Sunday, Nov 29 2020 | Time 09:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • संस्मरण लिखने की तैयारी में है मेलानिया ट्रम्प
  • क्रोएशिया के प्रधानमंत्री ‘सेल्फ आइसोलेशन’ में
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 30 नवंबर)
  • रूस के मास्कों में कोरोना से नौ हजार के करीब लोगों मौतें
  • फ्रांस में नए सुरक्षा कानून के खिलाफ प्रदर्शन, कई पुलिसकर्मी घायल
  • अमेरिका में पिछले 24 घंटों में कोरोना से 1404 लोगों की मौत
  • लंदन में लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन में 60 लोग गिरफ्तार
  • ईरान में कोरोना के 13,402 नए मामले
  • फ्रांस में नए सुरक्षा कानून के खिलाफ प्रदर्शन में 37 पुलिसकर्मी घायल
  • अमेरिका में कोरोना के एक दिन में दो लाख से अधिक नए मामले
राज्य » उत्तर प्रदेश


झांसी के कलाकारों और सांस्कृतिक प्रेमियों को मिली सौगात

झांसी 08 अक्टूबर (वार्ता) उत्तर प्रदेश की वीरांगना नगरी झांसी के किले की तलहटी में स्थित प़ं दीनदयाल उपाध्याय सभागार के सौंदर्यीकरण कर नवीन रूप में सभागार का गुरूवार को लोकार्पण किया गया, जो झांसी के कलाकारों और सांस्कृतिक प्रेमियों के लिए एक बड़ी सौगात है।
सभागार के उच्र्चीकरण एवं सौन्दयीकरण कार्य का लोकापर्ण सांसद झांसी-ललितपुर श्री अनुराग शर्मा ने विधिवत पूजा अर्चना कर किया। उन्होने सभागार में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये कहा कि हम बुन्देलखंडवासी है, हमें अपने इतिहास व संस्कृति पर गर्व है। पहले हम आर्थिक रुप से पिछडे माने जाते थे लेकिन हम उस वीर भूमि से आते है, जहां पर वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई ने अंग्रजों से युद्व करते हुये वीरगति प्राप्त की थी। इस वीर भूमि से महान साहित्यकार भी निकले है, ऐसे मंच पर हमारी संस्कृति का सेलिब्रेशन होना चाहिए। उन्होने कहा कि यहां पर एक टूरिस्ट सेन्टर बनाने की योजना है, जो किले तथा बुन्देलखंड के इतिहास को दर्शाता हो। प्रत्येक बुन्देलखंडवासी विकास के लिये समर्पण की भावना रखता है और अभी भी अपनी धरोहर के प्रति जागरुक है।
सभागार के सौंदर्यीकरण का काम झांसी विकास प्राधिकरण (जेडीए) ने कराया है। जेडीए के अध्यक्ष और मंडलायुक्त सुभाष चन्द्र शर्मा ने कहा कि एकात्म मानववाद के पुरोधा प़ दीनदयाल उपाध्याय ने विकास के लिये अन्तिम पंक्ति में खडे व्यक्ति की बात की थी, उनके नाम पर इस भव्य सभागार में कार्यक्रम का सुखद संयोग बना है। जिस प्रकार से हिन्दुस्तान की आजादी के लिये लाखों लोगों ने अपना बलिदान किया था। यह सभागार पूर्व में बना था, जिसका रखरखाव ठीक-ठाक न होने पर बीच में बहुत खराब स्थिति में हो गया था, लेकिन आज एक अच्छा माहौल है।
मण्डलायुक्त ने कहा कि इस सभागार का सौन्दर्यीकरण हो गया है, अब इसके नजदीक अरबन हाट की उपयोगिता भी जल्द उपलब्ध होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिये बुन्देलखण्ड के विभिन्न शिल्पियों, दस्तकारों के द्वारा बनाये जाने वाले सामानों की बिक्री होगी। स्थानीय कलाकारों को अपनी कला का मंथन करने के लिये मुक्ताकांशी मंच निःशुल्क उपलब्ध होगा। उन्होने रानीमहल के सामने तथा परकोटा के पास अतिक्रमण पर नियंत्रण के सम्बन्ध में अधिकारियों को निर्देश देते हुये कहा कि जल्द ही प्रोजेक्ट तैयार किये जायेगे। कचरा डालने वाले स्थलों पर गन्दगी हटवाकर खूबसूरत जगह बनायेगे। मण्डलायुक्त ने कहा कि बुन्देलखण्ड के इस गौरव को बनाये रखने में सभी का सहयोग जरुरी है। इस सभागार के रखरखाव एवं आवंटन हेतु चार सदस्यीय समिति बनायी गयी है। उन्होने कहा कि यह हमारी कर्मभूमि है और सभी मिलकर प्रण करें कि जनहित में उन सभी प्रोजेक्टों को पूरा करायेगे। उन्होने कोरोना काल में सभी के स्वस्थ रहने की कामना करते हुये बधाई दी।
जेडीए के उपाध्यक्ष सर्वेश कुमार दीक्षित ने सभागार सौन्दर्यीकरण के सम्बन्ध में विस्तार से अवगत कराते हुये बताया कि इसके सौन्दर्यीकरण पर प्राधिकरण द्वारा 10.50 करोड़ की धनराशि व्यय की गयी है। इस सभागार में 470 व्यक्तियों के बैठने की क्षमता है। जिसमें उच्चकोटि का साउण्ड सिस्टम, केन्द्रीय वातानुकूलित सिस्टम एवं पार्किग की व्यवस्था की गयी है। यह सभागार झांसी को नये रुप में बुन्देलखण्ड क्षेत्र में विशेषकर झांसी के कलाकारों एवं सांस्कृतिक प्रेमियों के लिये प्रस्तुत किया जा रहा है।
कार्यक्रम सम्बोधन के प्रारम्भ में सांसद, महापौर, विधायक, मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी सहित विभिन्न गणमान्य व्यक्तियों द्वारा परिसर में स्थापित प0 दीनदयाल उपाध्याय जी की प्रतिमा पर माल्यापूर्ण किया गया।
सोनिया
वार्ता
More News
फैजाबाद अयोध्या हो सकता है तो हैदराबाद ‘भाग्य नगर’ क्यों नहीं: योगी

फैजाबाद अयोध्या हो सकता है तो हैदराबाद ‘भाग्य नगर’ क्यों नहीं: योगी

28 Nov 2020 | 11:40 PM

लखनऊ 28 नवम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हैदराबाद में एक जनसभा को संबोधित करते हुये कहा कि फैजाबाद का नाम अयोध्या हो सकता है तो हैदराबाद का नामकरण भाग्यनगर क्यों नहीं हो सकता।

see more..
कांग्रेस का हाथ, किसानो के साथ

कांग्रेस का हाथ, किसानो के साथ

28 Nov 2020 | 11:23 PM

लखनऊ, 28 नवम्बर (वार्ता) दिल्ली में चल रहे किसान आन्दोलन के समर्थन में उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने सभी जिला मुख्यालयों पर जिलाधिकारी कार्यालय के सामने प्रदर्शन कर राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा।

see more..
image