हैं। यह सभी केंद्र सूबे के 549 ग्राम पंचायत में बसे है। कंपनी ने बहाराइच, बलरामपुर, चंदौली, चित्रकूट, फतेहपुर, श्रावस्ती और सिध्दार्थनगर में यह केंद्र शुरू किए है। देश के 20 राज्यों के 340 से अधिक ज़िलों में 3504 वक्रांगी केंद्र है। चालू वित्तीय वर्ष में कम से कम 2500 वक्रांगी केंद्रों की शुरूआत की योजना है जबकि 2020-21 तक यह संख्या 4500 और 2021-22 में इन केंद्रों की संख्या 75000 तक ले जानें की योजना है।
श्री नंदवाणा ने कहा “ 19 राज्यों की तुलना में उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक नेक्स्ट जेन वक्रांगी केंद्र कार्यान्वित है। इन सेवाओं के लिए हमनें कई मशहूर संस्थाओं के साथ गठजोड किया है जिससे बैंकिंग, एटीएम, बीमा, वित्तीय सेवा, ईकॉमर्स, ईगवर्नेंन्स और यात्रा सेवाएं और उत्पादन की सेवायें ग्राहकों को दी जा सकें।
वक्रांगी नें भारत की वरीयता प्राप्त सार्वजनिक क्षेत्र की बैंकों के बैंकिंग सेवाएं देनें के लिए गठजोड़ किया है जिनमें बैंक ऑफ बडौदा, युनियन बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और पंजाब नैशनल बैंक शामिल हैं। अन्य वित्तीय सेवाओं जैसे म्युच्युअल फंड, मनी ट्रान्सफर के लिए रिलायन्स म्युच्युअल फंड, आदित्य बिर्ला कैपिटल, एको के साथ गठजोड किया है। जीवन बीमा उत्पाद के लिए उन्होंने एलआईसी, टाटा एआईजी और एचडीएफसी लाईफ तथा साधारण बीमा के लिए एचडीएफसी अर्गो, बजाज अलियान्ज और रिलायन्स जनरल आदित्य बिर्ला हेल्थ, रैलिगेअर के के साथ करार किया गया है। वक्रांगी को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा वाईट लेबल एटीएम चलानें का लाईसेन्स प्राप्त है.
नेक्स्टजेन आऊटलेट्स के माध्यम से ग्राहक अब आईआरसीटीसी तथा रेडबस के माध्यम से ट्रेन और बस बुकिंग भी कर सकतें है। इनके अलावा ग्राहक अब भारत बिल पेमेंट सिस्टम (बीबीपीएस) मंच के माध्यम से बिलों का भुगतान कर सकतें है। नेक्स्टजेन वक्रांगी केंद्रों के माध्यम से ग्राहक डीटीएच और मोबाईल रिचार्ज कर सकतें है। यात्रा सुविधाओं के लिए उन्होंनें फेडएक्स, आरामेक्स, फर्स्ट फ्लाईट और ब्ल्यूडार्ट के साथ गठजोड़ किया है।
प्रदीप
वार्ता
More News
चिन्मयानंद ने रेप के अलावा सभी जुर्म कबूले

चिन्मयानंद ने रेप के अलावा सभी जुर्म कबूले

20 Sep 2019 | 4:54 PM

शाहजहांपुर 20 सितम्बर(वार्ता) कानूनी छात्रा के साथ यौन शोषण के आरोप में आज सुबह गिरफ्तार किये गये पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता स्वामी चिन्मयानंद ने पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल कर लिया जबकि स्वामी से जबरन उगाही के आरोप में तीन और लोग गिरफ्तार किये गये हैं जिनमें दो पीडिता के रिश्तेदार हैं।

see more..
प्रयागराज में बाढ़ पीड़ितों को 24 घंटे के भीतर उपलब्ध करायी जाए राहत: योगी

प्रयागराज में बाढ़ पीड़ितों को 24 घंटे के भीतर उपलब्ध करायी जाए राहत: योगी

20 Sep 2019 | 4:40 PM

प्रयागराज, 20 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बाढ़ पीड़िता को 24 घंटे के भीतर राहत सामग्री और मुआवजा की राशि उपलब्ध करायी जाए।

see more..
image