Monday, Oct 14 2019 | Time 06:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अफगानिस्तान के नंगरहार प्रांत में 12 तालिबानी मारे गये
राज्य » उत्तर प्रदेश


आनंदीबेन ने विधवा महिलाओं को की सिलाई मशीन वितरित की

लखनऊ, 29 अगस्त (वार्ता) उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने विधवा महिलाओं को की सिलाई मशीन वितरित की।
श्रीमती पटेल ने गुरुवार को यहां भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान में लुम्बा फाउण्डेशन की ओर से आयोजित ‘विधवा सशक्तीकरण कार्यक्रम’ के तहत विधवा महिलाओं को सिलाई मशीन वितरित की।
इस मौके पर श्रीमती पटेल ने विधवा महिलाओं का आह्वान किया कि वे हिम्मत से काम लें तथा स्वयं को स्वावलम्बी बनायें। विधवा महिलाओं का सर्वेक्षण करके यह तय करें कि महिलाओं को समाज की मुख्यधारा में किस व्यवसाय के माध्यम से जोड़ा जाये, जहाँ उन्हें प्रशिक्षण के साथ-साथ उनके द्वारा तैयार किये गये उत्पाद को उचित बाजार भी मिले। उन्होंने कहा कि कार्य में गुणवत्ता होगी तो कार्य स्वयं बोलेगा।
राज्यपाल ने महिलाओं को सलाह दी कि शिक्षा नौकरी नहीं जीवन की समस्या से निकलना सिखाती है। शिक्षा को नौकरी से न जोड़कर हुनर सीखे। छोटे-छोटे कामों में भी बड़ी आमदनी हो सकती है। थोड़े पैसे के मोह में बच्चों को काम पर न लगाकर उनकी पढ़ाई पूरी करने का अवसर दें। बच्चें हुनर सीखें मगर पढ़ाई को प्राथमिकता दें। उन्होंने कहा कि यह प्रयास होना चाहिए कि बच्चों की शिक्षा का पूरा प्रबंध हो।
श्रीमती पटेल ने व्यवसाय के मंत्र बताते हुये कहा कि कई शहरों में महिलाएं कटी हुई सब्जी, पापड़, मसाले इत्यादि तैयार करके अपनी आमदनी बढ़ा रही हैं। कामकाजी महिलाओं के पास समय नहीं होता ऐसे में सिलाई में निपुण महिलाएं पुराने कपड़ों की मरम्मत करके अच्छी आय अर्जित कर सकती हैं। समय पर कार्य करने की आदत डालें। जो समय पर काम पूरा करता है उसे काम भी ज्यादा मिलता है। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूल की यूनीफार्म तैयार करने में महिलाएं महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं।
इस मौके पर राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार श्रीमती स्वाती सिंह ने कहा कि महिलाएं सृष्टि का हिस्सा हैं। देश को बनाने में महिलाओं की भागीदारी है। सिलाई का गुण महिलाओं में कला का एक रूप है। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूह से महिलाएं आर्थिक रूप से सशक्त हो सकती हैं।
इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास तथा पुष्टाहार राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार श्रीमती स्वाती सिंह के अलावा प्रबंध निदेशक इण्डियन डायसपोरा क्लब रजत कपूर, निदेशक लुम्बा फाउण्डेशन अतुल पाटला, संस्थान के निदेशक डाॅ0 ए0के0 पाठक सहित बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थीं।
गौरतलब है कि लुम्बा फाउण्डेशन द्वारा 500 विधवा महिलाओं को सिलाई मशीन प्रदान की जायेगी एवं प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। प्रशिक्षण के बाद वे अपने घर से सिलाई का काम कर सकेंगी।
त्यागी
वार्ता
image