Saturday, Feb 27 2021 | Time 15:52 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कोरोना की राेकथाम के लिए बड़े पैमाने पर टीकाकरण करें: राजीव गौबा
  • भाजपा महिला कार्यकर्ताओं ने मंत्री संजय राठोड़ का मांगा इस्तीफा
  • योजनाओं को आमजन तक पहुंचाने के लिए जागरुकता रथ रवाना
  • पांच नशा तस्कर हेरोइन और नशीली गोलियों सहित गिरफ्तार
  • महाराष्ट्र में तेजी से बढ़े सक्रिय कोरोना मामले
  • वेंकैया हिमाचल विधानसभा की घटना से व्यथित
  • खिलौना मेला आत्मनिर्भर भारत की दिशा में बड़ा कदम: मोदी
  • कानून का राज कायम करना सिर्फ सरकार का काम नहीं,न्यायपालिका की भी बहुत बड़ी भूमिका - नीतीश
  • इंग्लैंड के खिलाफ चौथा टेस्ट नहीं खेलेंगे बुमराह
  • इंग्लैंड के खिलाफ चौथा टेस्ट नहीं खेलेंगे बुमराह
  • पीएसएलवी-सी51 अमेजोनिया मिशन के प्रक्षेपण की उल्टी गिनती शुरू
  • अजमेर में कोरोना टीकाकरण के तीसरे चरण की तैयारी पूरी
  • मिश्र एवं गहलोत ने संत रविदास एवं शहीद चंद्रशेखर आजाद को किया नमन
  • आईपीएल के लिए पांच शहरों का चुनाव, मुंबई अभी शामिल नहीं
  • आईपीएल के लिए पांच शहरों का चुनाव, मुंबई अभी शामिल नहीं
राज्य » उत्तर प्रदेश


किसानों ने दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा को पूरी तरह बंद किया

गाजियाबाद 26 दिसंबर (वार्ता) केंद्र सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि सुधार कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर शनिवार को किसानों का आंदोलन दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा पर उग्र हो गया और किसानों ने दिल्ली से आने वाले मार्ग को बंद कर दिया। किसान आंदोलन का आज 31 वां दिन है।
भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार अपने अड़ियल रवैये पर कायम है ऐसे में किसानों का धैर्य धीरे-धीरे जवाब दे रहा है। भाजपा शासित राज्यों की सरकारें आंदोलन को दबाने के लिए बाहर से आने वाले किसानों को विभिन्न स्थानों पर रोक रही है। शनिवार की सुबह उत्तराखंड से उत्तर प्रदेश की सीमा में प्रवेश कर रहे किसानों को पुलिस ने रोकने का प्रयास किया।
श्री टिकैत ने एक सवाल के जवाब में कहा, “ मैं केंद्र सरकार के उन नेताओं के मास्टरों से मिलना चाहता हूं जिन्होंने उन्हें पाठ पढ़ाया है कि खेती किसानी मुनाफे का काम है।”
उन्होंने कहा कि किसान का बेटा भी शहर में रहना चाहता है और उसे भी सुविधा चाहिए। किसान के परिवारों के लोग भी दिल्ली-एनसीआर में सभी सुख सुविधाओं के साथ रहना चाहते हैं तो अब यही सही। लॉकडाउन लगा तो भी आंदोलन नहीं रुकेगा।
किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि उन्हें कई माध्यमों से सूचनाएं मिली हैं कि सरकार किसान आंदोलन को कुचलने की मंशा से दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में लॉकडाउन लगाने पर विचार कर रही है इसके लिए कोरोना के मामलों को बढ़ा-चढ़ाकर बताया जा रहा है। देश में कोरोना को लेकर भय का माहौल फिर से बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इन सब बातों से किसानों पर किसी भी प्रकार का कोई असर नहीं होगा।
उन्होंने कहा कि फिर लॉकडाउन का मतलब होता है जो जहां है वहीं रुक जाए हम भी इसी बात का पालन करेंगे और सीमा क्षेत्र पर ही डटे रहेंगे।
सं, रवि
वार्ता
More News
मोदी के उदबोधन ने दी ‘कठपुतली’ को दी संजीवनी

मोदी के उदबोधन ने दी ‘कठपुतली’ को दी संजीवनी

27 Feb 2021 | 3:22 PM

भदोही 27 फरवरी (वार्ता) इतिहास के पन्नो में लगभग समा चुकी ‘कठपुतली’ कला और इससे जुड़े कलाकारों को आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उदबोधन ने आक्सीजन दे दी है।

see more..
image