Tuesday, Nov 12 2019 | Time 18:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • झांसी: नाबालिग बच्ची की हत्या का आरोपी गिरफ्तार
  • मयंक मिश्रा की हैट्रिक से जीता उत्तराखंड
  • महाराष्ट्र में लगा राष्ट्रपति शासन
  • महिलाओं ने वृद्धा को कार में लिफ्ट देकर सोने के गहने व नकदी लूटी
  • महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरी
  • मनीष पांडेय, 54 गेंद, नाबाद 129, 12 चौके, 10 छक्के
  • राजनीति में कमल हासन का हाल शिवाजी गणेशन जैसा ही होगा: पलानीस्वामी
  • केजरीवाल ने गुरुद्वारा रकाबगंज में माथा टेका
  • उत्तर पूर्वी मानसून तटीय आंध्र प्रदेश में कमजोर
  • बीज और कीटनाशक विधेयक में किसानों के हितो की सुरक्षा :रुपाला
  • एमएसएमई के लिए वित्त उपलब्धता सुनिश्चित हो: ठाकुर
  • गुरु रामदास यूनिवर्सिटी द्वारा दस गूंगे बहरों का मुफ्त इलाज
  • घर में घुसे गुलदार को कमरे में बंद कर बचाई जान
  • अनुज-हिम्मत ने दिल्ली को दिलाई रोमांचक जीत
राज्य » उत्तर प्रदेश


झांसी के जाने माने अस्पताल में मिले डेंगू के लार्वा, नोटिस जारी

झांसी 05 अक्टूबर (वार्ता) लगातार हो रही बारिश और जलभराव से मच्छरों के पनपने के लिए बनी माकूल स्थितियों के बीच उत्तर प्रदेश के झांसी में दो जाने माने अस्पतालों में शनिवार को किये गये औचक निरीक्षण में एक अस्पताल के 13 में से 11 कूलरों में डेंगू के लार्वा पाये गये । इसके बाद अस्पताल को नोटिस जारी किया गया।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ़ सुशील प्रकाश ने स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ शहर के दो जाने माने निगम और जर्मनी अस्पताल में औचक निरीक्षण किया। निगम हॉस्पिटल मे 5 कूलर देखे और किसी में भी डेंगू का लार्वा नहीं मिला, वहीं जर्मनी हॉस्पिटल में 13 कूलर में डेंगू का लार्वा चेक किया गया जिनमें से 11 कूलर में बहुत अधिक मात्रा में डेंगू का लार्वा पाया गया है। इसके तहत जर्मनी हॉस्पिटल के प्रबंधक को नोटिस दिया गया है ।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि अस्पताल एक ऐसी जगह है, जहां मरीज बीमार से स्वस्थ्य होने के लिए आता है, ऐसे में बीमारी की हालत में यदि उसे डेंगू का मच्छर काटता है तो उसे डेंगू होने की ज्यादा संभावना होती है। उन्होने अपील की, कि सभी नर्सिंग होम और होटल, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के संचालक हर रविवार अभियान चलाकर अपने यहाँ के सभी कूलर को खाली कर, उसे सुखाकर दुबारा पानी भरें । डेंगू का लार्वा रुके हुए पानी में ही पनपता है। उन्होने कहा कि हमे अपने आस पास भी सफाई रखनी चाहिए और जहां भी पानी एकत्रित है, उन जगहों को खाली करना चाहिए।
जिला मलेरिया अधिकारी (डीएमओ) आर के गुप्ता ने कहा कि जर्मनी अस्पताल में निरीक्षण में डेंगू के लार्वा मिलने के बाद अब आगे भी इस अस्पताल में जांच की जायेगी। आगे निगम स्वास्थ्य अधिकारी के साथ मैं फिर वहां निरीक्षण करूंगा। अभी जारी किये गये नोटिस के बाद डेंगू लार्वा के पनपने के लिए जिम्मेदार परिस्थितियों को खत्म करना अस्पताल के लिए जरूरी है, अगर दूसरे निरीक्षण में भी ऐसा कोई लार्वा पाया जाता है तो नगर स्वास्थ्य अधिकारी को न्यूनतम एक हजार और अधिकतम स्वविवेक के आधार पर जुर्माना करने का अधिकार है। ऐसे में अस्पताल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
उन्होंने कहा कि ऐसे मौसम में डेंगू से बचने का सबसे बेहतर उपाय है सावधानी। यह सावधानी न केवल बड़े प्रतिष्ठानों बल्कि घरों, छोटी दुकानों आदि में भी हर एक व्यक्ति के लिए रखना जरूरी है ताकि इस मच्छर के लार्वा को ही पैदा नहीं होने दिया जाए। नगर निगम के वाहनों की मदद से मच्छरों के नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य विभाग दवा के छिड़काव का काम भी कर रहा है।
संचारी रोग के नोडल अधिकारी डॉ राज किशोर ने बताया कि पिछले वर्ष जनपद में 288 डेंगू के मरीज मिले थे और इस वर्ष अभी तक नौ मरीज मिल चुके हैं । उन्होने बताया यह समय डेंगू के लिए सबसे उच्चतम समय है, इस मौसम में डेंगू ज्यादा फैलता है, इसीलिए सावधानी रखना बहुत जरूरी है।
ऐसे ही मौसम में घर या कार्यालयों के आस - पास पानी भरने और सफाई न रखने से मच्छरो के पनपने की संभावना बढ़ जाती है। निरीक्षण करने वाली टीम में एसीएमओ डॉ॰ एन.के जैन, जिला मलेरिया अधिकारी, जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी डॉ. विजयश्री शुक्ला, कार्तिक आर्या, विजय बहादुर आदि उपस्थित रहे।
सोनिया
वार्ता
image