Thursday, Jul 18 2024 | Time 19:05 Hrs(IST)
image
राज्य » उत्तर प्रदेश


चित्रकूट में मासूम की हत्या के दोषी दंपत्ति को उम्रकैद

चित्रकूट 31 मई (वार्ता) उत्तर प्रदेश में चित्रकूट जिले की एक अदालत ने कक्षा तीन के छात्र कर हत्या के मामले में दंपत्ति को उम्रकैद की सजा सुनायी है।
अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश नीरज श्रीवास्तव ने मामले में दोष सिद्ध होने पर आरोपी दंपत्ति को उम्रकैद की सजा सुनाई है। साथ ही दोनों को 25-25 हजार अर्थदंड से भी दंडित किया है।
सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार सिंह ने बताया कि सीतापुर चौकी के राघव पुरी मोहल्ले के निवासी रामप्रयाग रैदास ने कर्वी कोतवाली में नौ मार्च 2022 को रिपोर्ट लिखाई थी कि उनका नौ वर्षीय बेटा कन्हैया गुम हो गया है। 12 मार्च को मासूम का शव वादी के पड़ोसी रिश्ते में भाई भुल्लू वर्मा उर्फ जरैला के घर से बरामद हुआ था। जांच में भुल्लू वर्मा उर्फ जरैला व उसकी पत्नी उर्मिला का नाम प्रकाश में आया था।
पूछताछ में आरोपित भुल्लू ने बताया कि आठ मार्च को रामप्रयाग अपनी पत्नी के साथ बच्चों को रत्नावली स्थित दुकान में चले गए थे और उसकी बेटी और बेटा कन्हैया घर पर थे। कन्हैया घर के बाहर खेल रहा था। इस दौरान उसे घर के अंदर बुलाकर भुल्लू ने ईंट से सर में प्रहार किया, जिससे कन्हैया की मौत हो गई। पति-पत्नी ने शव को डिब्बे में बंद कर छिपा दिया। खुलासे के बाद पुलिस ने हत्यारोपी दंपत्ति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। साथ ही न्यायालय में आरोपपत्र दाखिल किया था।
बचाव और अभियोजन पक्ष के अधिवक्ताओं की दलीलें सुनने के बाद गुरुवार को अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश नीरज श्रीवास्तव ने निर्णय सुनाया। जिसमें दोष सिद्ध होने पर हत्यारोपी भुल्लू वर्मा और उसकी पत्नी उर्मिला वर्मा को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। साथ ही दोनों को 25-25 हजार रुपए अर्थदंड से दण्डित किया गया।
सं प्रदीप
वार्ता
image