Wednesday, Feb 28 2024 | Time 22:16 Hrs(IST)
image
राज्य » उत्तर प्रदेश


जौनपुर में मनायी गयी गुरूदेव रविन्द्र नाथ टैगौर की 162वीं जयन्ती

जौनपुर , 07 मई (वार्ता) उत्तर प्रदेश में जाौनपुुर जिले के सरांवा गाव में स्थित शहीद लाल बहादुर गुप्त स्मारक पर आज हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकंन आर्मी व् लक्ष्मीबाई ब्रिगेड के कार्यकर्ताओं ने नोबेल पुरस्कार विजेता और विश्व भारती विश्व विद्यालय के संस्थापक गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर की 162 वीं जयंती मनाई।
इस अवसर पर कार्यकर्ताओं ने शहीद स्मारक पर गुरुदेव के चित्र पर माल्यार्पण किया और उनके व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डाला गया।
शहीद स्मारक पर उपस्थित लोगो को संबोधित करते हुए लक्ष्मीबाई ब्रिगेड की अध्यक्ष मंजीत कौर ने कहा कि गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर का जन्म सात मई 1861को तत्कालीन कलकत्ता व वर्तमान में कोलकाता में हुआ था । उन्होंने कहा कि नोबेल पुरस्कार विजेता श्री टैगोर ने भारत के राष्ट्रगान की रचना की ,वहीं शांति निकेतन में विश्व भारती विश्व विद्यालय की स्थापना कर शिक्षा को बढ़ावा दिया । शांति निकेतन का मानवता सांस्कृतिक आदान-प्रदान को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण योगदान रहा है ।
उन्होंने कहा कि गुरुदेव का कहना था कि शिक्षा से ज्ञान बढेगा और लोग विवेकवान होंगे ,मगर आज दुःख इस बात का है कि आज की शिक्षा ऐसी हो गयी है कि उसका वर्णन करना बहुत मुश्किल ही नही , कठिन भी है ।कहा कि गुरुदेव श्री टैगोर महान लेखक , विचारक , स्वतंत्रता सेनानी और बहुमुखी प्रतिभा के धनी व्यक्तित्व वाले महापुरुष थे , उन्होंने अपनी लेखनी से देश व समाज को बहुत कुछ दिया है ।
उन्होंने कहा कि देश के आजादी की लड़ाई के दौरान गुरुदेव ने दो गीत चित्तो जेठा भयशून्यों ( मन डर के बिना ) और एकला चलो रे ( अकेले चलो ) बहुत प्रचलित हुए । देशवासी ही नही ,अंग्रेज सरकार भी उनका बहुत सम्मान करतीं थी , लेकिन श्री टैगोर ने अंग्रेज सरकार द्वारा दी गयी नाईट की पदवी को जलियावाला बाग नरसंहार के विरोध में लौटा दिया था । सुश्री कौर ने कहा कि गुरुदेव को पहला नोबेल पुरस्कार 1913 में उनकी पुस्तक गीतांजलि की रचना के लिए मिला था । सब कुछ करते और देश व समाज को देखते हुए सात अगस्त 1941 को गुरुदेव इस संसार से हमेशा के लिए चले तो गए , मगर उनकी कृतियां व कर्म उन्हें आज भी जीवित किये हुए हैं ।
इस अवसर पर धरम सिंह , अनिरुद्ध सिंह , अनिरूद्ध सिंह, मैनेजर पांडेय , मंजीत कौर सहित अनेक लोग मौजूद रहे।
सं सोनिया
वार्ता
More News
योगी ने देवबंद में एटीएस भवन का किया वर्चुअल लोकार्पण

योगी ने देवबंद में एटीएस भवन का किया वर्चुअल लोकार्पण

28 Feb 2024 | 9:45 PM

सहारनपुर, 28 फरवरी (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को देवबंद में रेलवे रोड पर स्थित आतंकवाद निरोधक दस्ता एटीएस की फील्ड यूनिट भवन के नवनिर्मित्त भवन का वर्चुअल लोकार्पण किया।

see more..
सात वर्षों में प्रदेश में आंगनवाड़ी केंद्रों की संख्या दोगुनी हुई: योगी

सात वर्षों में प्रदेश में आंगनवाड़ी केंद्रों की संख्या दोगुनी हुई: योगी

28 Feb 2024 | 9:38 PM

लखनऊ 28 फरवरी, (वार्ता) मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि पिछले सात वर्ष में उत्तर प्रदेश में आंगनवाड़ी केंद्रों की संख्या दोगुनी हुई है।

see more..
जिनसे परिवार नहीं संभलता,वे देश क्या संभालेंगे: योगी

जिनसे परिवार नहीं संभलता,वे देश क्या संभालेंगे: योगी

28 Feb 2024 | 9:35 PM

लखनऊ, 28 फरवरी (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुये बुधवार को कहा कि जो लोग अपना परिवार नहीं संभाल पाते वो प्रदेश और देश क्या संभालेंगे।

see more..
जियाउल ने मेहनताने की कमाई रामलला को की समर्पित

जियाउल ने मेहनताने की कमाई रामलला को की समर्पित

28 Feb 2024 | 8:10 PM

अयोध्या, 28 फरवरी (वार्ता) उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जेल में निरुद्ध मुस्लिम बंदी जियाउल हसन ने झाड़ू लगाने के बदले मिले मेहनताने से डेढ़ महीने की कमाई श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला को समर्पित की है।

see more..
image