Wednesday, Nov 20 2019 | Time 20:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • झांसी:लाखों के माल के साथ एक महिला और पांच बदमाश गिरफ्तार
  • कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिये सतर्क रहे पुलिस : नीतीश
  • व्यवसाई हत्याकांड मामले में दो गिरफ्तार
  • येदियुरप्पा ने कुरुबा समुदाय को लेकर कानून मंत्री की टिप्पणी पर मांगी माफी
  • झारखंड विधानसभा चुनाव में सरयू के पक्ष में चुनाव नहीं करेंगे नीतीश
  • जीटीएफ इंजन खरीदेगी गोएयर
  • एनएचएआई सर्वश्रेष्ठ फास्टैग तकनीक इस्तेमाल करे : गडकरी
  • सोनभद्र के राबट्सगंज में नौ पट्टाधारकों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश
  • भारत-नेपाल सीमा से शराब के साथ दो तस्कर गिरफ्तार
  • ब्लू स्टार ने लॉच किया इन बिल्ट एयर प्यूरिफायर एसी
  • केरल में विधायक पर पुलिस लाठीचार्ज को लेकर विस में हंगामा
  • लूटकांड में हथियार समेत तीन गिरफ्तार
  • श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने दिया इस्तीफा
  • अमरिंदर का सैनिकों की मौत पर शोक, 12-12 लाख रुपए और नौकरी देने का ऐलान
  • बिहार में बाढ़-सुखाड़ राहत पर खर्च हुए छह हजार करोड़ : सुशील
राज्य » उत्तर प्रदेश


जल्द हो सकता है चंदौली का नया नाम दीनदयाल नगर

लखनऊ 17 अक्टूबर (वार्ता) पिछले साल इलाहाबाद का नाम प्रयागराज रखने के बाद उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार चंदौली जिले का नाम बदल कर पंडित दीनदयाल नगर रखने पर गंभीरता से विचार कर रही है।
सरकार ने इस बारे में चंदौली जिला प्रशासन से रिपोर्ट तलब की है जिस पर अनुकूल प्रतिक्रिया सामने आयी है। आधिकारिक सूत्रों ने गुरूवार को बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चंदौली में जल्द ही नये मेडिकल कालेज का शिलान्यास करने जायेंगे जहां वह चंदौली जिले के नाम परिवर्तन का एलान कर सकते हैं।
इससे पहले चंदौली के मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखा गया था जिनकी 11 फरवरी 1968 को संदिग्ध परिस्थितियों में मुगलसराय रेलवे स्टेशन के यार्ड में मृत्यु हो गयी थी।
वर्ष 1997 में तत्कालीन मायावती सरकार के कार्यकाल में चंदौली जिला अस्तित्व में आया था। इससे पहले यह वाराणसी जिले का हिस्सा हुआ करता था।
चंदौली के जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने पत्रकारों को बताया कि जिला प्रशासन ने चंदौली का नाम बदलने की अनुशंसा कर दी है। अब सरकार को तय करना है कि कब उसे जिले का नाम परिवर्तन करना है। यह उसके अधिकार क्षेत्र का मामला है।
प्रदीप
वार्ता
image