Sunday, Oct 25 2020 | Time 05:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • काबुल में आत्मघाती बम हमले में 30 की मौत
  • महाराष्ट्र में एक दिन में कोरोना संक्रमण के 7347 नए मामले, 184 की मौत
  • ट्रंप ने फ्लोरिडा में किया मतदान
राज्य » उत्तर प्रदेश


छात्रसंघ बहाली समेत अनेक मांगो के लिए सछास के अनसन का 67वां दिन

प्रयागराज,27 सितम्बर (वार्ता) पूरब का आक्सफोर्ड कहा जाने वाला इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) में छात्रसंघ की बहाली समेत अन्य मांगों को लेकर समाजवादी छात्र सभा (सछास) का पूर्णकालिक अनशन का छात्र नेता अजय यादव सम्राट की अगुवाई में शनिवार को 67वां दिन है।
अनशन स्थल पर वरिष्ठ छात्र नेता अजीत कुमार और मोहम्मद गुलाम विक्टर अनशन कर रहे छात्रो को अपना समर्थन देने पहुंचे । अजीत यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी का इतिहास छात्र संघर्षों को बहाल करने का है। पार्टी हमेशा छात्रों के संगठन में विश्वास रखती है और इतिहास गवाह है जब-जब छात्र संघ भंग हुआ समाजवादी पार्टी ने इसे बहाल कराया।
उन्होंने छात्रसंघ बहाली के आंदोलन को समर्थन देते हुए कहा कि छात्र संघ छात्रों का मूलभूत अधिकार है और इसे बहान नहीं करना तानाशाही कदम है।
सभा को सम्बोधित करते हुए वरिष्ठ छात्र नेता जिया क्वानन रिजवी और अविनाश विद्यार्थी ने कहा कि जब सारी शिक्षा डिजिटल और ऑनलाइन है तो प्रत्येक छात्र को एक लैपटॉप और 2जीबी डाटा प्रति दिन मिलना उनका अधिकार बनता है।
इस मौके पर विरष्ठ छात्र नेता मोहम्मद सदाकत खान, राहुल पटेल, मोहममद मुबाशिर हारून, शुशील कुशवाहा, नवनीत यादव, आनंद, मोहममद ओबादा, यशवंत, मोहम्मद सलमान, अभिषेक प्रधान, शविबलि यादव आदि छात्र नेता उपस्थित रहे।
गौरतलब है कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ शुरू 1923 हुआ। बीच-बीच में कई बार इसपर प्रतिबंध लगता रहा और शुरू होता रहा। लेकिन मॉडल हमेशा छात्र संघ का ही रहा। 29 जून 2019 को इलाहाबाद विश्वविद्यालय कार्य परिषद की बैठक हुई जिसमें छात्रसंघ की जगह छात्र परिषद चुनाव कराने का फैसला लिया गया था। 21 अक्टूबर को छात्र परिषद के लिए मतदान होना था लेकिन चुनाव में कोई प्रत्याशी नहीं उतरा। छात्रनेता समय समय पर छात्रसंघ बहाली को लेकर धरना प्रदर्शन और अनशन करते चले आ रहे है।
दिनेश भंडारी
वार्ता
image