Thursday, May 28 2020 | Time 21:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • क्वारंटाइन अवधि पूरी करने वाले प्रवासी श्रमिकों को उपलब्ध हो रोजगार : नीतीश
  • मथुरा में तीन और कोरोना पॉजिटिव,संक्रमित के संपर्क में आने पर11 पुलिसकर्मी क्वारन्टाइन
  • सारण में ट्रेन से कटकर युवती की मौत
  • सारण में कुख्यात गिरफ्तार
  • दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या 16000 के पार
  • आईसीसी ने 10 जून तक टाला टी-20 विश्व कप के भविष्य का फैसला
  • आईसीसी ने 10 जून तक टाला टी-20 विश्व कप के भविष्य का फैसला
  • झांसी पहुंचे साढ़े चौंतीस हजार श्रमिकों के रोजगार के लिए प्रशासन ने किया मंथन
  • पेरासिटामोल का निर्यात खुला
  • सेना ने स्कूल को बनाया 100 बिस्तरों वाला कोविड केयर सेंटर
  • कोविड- खिलाफ सफलता प्राप्ति के लिए विश्व और राष्ट्रीय स्तर पर प्रयास
  • सूडान में गिद्ध की भेंट चढ़ती बच्ची को बचाने की बजाय फोटो लेनेवाले कार्टर की तरह याचिकाकर्ता : मेहता
  • कोलकाता हवाई अड्डे पर 1745 यात्रियों का आगमन
  • सुपौल में व्यवसायी लूटकांड का उद्भेदन, दो गिरफ्तार
  • बिहार सरकार का निजी लैब में कोरोना जांच की अनुमति देना स्वागतयोग्य : एसोसिएशन
राज्य » उत्तर प्रदेश


उत्तर प्रदेश-योगी छवि तीन अंतिम लखनऊ

मुख्यमंत्री ने विभिन्न जिलो में घटित घटनाओं तथा उनके सम्बन्ध में शासन की कार्रवाइयों का उल्लेख करते हुए कहा कि जिलो के नोडल अधिकारियों को गहनता से ऐसी स्थितियों की समीक्षा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी अपने भ्रमण में जिले की सामयिक एवं तात्कालिक समस्याओं की गहन समीक्षा करें।
उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी गरीब जनता के लिए संचालित विभिन्न योजनाओं, कार्याें की गुणवत्ता आदि की भी विस्तार से समीक्षा करें। अनियमितता अथवा गुणवत्ता में कमी की स्थिति में सम्यक जांचोपरान्त प्रभावी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि पात्र व्यक्तियों को ही शासन की योजनाओं का लाभ मिले इसके लिए व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। नोडल अधिकारी गोवंश स्थलों के निर्माण व संचालन की स्थिति, चारे की व्यवस्था आदि की भी समीक्षा करें।
बैठक को सम्बोधित करते हुए मुख्य सचिव आर के तिवारी ने कहा कि विगत ढाई वर्षाें में विभिन्न योजनाओं में उल्लेखनीय कार्य हुआ है। इसके परिणामस्वरूप राज्य को केन्द्र सरकार की अनेक योजनाओं के क्रियान्वयन में देश में प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ है। इसी प्रकार, पुलिस की कार्य प्रणाली से जनसामान्य में सुरक्षा का भाव बढ़ा है। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक और पुलिस नोडल अधिकारी रचनात्मक ढंग से कार्य करते हुए जनपदीय अधिकारियों का मार्गदर्शन करें। साथ ही, विभिन्न योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू कराएं। उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी जनसम्पर्क भी करें। योजनाओं की जमीनी हकीकत परखने के लिए नोडल अधिकारी सम्बन्धित जनपद में आकस्मिक निरीक्षण भी करें।
इस मौके पर पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने कहा कि पुलिस का कार्य अच्छा रहा है, लेकिन इसमें काफी सुधार किया जा सकता है। पुलिस को अपनी छवि सुधारने के लिए आमजन के प्रति कमिटमेंट व सकारात्मक तथा व्यापक भूमिका पर विचार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के लिए एण्टी करप्शन सेल को सक्रिय किया गया है। इसने बड़ी संख्या में ट्रैप की कार्रवाई की है।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एस पी गोयल सहित प्रशासन और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
त्यागी
वार्ता
image