Wednesday, Jul 8 2020 | Time 18:35 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हवाई यात्रा करने वाले आठ सौ लोग पाये गये कोरोना संक्रमित
  • पूर्वी चंपारण में 52 कार्टन विदेशी शराब के साथ धंधेबाज गिरफ्तार
  • लोहरदगा से पीएलएफआई का एरिया कमांडर समेत दो नक्सली गिरफ्तार
  • सहकारिता आंदोलन को हर व्यक्ति तक पहुंचाने की जरूरत-गहलोत
  • कश्मीर में अगले चार दिनों तक तेज हवाएं चलने का अनुमान
  • बादल ने मोदी से की प्रस्तावित बिजली विधेयक वापस लेने की मांग
  • जारवाल की जनानत रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार
  • सारण में चौर में डूबने से युवक की मौत
  • कर्मचारी भविष्य निधि के दोनों अंशदान देगी सरकार
  • पटना में 10 जुलाई से लॉकडाउन
  • राजगृह में हुई तोड़-फोड़ के मामले में उच्च स्तरीय जांच के आदेश : ठाकरे
  • देश में कोरोना रिकवरी दर 61 53 प्रतिशत
  • जमुई में ऑटोरिक्शा पलटने से पति की मौत, पत्नी घायल
  • अमरोहा में बालिका समेत 25 और कोरोना पॉजिटिव,संख्या 197 पहुंची
  • महाराजा रणजीत सिंह पर ‘पुल कंजरी’ वृतचित्र जारी
राज्य » उत्तर प्रदेश


राष्ट्रीय योगी अर्थव्यवस्था तीन अन्तिम लखनऊ

मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी तरह पूर्वी उत्तर प्रदेश के पिछड़े जिलों में शामिल सिद्धार्थनगर का चावल 'काला नमक' नाम से जाना जाता है। दुर्भाग्य से, वर्तमान परिस्थितियों में, इस ब्रांड का उत्पादन कम हो गया है और अब कृषि विशेषज्ञों काे इसके लिय एक रास्ता खोजना होगा ताकि ब्रांड को निर्यात के लिए बड़े पैमाने पर उत्पादित किया जा सके।
उन्होंने कहा कि हमने बड़ी संख्या में आलू को संरक्षित करने के लिए छोटे खाद्य प्रसंस्करण संयंत्र स्थापित करने का फैसला किया है। गन्ने के अतिरिक्त उत्पादन से निपटने के लिए, सरकार ने पहले ही तय कर लिया है चीनी मिलों में एथेनॉल का प्लांट लगेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में औद्योगिक इकाइयां स्थापित करने के लिए भूमि की कोई कमी नहीं है। वर्ष 2017 में भाजपा सरकार के सत्ता में आने के बाद, लगभग 54,000 हेक्टेयर सरकारी भूमि माफियाओं से खाली हो गई थी। रक्षा गलियारे के अलावा, सरकार के पास पहले से ही सभी छह क्षेत्रों में 5000 हेक्टेयर का एक लैंड बैंक है। एक कोरियाई कंपनी ने तीन क्षेत्रों में रक्षा इकाइयों की स्थापना में रुचि दिखाई है।
उन्होंने कहा कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध ने भारत को निवेशकों के लिए सबसे वांछित स्थान दिया है। प्रदेश देशी विदेशी निवेशकों को अच्छी सुविधाएं देकर राज्य में निवेश के लिये आकर्षित करने की कोशिश करेगा। रूस में हाल ही में, प्रमुख कोरियाई कंपनी सैमसंग ने उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने कई विदेशी कंपनियों को राज्य में निवेश करने के लिए कहा।
श्री योगी ने तीसरा ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह बहुत जल्द आयोजित किये जाने की घोषणा की। राज्य में 65,000 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश शुरू होंगे। उन्होंने कहा कि पहले से ही दो लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश उनके शासन में राज्य में 2.5 लाख से अधिक लोगों को नये रोजगार मिल रहे है। सरकार को बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के छह चरणों के लिए 82 बोलियां लगी है। इससे स्पष्ट है कि लोग राज्य में निवेश के इच्छुक हैं।
उन्होंने कहा कि सरकार ने खाद्यान्नों के समर्थन मूल्य में वृद्धि और 14 लाख हेक्टेयर अतिरिक्त क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा प्रदान करके राज्य के लोगों की प्रति व्यक्ति आय बढ़ाने के लिए भी कई कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की सभी कल्याणकारी योजनाओं को किसानों के साथ जोड़ा गया है।
तीन सत्रों में आईआईएम (लखनऊ) में प्रदेश के मंत्रियों और अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया। उन्होंने कहा कि पहले सत्र में मंत्री थोड़ा अस्थिर थे, लेकिन बाद में इसका आनंद लिया और बेहतर प्रबंधन कौशल प्राप्त किया।
नौकरी के अवसरों के बारे में पूछे जाने पर, उन्होंने कहा कि उनके शासन के 30 महीनों में पहले से ही, 2.60 लाख से अधिक युवाओं को सरकारी नौकरी दी गई है। शेष 30 महीनों में, दो लाख और सरकारी नौकरियों का सृजन किया जाएगा। सरकारी नौकरी के अलावा, राज्य में लगभग तीन लाख युवा उद्योग और एमएसएमई क्षेत्र से जुड़े हुए थे।
भंडारी
वार्ता
image