Wednesday, Jun 26 2019 | Time 21:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हत्या के मामले में तीन युवकों को 10-10 साल की कैद
  • त्राल मुठभेड़ में अंसार गजवातुल हिंद का आतंकवादी ढेर
  • एनसीबी, सरकार मिलकर करेंगे पंजाब से नशे का खात्मा
  • भोपाल आते आते मानसून हुआ कमजोर
  • संयुक्त राष्ट्र करेगा अमृतसर, वाराणसी और गुरुग्राम में वायु की गुणवत्ता में सुधार
  • छबड़ा एवं कालीसिंध विद्युत गृहों का विनिवेश नहीं करने के प्रस्ताव का अनुमोदन
  • नशा भ्रष्ट प्रशानिक तंत्र एवं राजनीतिक काली भेड़ो की देन: सरीन
  • बरेली पुलिस मुठभेड़ में चार बदमाश गिरफ्तार
  • किन्नर कैलाश यात्रा के दौरान दो लोगों की मौत, तीन बचाए गये
  • ऐसी शिक्षा नीति हो जो विद्यार्थियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने योग्य बनाए:खट्टर
  • महिला ने पांच पुत्रियों के साथ टांके में कूदकर की आत्महत्या
  • युवाओं में नशे की बढ़ती प्रवृत्ति एक वैश्विक समस्या: खट्टर
  • राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक 06 जुलाई को
  • इसरो ने मछुआरों के साथ शुरू किया ‘नाविक’ रिसीवर का परीक्षण
  • पाकिस्तान में विपक्षी दलों ने पीटीआई सरकार को देश के लिए खतरा बताया
विशेष » कुम्भ


प्रयागराज में लगने वाला कुम्भ मेला कई मामलों में होगा यादगार

प्रयागराज में लगने वाला कुम्भ मेला कई मामलों में होगा यादगार

प्रयागराज, 09 जनवरी (वार्ता)उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में 15 जनवरी से शुरू हो वाला दुनिया का सबसे बड़ा आध्यात्मिक आैर सांस्कृतिक समागम ‘कुम्भ 2019’ कई मामलों में यादगार साबित होगा।

लौकिक, अलौकिक एवं पारलौकिक का आंनद कुम्भ देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू समेत कई विदेशी राष्ट्राध्यक्षों और वीवीआईपी की बानगी बनेगी।

पहली बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रियों को देश के राज्यों में भेजकर वहां के राज्यपाल और मुख्यमंत्री एवं संतो से मुलाकात कर मानवता के संगम में शिरकत करने काे आमंत्रित किया है। इसके साथ विदेशी महत्वपूर्ण अतिथियों काे भी आमंत्रित किया गया है।

कुम्भ मेला राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं है। इसको दिव्य और भव्य बनाने के लिए श्री योगी यहां आठ बार से अधिक का दौरा हो चुके है। इस दौरान उन्होंने कई बार तो यहां रात्रि विश्राम भी कर चुके हैं।

श्री योगी ने शनिवार को संगम की रेती पर तीनों अनी अखाड़ों- पंचनिर्मोही अनी अखाड़ा, पंचनिर्वाणी अनी अखाड़ा और पंचदिगंबर अनी अखाड़े में धर्मध्वजा समेत कई कार्यक्रमों में शिरकत करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत के दौरान 17 जनवरी को राष्ट्रपति और 24 जनवरी को प्रधानमंत्री के संगम में आने के बारे में बताया था।

इसके अलावा 31 जनवरी और एक फरवरी को होने वाली धर्म-संसद में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख माेहन भागवत आयेंगे। इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह को भी धर्म-संसद में शिरकत करने के लिए आमंत्रित किया गया है।

मेला में दुनिया के विभिन्न देशों की अलग अलग संस्कृतियों से आने वाले श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों का अद्भुद समागम होगा, जहां मुख्यरूप से “मानवता” व्याप्त होगी।

यह कुम्भ वैसे भी अपने आप में एक यादगार होगा क्योंकि पहली बार यहां 70 देशों के राजनायिकों को कुम्भ मेले की तैयारी को देखने आये। सूबे की सरकार ने प्रदेश के छह लाख गांवों को भी कुम्भ का निमत्रण भिजवाकर प्रदेश की संस्कृति को उजाकर किया है। प्रदेश सरकार के साथ ही केन्द्र सरकार ने प्रयागराज में आधारभूत सुविधाओं के विकास एवं यहां आने वाले श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों के बेहतर सुविधाओं के लिए 4048 करोड़ रूपसे की परियोजनाओं की सौगात दी है।

दिनेश भंडारी

वार्ता

More News
कुम्भ ने दुनिया को कराया भारतीय संस्कृति की विविधता का अहसास :राणा

कुम्भ ने दुनिया को कराया भारतीय संस्कृति की विविधता का अहसास :राणा

04 Mar 2019 | 9:55 PM

कुम्भ,04 मार्च (वार्ता) उत्तर प्रदेश के गन्ना विकास एवं चीनी मिल मंत्री सुरेश राणा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देशन तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व का बखान करते हुए कहा कि पूरे विश्व ने कुम्भ की प्राचीन मान्यता, आध्यात्मिकता, लौकिकता, आपसी सद्भाव को स्वीकार किया।

see more..
कुम्भ की आभा बेमिसाल : फडणवीस

कुम्भ की आभा बेमिसाल : फडणवीस

04 Mar 2019 | 9:55 PM

कुम्भनगर,04 मार्च (वार्ता) महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम कुम्भ की जितनी प्रशंसा की जाए,वह कम है।

see more..
महाशिवरात्रि स्नान पर एक करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने लगाई संगम में आस्था की डुबकी

महाशिवरात्रि स्नान पर एक करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने लगाई संगम में आस्था की डुबकी

04 Mar 2019 | 8:55 PM

कुम्भनगर, 04 मार्च (वार्ता) सम्पूर्ण विश्व में अपनी अमिट छाप छोड़ने वाले कुम्भ के आखिरी दिन महाशिवरात्रि के पर्व पर एक करोड़ 10 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने पतित पावनी गंगा, श्यामल यमुना और अन्त: सलिला स्वरूप में प्रवाहित हो रही सरस्वती में आस्था की डुबकी लगाई।

see more..
आध्यात्म,वैराग्य और ज्ञान की ऊर्जा सतत प्रवाहित होती है संगम की रेत में

आध्यात्म,वैराग्य और ज्ञान की ऊर्जा सतत प्रवाहित होती है संगम की रेत में

04 Mar 2019 | 6:04 PM

कुम्भनगर, 04 मार्च (वार्ता) पतित पावनी गंगा, श्यामल यमुना और अन्त: सलीला स्वरूप में प्रवाहित सरस्वती के त्रिवेणी की विस्तीर्ण रेती वैराग्य, ज्ञान और आध्यात्मिक शक्ति से ओतप्रोत है।

see more..
महाशिवरात्रि से पहले संगम पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

महाशिवरात्रि से पहले संगम पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

03 Mar 2019 | 2:35 PM

कुंभनगर, 03 मार्च (वार्ता) दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम कुंभ के छठे और आखिरी स्नान पर्व महाशिवरात्रि से एक दिन पहले रविवार को एक बार फिर दूर-दराज से भक्तों का रेला संगम पर आस्था के समंदर में बूंदा-बांदी को धता बताकर हिलोरें ले रहा है।

see more..
image