Wednesday, Nov 21 2018 | Time 18:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिहार में 903 पशु चिकित्सकों की नियुक्ति शीघ्र : सुशील
  • आतंकी हमले में शहीद विजय कुमार की राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि
  • बारिश ने बिगाड़ा भारत का खेल, 4 रन से गंवाया मैच
  • शिक्षक भर्ती की सीबीआई जाँच कराने के आदेश को चुनौती
  • निरंकारी भवन पर हमला करने वालों में से एक गिरफ्तार, दूसरे की तलाश जारी
  • चुनाव में 'डबल इंकमबेंसी' भाजपा को पड़ेगी महंगी: मोहन प्रकाश
  • चुनाव में 'डबल इंकमबेंसी' भाजपा को पड़ेगी महंगी: मोहन प्रकाश
  • चुनाव में 'डबल इंकमबेंसी' भाजपा को पड़ेगी महंगी: मोहन प्रकाश
  • पैनासोनिक ने आईओटी समाधान ‘सीकिट’ किया लॉन्च
  • भंडारण निगम देश की खाद्य सुरक्षा में अधिकाधिक योगदान करें: खट्टर
  • सिख श्रद्धालुओं का जत्था पाकिस्तान रवाना
  • पोखरी में गुरुवार को पुनर्मतदान
  • त्रिपुरा उच्च न्यायालय ने सीबीआई को जांच शुरू करने के दिये आदेश
  • बागी उम्मीदवारों को जल्द मना लिया जायेगा: कांग्रेस
  • तिवाड़ी को बाँसुरी और बेनीवाल को बोतल चुनाव चिह्न
दुनिया Share

निवेशकों को हतोत्साहित करने का सबसे अधिक जिम्मेदार अमेरिकी टैरिफ युद्ध:चीन

बीजिंग 18 जुलाई (रायटर) चीन का कहना है कि अमेरिका द्वारा शुरू किया टैरिफ युद्ध वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिये सबसे अधिक घातक साबित हो रहा है और अगर वह इसी तरह अपने रुख पर अड़ा रहा तो सभी देश इसका विरोध करेंगे।
चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने आज कहा कि अमेरिका अपनी व्यापार नीतियों के पक्ष में कई कुतर्क दे रहा है, जैसे राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला। उन्होंने कहा कि अमेरिका का व्यापारिक युद्ध सिर्फ चीन के साथ ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के साथ है। पूरी दुनिया को अपनी विरोधी मानकर अमेरिका ने पूरी वैश्विक अर्थव्यवस्था को खतरे में डाल दिया है।
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यूरोप से आयातित धातु पर भी आयात शुल्क लगाया है और साथ ही वहां से आयातित कारों पर 20 प्रतिशत का टैरिफ लगाने की धमकी दी है। यूरोपीय संघ ने गत सप्ताह इस वर्ष के लिये यूरो क्षेत्र के आर्थिक विकास के अनुमान को कम करते हुये इसके लिये अमेरिका द्वारा आहूत व्यापारिक तनाव और कच्चे तेल की ऊंची कीमत को जिम्मेदार ठहराया था। चीन के आर्थिक विकास की गति भी मंद हुई है।
अर्चना
रायटर
image