Wednesday, Jul 8 2020 | Time 20:24 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इंडिया ग्लोबल वीक में उद्घाटन भाषण देंगे मोदी
  • कोरोना से हरियाणा में तीन और मौतें, मृतक संख्या बढ़कर हुई 282
  • इंडिया ग्लोबल वीक में उद्घाटन भाषण देंगे मोदी
  • जमुई में विद्यालय से छह कम्प्यूटर की चोरी
  • पश्चिम चंपारण में नविवाहिता की हत्या मामले में प्राथमिकी
  • बंगाल में कोरोना मामले 24000 के पार, 827 की मौत
  • जालना में कोरोना के 28 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि
  • नीतीश ने वज्रपात से 12 लोगों की मौत पर जताया शोक, दिया चार लाख मुआवजे का निर्देश
  • तमिलनाडु में जल्द शुरू हाेंगी सरकारी स्कूल के छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं
  • गुवाहाटी जेल से गोगोई, सोनोवाल के लिये गये कोरोना जांच के नमूने
  • जौनपुर में 08 और कोरोना पॉजिटिव,संख्या 630
  • पेट्रोल पंप प्रबंधक से 1़ 80 लाख लूटे
  • वाराणसी में 19 और कोरोना पॉजिटिव,विधायक समेत 685 संक्रमित
  • फतेहपुर में 26 कोरोना पॉजिटिव मिलने पर चार दिन के लिए पूर्ण लॉकडाउन
  • सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ अकाली दल का प्रदर्शन
राज्य » उत्तर प्रदेश


उत्तर प्रदेश-योगी किसान दो लखनऊ

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान पाठशाला के पांचवे संस्करण को दो सत्रों में आयोजित किया जा रहा है। प्रथम सत्र 21 से 24 अक्टूबर तक तथा दूसरा सत्र 04 से 07 नवम्बर तक आयोजित किया जाएगा। इस दौरान कुल 15 हजार 366 ग्रामों में पाठशालाओं का आयोजन करके 10 लाख से अधिक किसानों को प्रशिक्षित किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का संकल्प लिया है। इस संकल्प को साकार करने के लिए मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, विभिन्न खाद्यान्नों के समर्थन मूल्य में वृद्धि, बकाया गन्ना मूल्य भुगतान आदि के लिए योजनाएं लागू की गयी हैं। साथ ही, केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम किसान) जैसी महत्वाकांक्षी योजना के माध्यम से सभी किसानों को सीधे 06 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रतिवर्ष उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गयी है। इस योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश के 1.62 करोड़ किसानों को लाभान्वित किया जा रहा है।
श्री योगी ने कहा कि वर्तमान सरकार द्वारा 60,000 करोड़ रुपये की सिंचाई परियोजनाओं को कार्ययोजना बनाकर पूरा किया जा रहा है। बाण सागर परियोजना के माध्यम से प्रदेश में 01 लाख 70 हजार हेक्टेयर सिंचन क्षेत्र में वृद्धि हुई है, जिससे डेढ़ लाख किसान लाभान्वित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि कृषि के लिए सिंचाई की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है। इसलिए किसानों को ड्रिप और स्प्रिंकलर इरिगेशन के लाभ के विषय में जानकारी दी जानी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा भी इस पर 80 से 90 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जा रही है।
उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में मांग के अनुरूप उत्पादन की आवश्यकता है। इससे किसानों को अपनी उपज का लाभकारी मूल्य मिलेगा। इसके लिए कृषि में विविधीकरण की आवश्यकता है। किसानों को पारम्परिक फसलों के अलावा सब्जी, बागवानी, मछली पालन, दुग्ध उत्पादन आदि में भी आगे बढ़ने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि किसान पाठशाला के माध्यम से यदि प्रत्येक गांव के एक किसान को भी उन्नत खेती से जोड़ा जा सके तो इसके लाभकारी प्रभावों से कालान्तर में पूरे गांव के किसान इससे जुड़ जाएंगे।
त्यागी
जारी वार्ता
More News
सिद्धार्थनाथ सिंह ने मृतक लौटन निषाद की पत्नी को दिया चार लाख रुपये का चेक

सिद्धार्थनाथ सिंह ने मृतक लौटन निषाद की पत्नी को दिया चार लाख रुपये का चेक

08 Jul 2020 | 7:58 PM

प्रयागराज, 08 जुलाई (वार्ता) कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने लौटन निषाद की विधवा सविता निषाद को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा घोषित सहायता राशि चार लाख रुपये का चेक प्रदान किया।

see more..
image