Saturday, Feb 16 2019 | Time 21:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ईरान ने आतंकवादी कृत्यों के लिए सऊदी अरब और अमीरात काे चेताया
  • यूपी बोर्ड परीक्षा में अब तक 556553 परीक्षार्थियों ने छोड़ी परीक्षा, 231 पकडे गये नकलची
  • मोदी कल देंगे बिहार को 33 हजार करोड़ रुपये से अधिक की सौगात
  • रविवार को नियत वक्त पर चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस
  • पारसनाथ से नक्सली गिरफ्तार, कई बंकर ध्वस्त
  • ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्डस ने पाकिस्तान पर आतंकवाद को सहारा देने का आरोप लगाया
  • शहीदों की सजी चितायें, आंसुओं के सैलाब में डूबा उत्तर प्रदेश
  • मतदाता पंजीकरण के लिये हरियाणा में 23-24 फरवरी को लगेंगे विशेष शिविर
  • पाकिस्तानी विदेश सचिव ने पुलवामा हमले पर भारत के आरोपों को नकारा
  • जिम्बाब्वे में कंडोम संकट
  • अफगानिस्तान में 51 आतंकवादी ढेर, 50 घायल
  • विधायक देशराज करेंगे बाघा सीमा पर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन
  • बागान ने आइजॉल को 2-1 से हराया
  • भारत और मॉरीशस मिलकर करेंगे गीता का प्रचार-प्रसार पूरी दुनिया में
  • भारत और मॉरीशस मिलकर करेंगे गीता का प्रचार-प्रसार पूरी दुनिया में
दुनिया Share

बृहस्पति के 12 नये चंद्रमा खोजेे गये

वाशिंगटन, 18 जुलाई (वार्ता) खगोलशास्त्रियों ने सबसे बड़े ग्रह बृहस्पति के 12 नये चंद्रमाओं की खोज की है और इसके साथ ही इस विशाल ग्रह के कुल चन्द्रमाओं की संख्या 79 हो गयी है जो सौर मंडल के किसी भी ग्रह की तुलना में सबसे अधिक है।
सबसे ज्यादा चांद के मामले में बृहस्पति के बाद शनि दूसरे पायदान पर है, जिसके 61 चांद हैं।
अमेरिका कार्नेगी विज्ञान संस्थान की आेर से जारी समाचार विज्ञप्ति के मुताबिक संस्थान के स्कॉट एस शेपर्ड की अगुआई में प्लूटो से आगे विशाल ग्रह की मौजूदगी की तलाश के दौरान सौर मंडल के बाहरी हिस्सों में खगोलीय पिंडों की खोज कर रहे शोधकर्ताओं ने पिछले साल पहली बार इन चंद्रमाओं को देखा था।
श्री शेपर्ड ने कहा, “आकाश में बृहस्पति हमारी उस खोज क्षेत्र के नजदीक स्थित था जहां हम बहुत दूर स्थित सौर मंडल के पिंड को तलाश रहे थे। इसी बीच हमें बृहस्पति के चारों तरफ नये चंद्रमा नजर आये।”
इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन के माइनर प्लानेट सेंटर के गैरेथ विलियम्स ने नये चंद्रमाओं की कक्षाओं की गणना के लिए शोधकर्ताओं के आकलनों का इस्तेमाल किया। उन्होंने बताया कि बृहस्पति के चारों तरफ कक्षा में एक पिंड के घूमने की पुष्टि के लिए कई बार अवलोकन किया गया, इसलिए पूरी प्रक्रिया में एक साल लग गया।”
नये चंद्रमा में से नौ तो एक ही झुंड में मिले जो बृहस्पति के घूमने की विपरीत दिशा में चल रहे थे. वहीं, दो नये चंद्रमा बृहस्पति के घूमने की दिशा में ही चल रहे थे।
यामिनी.श्रवण
वार्ता
image