Thursday, Feb 27 2020 | Time 16:59 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रिम्स में ही चलेगा लालू का इलाज, एम्स के नेफ्रोलॉजिस्ट से ली जाएगी सलाह
  • विवाह समारोह में आये मेहमानों को भेंट किए गये पौधे
  • अक्षम लोगों के हाथ में अधिकार स्मार्ट सिटी मिशन का सबसे बड़ा दोष :मंडलायुक्त
  • बैंक सुरक्षा गार्ड गुलदार की खाल के साथ गिरफ्तार
  • वार्नर सनराइजर्स हैदराबाद के फिर कप्तान नियुक्त
  • वार्नर सनराइजर्स हैदराबाद के फिर कप्तान नियुक्त
  • असुद्दीन ओवैसी की भिवंडी में होने वाली रैली रद्द
  • गडकरी के ‘बुलडाणा पैटर्न’ से खुशहाल किसान, थमी आत्महत्या
  • एयरटेल पेमेंट्स बैंक के 2 50 लाख बैंकिंग केन्द्रों पर एईपीएस भुगतान शुरू
  • जलवायु परिवर्तन, कुपोषण के मद्देनजर फसलों की 250 किस्में विकसित: महापात्रा
  • दो परिवारों के बीच 40 साल से चली आ रही रंजिश को महापंचायत ने खत्म करवाया
  • इटावा में महिला और दो चचेरे भाईयों समेत तीन लोगों की ट्रेन से कटकर मौत
  • लगातार पाँचवें दिन टूटे बाजार, निफ्टी चार माह के निचले स्तर पर
  • वर्कइंडिया में शाओमी ने किया 42 करोड़ का निवेश
राज्य » उत्तर प्रदेश


सैफई मेडिकल यूनीवसिर्टी में कथित रैगिंग, जांच के आदेश

इटावा, 21 अगस्त(वार्ता)उत्तर प्रदेश में सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में कथित तौर पर रैगिंग का मामला सामने आने के बाद जिलाधिकारी ने जांच के आदेश जारी कर दिये है।
इटावा के जिलाधिकारी जे.बी.सिंह ने बुधवार को यहॉ बताया कि सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी रैगिंग का मामला सामने आने के बाद रजिस्ट्रार और उपजिलाधिकारी सैफई से अलग अलग जांच आख्या मांगी है। जांच आख्या आते ही उसको कार्रवाई के लिए शासन को भेजा जायेगा । उन्होने बताया कि उन्हें समाचार पत्रों, न्यूज चैनलों और वाटसएप ग्रुपों के माध्यम से इस तरह की जानकारी मिली हुई है।
उत्तर प्रदेश में सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में कथित तौर पर रैगिंग का मामला सामने आने के बाद मचे हड़कंप के बीच पुलिस और यूनिवर्सिटी प्रशासन में संयुक्त रूप से मेडिकल छात्रों से कई स्तर की वार्ता की। संयुक्त टीम का उद्देश्य यह जानने का था कि यूनिवर्सिटी कैंपस के भीतर मेडिकल छात्रों के साथ किसी भी तरह की रैगिंग की घटना तो घटित नहीं हुई है। यूनिवर्सिटी और पुलिस प्रशासन की टीम तब संतुष्ट हुई जब किसी भी मेडिकल छात्र की ओर से रैगिंग की घटना से स्पष्ट तौर पर इंकार किया ।
संयुक्त रूप से हुई वार्ता में यह स्पष्ट हुआ कि यूनिवर्सिटी के भीतर रैगिंग जैसा कोई मामला नहीं हुआ है। खुद ही सभी मेडिकल छात्रों ने अपने अपने बालों को काटा है।
सैफई के पुलिस उपाधीक्षक मस्सा सिंह और इस्पेक्टर सैफई चन्द्र देव सिंह ने मंगलवार को सभी छात्र-छात्राओं से इस सिलसिले में लंबी वार्ता की । सभी ने एक सुर से इस बात को स्वीकार किया कि उन्होंने अपने सिर के बाल खुद ही काटे हुये है। इसके पीछे कोई भी सीनियर जिम्मेदार नहीं है।
सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो राजकुमार और सैफई के पुलिस उपाधीक्षक मस्सा सिंह, सैफई के प्रभारी निरीक्षक चन्द्रदेव सिंह आदि पुलिस अफसरों ने सयुक्त रूप से रैंगिग को लेकर दर्जनों सवाल छात्रों से पूंछे । जिस पर सभी ने एक सुर से अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उनकी किसी भी सीनियर ने कोई रैगिंग नहीं की है । जब से उनका बैच आया है तब से उनको किसी भी तरह से परेशान भी नहीं किया गया है। उन्होंने रैगिंग को लेकर किसी भी स्तर से कोई शिकायत भी नही की है और ना ही वे कोई शिकायत करना भी चाहते है। सभी ने स्वेच्छा से अपने सर के बाल काटे हुए हैं उनके सिर के बाल किसी बी सीनियर नहीं काटे ।
सं भंडारी
वार्ता
More News
सीतापुर जेल में अखिलेश मिले आजम से

सीतापुर जेल में अखिलेश मिले आजम से

27 Feb 2020 | 4:56 PM

लखनऊ 27 फरवरी (वार्ता) समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरूवार को सीतापुर जेल में निरूद्ध पार्टी सांसद आजम खां से मुलाकात की।

see more..
image