Sunday, Oct 25 2020 | Time 04:55 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • महाराष्ट्र में एक दिन में कोरोना संक्रमण के 7347 नए मामले, 184 की मौत
  • ट्रंप ने फ्लोरिडा में किया मतदान
राज्य » उत्तर प्रदेश


उप्र में रिकवरी रेट 75़ 85 प्रतिशत: प्रसाद

लखनऊ, 10 सितम्बर(वार्ता) उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमित मरीजों को बेहतर स्वास्थ सुविधा उपलब्ध कराने का दावा करते हुए कहा कि राज्य में अब रिकवरी रेट 75़ 85 प्रतिशत हो गया है।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने गुरूवार को यहां बताया कि राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में अब तक 2,21,506 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके है, जिसका रिकवरी रेट 75.85 प्रतिशत है।
उन्होंने कहा कि राज्य में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में बुधवार को एक दिन में 1,49,311 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 70,67,208 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के संक्रमित 7042 नये मामले आये है।
श्री प्रसाद ने बताया कि राज्य सर्विलांस टीम के माध्यम से 96,865 क्षेत्रों में 3,36,515 टीमों के माध्यम से 2,24,86,719 घरों के 11,21,89,682 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सरकारी कार्यालयों एवं महत्वपूर्ण संस्थानों में 64,447 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये जा चुके है। इनके माध्यम से 7,31,696 लोगों का लक्षणात्मक चिन्हांकन किया गया है।
उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के तहत बुधवार को 2638 पूल की जांच की गयी, जिसमें 2426 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 212 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया ई-संजीवनी के माध्यम से कल एक दिन 1653 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। अब तक कुल 68,256 लोगों ने ई-संजीवनी के माध्यम से चिकित्सीय परामर्श प्राप्त कर चुके है। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप द्वारा 10,56,431 लोगों को अलर्ट किया गया। इस पर स्वास्थ्य विभाग एवं सी0एम0 हेल्प लाइन के माध्यम से जानकारी प्राप्त की गयी।
श्री प्रसाद ने बताया कि राज्य सरकार ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए निजी प्रयोगशालाओं की टेस्टिंग दर में कमी की है। पहले यह निजी प्रयोगशालाएं 2500 रूपये लेती थी, जो अब कम करके 1600 रूपये निर्धारित कर दी गयी है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष एक से नौ सितम्बर के मध्य सरकारी अस्पतालों में 6,356 मेजर आपरेशन हुए थे जबकि इस वर्ष 4736 मेजर आपरेशन हुए है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष एक से नौ सितम्बर के मध्य सरकारी अस्पतालों में 11,845 माइनर आपरेशन हुए थे जबकि इस वर्ष 5526 माइनर आपरेशन हुए है।
भंडारी
वार्ता
image