Thursday, Jul 18 2024 | Time 19:44 Hrs(IST)
image
राज्य » उत्तर प्रदेश


इटावा में बिजली ट्रांसफार्मर कूलर से किए जा रहे ठंडे

इटावा, 29 मई (वार्ता) उत्तर प्रदेश में गर्मी के तल्ख तेवर के बीच इटावा जिले में 47 डिग्री तापमान से पावर ट्रांसफार्मर हांफने लगे है। तपते ट्रांसफार्मरों को ठंडा करने के लिए कूलरो का सहारा लिया जा रहा है।
दक्षिणांचल विद्युत वितरण खण्ड में पावर कारपोरशन के अधिशासी अधिकारी श्रीप्रकाश ने बुधवार को बताया कि जिले में लगातार भीषण गर्मी में जहां जनता परेशान बनी हुई है वही दूसरी ओर पावर कॉरपोरेशन के बड़ी तादाद में बिजली ट्रांसफार्मर भी गर्म होकर ट्रिप होना शुरू हो गए है। बिजली ट्रांसफार्मरो को ट्रिपिंग से बचाने के लिए उन पर पानी डालकर के ठंडा करने की प्रक्रिया अपनाई जा रही है और कूलर आदि की भी व्यवस्था की गयी है ताकि लाेगों को निर्बाध विद्युत आपूर्ति की जा सके।
जिले में करीब 50 की संख्या में पावर ट्रांसफार्मरो पर कूलर लगाने के साथ ही इतनी ही तादाद में ट्रांसफार्मरो पर पानी डाल कर उनको सामान्य करने की प्रकिया अपनाई जा रही है।
जिले में दिन-ब-दिन गर्मी लगातार बढ़ते हुए दिखाई दे रही है। ऐसे में लोग अपने घरों से बाहर ही नहीं निकल पा रहे हैं और कूलर, पंखा, एसी का इस्तेमाल कर रहे हैं। बिजली विभाग ने बताया कि गर्मियों के मौसम में बिजली की खपत तेजी के साथ होती है। ऐसे में बिजली की खपत का असर सीधे ट्रांसफार्मर पर पड़ता है जिससे वह खराब हो सकता है। ऐसे में ट्रांसफार्मर को बचाने के लिए उसके सामने कूलरो को भी लगाया गया है जिससे ट्रांसफार्मर ओवरहीट ना हो सके।
विभाग के लोगों का कहना है कि गर्मी की वजह से दिनभर बिजली के तार और ट्रांसफार्मर में आग लगने की घटनाएं घट रही है। इसके कारण लोगो को 24 घंटे में पांच से छह घंटे ही बिजली मिल पा रही है। तापमान बढ़ने के पीछे बढ़ते शहरीकरण और कटते पेड़ बड़ी वजह बन रहे है। शहरो में बढ़ते एयरकंडीशन और का चलन तापमान को बढ़ा रहा है। घरों में एसी और सड़कों पर दौड़ती गाड़ियों में चलते एसी से निकलने वाली गर्मी भी तापमान में वृद्धि के लिए जिम्मेदार है।
दक्षिणांचल विद्युत वितरण खण्ड के अधिशासी अधिकारी श्रीप्रकाश ने कहा कि इस समय गर्मी का तापमान 46- 47 डिग्री तक पहुंच रहा है ऐसे में विद्युत आपूर्ति सुचारू रखना बड़ी चुनौती है। नगर में 10 बिजलीघर है और इनसे जुड़े 42 फीडर है जिन्हे गर्मी से फॉल्ट से बचाना चुनौती पूर्ण कार्य है।
उन्होंने जनता से अपील की है की जरूरत के हिसाब से बिजली का उपयोग करे। अनावश्यक रूप से एसी और अन्य घरेलू बिजली उपकरणों का प्रयोग न करे। एसी, फ्रिज कूलर इत्यादि उपकरण लगातार न चलाए ताकि विद्युत वितरण व्यवस्था पर पड़ने वाले लोड को कम किया जा सके।
सं प्रदीप
वार्ता
image