Sunday, Jul 12 2020 | Time 19:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जमैका की फ्रेजर प्राइस ने 11 सेकंड में लगाया 100 मी का फर्राटा
  • जौनपुर में 49 और कोरोना पॉजिटिव,संख्या हुई 750
  • कोरोना के खिलाफ जंग में हम अच्छे मुकाम पर खड़े हैं : शाह
  • उप्र के प्रमुख नगरों का आज का तापमान इस प्रकार रहा
  • कर्नाटक पीयूसी के नतीजे 18 जुलाई को
  • फर्रूखाबाद में आठ और कोरोना संक्रमित मिले,संख्या 253 हुई
  • अमेरिका में कोरोना मामले 32 47 लाख के पार, रिकवरी दर महज 30 फीसदी
  • टीआरएस की हिन्दू विरोधी ताकतों ने किया हमला : संजय कुमार
  • कोश्यारी पूरी तरह स्वस्थ, मीडिया पर चल रही अफवाहों का किया खंडन
  • डॉ हर्षवर्धन ने मानवाधिकार मुद्दे के रूप में परिवार नियोजन पर जोर दिया
  • उप्र में कोरोना के मद्देनजर जारी एडवाइजरी का उल्लंघन,24,05,523 का चालान
  • कपिल देव और मुरली कार्तिक ने चैरिटी गोल्फ में लिया हिस्सा
  • कपिल देव और मुरली कार्तिक ने चैरिटी गोल्फ में लिया हिस्सा
  • संभल में बढ़ा कोरोना संक्रमण 38 और मिले पॉजिटिव,संख्या हुई 520
  • ओडिशा के मलकानगिरी में दो माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण
राज्य » उत्तर प्रदेश


जल्द हो सकता है चंदौली का नया नाम दीनदयाल नगर

लखनऊ 17 अक्टूबर (वार्ता) पिछले साल इलाहाबाद का नाम प्रयागराज रखने के बाद उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार चंदौली जिले का नाम बदल कर पंडित दीनदयाल नगर रखने पर गंभीरता से विचार कर रही है।
सरकार ने इस बारे में चंदौली जिला प्रशासन से रिपोर्ट तलब की है जिस पर अनुकूल प्रतिक्रिया सामने आयी है। आधिकारिक सूत्रों ने गुरूवार को बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चंदौली में जल्द ही नये मेडिकल कालेज का शिलान्यास करने जायेंगे जहां वह चंदौली जिले के नाम परिवर्तन का एलान कर सकते हैं।
इससे पहले चंदौली के मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखा गया था जिनकी 11 फरवरी 1968 को संदिग्ध परिस्थितियों में मुगलसराय रेलवे स्टेशन के यार्ड में मृत्यु हो गयी थी।
वर्ष 1997 में तत्कालीन मायावती सरकार के कार्यकाल में चंदौली जिला अस्तित्व में आया था। इससे पहले यह वाराणसी जिले का हिस्सा हुआ करता था।
चंदौली के जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने पत्रकारों को बताया कि जिला प्रशासन ने चंदौली का नाम बदलने की अनुशंसा कर दी है। अब सरकार को तय करना है कि कब उसे जिले का नाम परिवर्तन करना है। यह उसके अधिकार क्षेत्र का मामला है।
प्रदीप
वार्ता
image